Wednesday, Oct 23 2019 | Time 15:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सुल्तानपुर में पुल की रेलिंग तोड़कर ट्रक गोमती नदी में गिरा
  • रन फॉर यूनिटी के लिए 31 अक्टूबर को मेट्रो सुबह चार बजे से
  • नवरात्रि में वर्षा के खलल के बाद अब गुजरात के कुछ हिस्सों में दिवाली भी गीली होने का अंदेशा
  • मरयम को बीमार पिता नवाज से मिलने की अनुमति नहीं
  • लंदन में ट्रक कंटेनर से 39 शव बरामद
  • महाराष्ट्र और हरियाणा में कल आयेगा जनादेश
  • सोना 175 रुपये चमका, चांदी 70 रुपये चढ़ी
  • कश्मीरी युवाओं से हिंसा का रास्ता छोड़ने की अपील
  • गैस एजेंसी के कर्मचारी को गोली मारकर साढ़े चार लाख रुपए की लूट
  • पेड़ों की कटाई से पारिस्थितिकी अंसतुलन: जावड़ेकर
  • अतिक्रमण हटाने गए पुलिस दल पर हमला, सीएसपी सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मचारी घायल
  • रविदास मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया भाजपा ने
  • जानी मानी गुजराती लोकगायिका गीता रबारी डेंगू की चपेट में
  • मराठवाड़ा में पिछले पांच दिनों से बारिश
  • जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सुधार के लिए सरकार कर रही पहल: जितेंद्र सिंह
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


हिंदी फिल्म जगत की पहली डांसिग क्वीन थीं कुक्कू

हिंदी फिल्म जगत की पहली डांसिग क्वीन थीं कुक्कू

..पुण्यतिथि 30 सितंबर ..
मुंबई 29 सितंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में अपनी नृत्य शैली और दिलकश अदाओं से दर्शको को दीवाना बनाने वाली न जाने कितनी अभिनेत्रियां हुयीं लेकिन चालीस के दशक में एक ऐसी अभिनेत्री भी हुयी जिसे ‘डांसिग क्वीन’ कहा जाता था और आज के सिने प्रेमी शायद उससे अपरिचित होंगे।
लेकिन उस समय शोहरत की बुलदियां छूने वाली उस अभिनेत्री का नाम कुक्कू था।

कुक्कू मूल नाम कुक्के मोरे का जन्म वर्ष 1928 में हुआ था।
चालीस के दशक में कुक्कू ने फिल्म ‘लैला मजनू’ के जरिये फिल्म इंडस्ट्री में कदम रख दिया।
इस फिल्म में उन्हें समूह नृत्य में नृत्य करने का मौका मिला।
वर्ष 1945 में प्रदर्शित फिल्म ‘मन की जीत’ में उन्हें एक बार फिर से नृत्य करने का मौका मिला।
इस फिल्म में उन पर फिल्माया यह गीत ..मेरे जोवन का देखा उभार.. श्रोताओं के बीच काफी लोकप्रिय हुआ।

वर्ष 1946 में कुक्कू को बतौर अभिनेत्री फिल्म ‘अरब का सौदागर’ और वर्ष 1947 में फिल्म ‘सोना चांदी’ में काम करने का अवसर मिला।
लेकिन दुर्भाग्य से दोनो ही फिल्में टिकट खिड़की पर असफल साबित हुयी।
कुक्कू पर फिल्माये गीत हालांकि दर्शको के बीच काफी पसंद किये गये।
वर्ष 1948 में कुक्कू को महबूब खान की फिल्म ‘अनोखी अदा’ में भी काम करने का अवसर मिला।
फिल्म की सफलता के बाद कुक्कू बतौर डांसर फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाबी हो गयी।
वर्ष 1949 में कुक्कू को निर्माता..निर्देशक राजकपूर के बैनर तले बनी फिल्म ‘बरसात’ में काम करने का अवसर मिला।
इस फिल्म में मुकेश की आवाज में उनपर फिल्माया यह गीत ..पतली कमर है तिरछी नजर है ..उन दिनों श्रोताओं के बीच क्रेज बन गया था और आज भी श्रोताओं के बीच शिद्धत के साथ याद किया जाता है।

वर्ष 1951 में कुक्कू को एक बार फिर से राजकपूर की फिल्म ‘आवारा’ में काम करने का अवसर मिला।
यूं तो फिल्म आवारा के सभी गीत लोकप्रिय हुये लेकिन कुक्कू पर फिल्माया यह गीत ..एक दो तीन आजा मौसम है रंगीन.. आज भी श्रोताओं को झूमने को विवश कर देता है।
वर्ष 1954 में किशोर शाहू की बहुचर्चित फिल्म ‘मयूर पंख’ में गीत.संगीत के विविघ प्रसंग इस्तेमाल किये गये थे लेकिन इस फिल्म में कुक्कू के गीत को शामिल किया गया।
इसी तरह फिल्म ‘आन’ में भी कुक्कू पर एक नृत्य ऐसा फिल्माया गया जिसमें केवल संगीत का इस्तेमाल किया गया था बावजूद इसके कुक्कू ने अपनी नृत्य शैली से दर्शकों को रोमांचित कर दिया।

