Wednesday, Oct 23 2019 | Time 15:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गैस एजेंसी के कर्मचारी को गोली मारकर साढ़े चार लाख रुपए की लूट
  • पेड़ों की कटाई से पारिस्थितिकी अंसतुलन : जावड़ेकर
  • अतिक्रमण हटाने गए पुलिस दल पर हमला, सीएसपी सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मचारी घायल
  • रविदास मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया भाजपा ने
  • जानी मानी गुजराती लोकगायिका गीता रबारी डेंगू की चपेट में
  • मराठवाड़ा में पिछले पांच दिनों से बारिश
  • जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सुधार के लिए सरकार कर रही पहल: जितेंद्र सिंह
  • सीमाओं की रक्षा के लिए तत्पर है आईटीबीपी: देशवाल
  • अपराधों के आंकड़े दबाने पर सरकार पर बरसी कांग्रेस
  • तमिलीसाई सौंदरराजन ने की भगवान वेंकटेश्वर की पूजा-अर्चना
  • अमित शाह के बेटे, अनुराग ठाकुर के भाई बोर्ड के नये पदाधिकारी
  • अमित शाह के बेटे, अनुराग ठाकुर के भाई बोर्ड के नये पदाधिकारी
  • डॉलर में गिरावट, यूरो और पाउंड में उछाल
  • तुर्की की यात्रा करने वाले भारतीयों को ‘अत्यंत सतर्कता’ बरतने का परामर्श
  • गांगुली बने बीसीसीआई अध्यक्ष
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे गुरुदत्त

बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे गुरुदत्त

(पुण्यतिथि 10 अक्टूबर के अवसर पर )
मुंबई 09 अक्टूबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में गुरुदत्त को एक ऐसे बहुआयामी कलाकार के तौर पर जाना जाता है जिन्होंने फिल्म निर्माण,निर्देशन,नृत्य निर्देशन और अभिनय की प्रतिभा से दर्शको को अपना दीवाना बनाया ।

09 जुलाई 1925 को कर्नाटक के बेंगलुरु में एक मध्यम वर्गीय बाह्मण परिवार में जन्में गुरुदत्त (मूल नाम वसंत कुमार शिवशंकर राव पादुकोण) का रूझान बचपन से ही नृत्य और संगीत की तरफ था।
उनके पिता शिवशंकर पादुकोण एक स्कूल में हेड मास्टर के थे जबकि उनकी मां भी स्कूल में ही शिक्षिका थीं।
गुरुदत्त ने अपनी प्रांरभिक शिक्षा कलकत्ता में पूरी की।
परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से उन्हें मैट्रिक के बाद पढ़ाई छोड़ देनी पड़ी।
संगीत के प्रति शौक को पूरा करने के लिये उन्होंने अपने चाचा की मदद से पांच वर्ष के लिये छात्रवृत्ति हासिल की और अल्मोडा स्थित उदय शंकर इडिया कल्चर सेंटर मे दाखिला ले लिया जहां उस्ताद उदय शंकर से नृत्य सीखा।

गुरुदत्त ने इस दौरान टेलीफोन ऑरेटर के रूप में भी एक मिल में काम भी किया।
उदय शंकर से पांच वर्ष तक नृत्य सिखने के बाद गुरुदत्त पुणे के प्रभात स्टूडियो मे तीन वर्ष के अनुबंध पर बतौर नृत्य निर्देशक शामिल कर लिये गये।
वर्ष 1946 मे गुरुदत्त ने प्रभात स्टूडियो की निर्मित फिल् ‘हम एक हैं’ से बतौर कोरियोग्राफर सिने कैरियर की शुरूआत की।
उन्हें इस दौरान प्रभात स्टूडियो की कुछ फिल्मों मे अभिनय करने मौका भी मिला।
प्रभात स्टूडियो के साथ किये गये अनुबंध की समाप्ति के बाद वह अपने घर मांटूगा लौट आये।
इस दौरान वह लघु कहानियां लिखने लगे जिसे वह छपने के लिये प्रकाशक के पास भेज दिया करते थे।
इसी दौरान उन्होंने ‘प्यासा’ की कहानी भी लिखी जिस पर उन्होंने बाद में फिल्म भी बनाई।

वर्ष 1951 में प्रदर्शित देवानंद की फिल्म ‘बाजी’ की सफलता के बाद गुरुदत्त बतौर निर्देशक अपनी पचान बनाने में कामयाब हो गये।
इस फिल्म के निर्माण के दौरान उनका झुकाव पार्श्वगायिका गीता राय की ओर हो गया और वर्ष 1953 में उनसे शादी कर ली।
वर्ष 1952 मे अभिनेत्री गीताबाली की बड़ी बहन हरिदर्शन कौर के साथ मिलकर गुरुदत्त ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र मे भी कदम रख दिया लेकिन वर्ष 1953 मे प्रदर्शित फिल्म बाज की नाकामयाबी के बाद गुरुदत्त ने स्वयं को उनके बैनर से अलग कर लिया और इसके बाद उन्होंने अपनी खुद की फिल्म कंपनी और स्टूडियो बनायी जिसके बैनर तले वर्ष 1954 में उन्होंने फिल्म ‘आर पार’ का निर्माण किया।

      फिल्म ‘आर पार’की कामयाबी के बाद गुरुदत्त ने ‘सी.आई.डी’,‘प्यासा’,‘कागज के फूल’,‘चौदहवीं का चांद’ और ‘साहब बीवी और गुलाम’ जैसी कई फिल्मों का निर्माण किया।
उन्होंने कई फिल्मों की पटकथा भी लिखी जिनमें ‘बाजी’, ‘जाल’ और ‘बाज् शामिल है।
वर्ष 1953 में प्रदर्शित फिल्म ‘बाज’ के साथ गुरुदत्त ने अभिनय के क्षेत्र में भी कदम रख दिया और इसके बाद ‘सुहागन’,‘आर पार’,‘मिस्टर एंड मिसेज 55’ ,‘प्यासा’,‘12ओ क्लाक’, ‘कागज के फूल’,‘चौदहवी का चांद’,‘सौतेला भाई’,‘साहिब बीवी और गुलाम’, ‘भरोसा’,‘बहुरानी’,‘सांझ और सवेरा’ तथा ‘पिकनिक’ जैसी कई फिल्मों में अभिनय का जौहर दिखाया।

वर्ष 1954 मे प्रदर्शित फिल्म ‘आर पार ’की कामयाबी के बाद गुरुदत्त की गिनती अच्छे निर्देशकों में होने लगी।
इसके बाद उन्होंने प्यासा और मिस्टर एंड मिसेज 55 जैसी अच्छी फिल्में भी बनायी।
वर्ष 1959 मे अपनी निदेर्शित फिल्म कागज के फूल की बाॅक्स आफिस पर असफलता के बाद उन्होंने निर्णय लिया कि भविष्य में वह किसी और फिल्म का निर्देशन नहीं करेंगें।

ऐसा माना जाता है कि वर्