वर्ष 1952 में महबूब खान निर्मित इस फिल्म की खास बात यह थी कि यह हिंदुस्तान में बनी पहली टेक्नीकलर फिल्म थी और इसे काफी खर्च के साथ वृहत पैमाने पर बनाया गया था।
दिलीप कुमार, प्रेमनाथ और नादिरा की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म से जुड़ा एक रोचक तथ्य यह भी है कि भारत में बनी यह पहली फिल्म थी जो पूरे विश्व में एक साथ प्रदर्शित की गयी।

पचास के दशक में कुक्कू की लोकप्रियता का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि उन दिनों जब फिल्म बनने के बाद उसकी पहली झलक वितरक को दिखायी जाती तो वह कहते फिल्म में कुक्कू कहां है? बाद में फिल्म में कुक्कू को शामिल किया जाता और उसपर एक या दो गीत अवश्य फिल्माये जाते।
कुक्कू को नये डिजाइन की फैशेनबल चप्पल पहनने का शौक था।
जब कभी वह फिल्म स्टूडियों में डिजानइनर चप्पले या जूते पहनकर आती तो देखने वाले उन्हें देखते रह जाते।
माना जाता है कि कुक्कू के पास विभिन्न डिजाइन वाले लगभग 5000 जोड़ी चप्पले थीं।
मशहूर नृत्यांगना हेलेन को फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित करने के लिये कुक्कू ने अहम भूमिका निभाई।
कुक्कू की सिफारिश की वजह से हेलेन को शबिस्तान और फिर आवारा (1951) फिल्मों में नर्तकों के समूह में काम करने का करने का मौका मिला।

वर्ष 1945 से वर्ष 1965 तक कुक्कू ने फिल्म इंडस्ट्री पर एकछत्र राज किया।
उन्होंने आजीवन विवाह नही किया।
नितांत अकेले रहने वाली कुक्कू को इस दौरान कैंसर जैसी जटिल बीमारी का शिकार हो गयी अपने अपने गम को भुलाने के लिये शराब का सेवन करने लगीं।
फिल्म इंडस्ट्री में लगभग दो दशक तक अपनी नृत्य शैली से दर्शको के बीच खास पहचान बनाने वाली कुक्कू 30 सितंबर 1981 को इस दुनिया को अलविदा कह गयीं।
कुक्कू ने अपने दो दशक लंबे सिने करियर में कई फिल्मों में काम किया।
उनके करियर की उल्लेखनीय फिल्मों में विद्या, शबनम, पतंगा पारस अंदाज, हमारी बेटी, खिलाड़ी, आरजू, बावरेनैन, शबिस्तान, हलचल, मिस्टर एंड मिसेज 55, यहूदी, फागुन, चलती का नाम गाड़ी, गैंबलर, मुझे जीने दो आदि शामिल हैं।

 

पद्मावत

पद्मावत के लिए सलमान, ऐश्‍वर्या और अजय को रीकास्‍ट करना चाहेंगे शाहिद

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर का कहना है कि फिल्म पद्मावत यदि फिर से बनायी जाती है तो वह सलमान खान ,ऐश्वर्या राय और अजय देवगन को कास्ट करना चाहेंगे।

‘के

‘के तुमि नंदिनी’ का वर्ल्ड टीवी प्रीमियर शो रविवार को

कोलकाता, 21 अक्टूबर (वार्ता) प्रेम कहानी पर आधारित ‘के तुमि नंदिनी’ फिल्म का वर्ल्ड टीवी प्रीमियर शो जलसा मूवीज पर रविवार को प्रसारण होगा।

रणवीर

रणवीर को सैफ से बेहतर अभिनेता मानते हैं शाहिद

मुंबई 23 अक्टूबर(वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर , रणवीर सिंह को सैफ अली खान से बेहतर अभिनेता मानते हैं।

कड़े

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

..पुण्यतिथि 22 अक्टूबर के अवसर पर ..
मुंबई 21 अक्टूबर (वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

सैफ

सैफ ने सारा को दी अभिनय पर ध्यान देने की नसीहत

मुंबई 17 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान ने अपनी पुत्री सारा को स्टार बनने पर नहीं बल्कि अभिनय पर ध्यान केन्द्रित करने की नसीहत दी है।

यूनिसेफ

यूनिसेफ से जुड़े आयुष्मान खुराना

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) से जुड़ गये हैं।

अभिनेत्री

अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थी परिणीति चोपड़ा

मुंबई 22 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा आज 31 वर्ष की हो गयी।

अपने

अपने प्रॉडक्शन की फिल्मों में काम नही करेंगी कंगना

मुंबई 17 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि वह अपने प्रॉडक्शन की फिल्मों में काम नहीं करेंगी ।

उधम

उधम सिंह बायोपिक के लिए विक्की ने 13 किलो वजन घटाया

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता विक्की कौशल ने फिल्म उधम सिंह बायोपिक के लिए 13 किलो वजन
घटाया है।

बहुमखी

बहुमखी प्रतिभा के रूप मे पहचान बनायी देवेन वर्मा ने

..जन्म दिवस 23 अक्तूबर के अवसर पर ..
मुंबई 22 अक्तूबर (वार्ता) हिंदी फिल्म जगत में देवेन वर्मा का नाम एक ऐसी शख्सियत के तौर पर लिया जाता है जिन्होंने न सिर्फ अभिनय की प्रतिभा बल्कि फिल्म निर्माण और निर्देशन से भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

..पुण्यतिथि 22 अक्टूबर के अवसर पर ..
मुंबई 21 अक्टूबर (वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

image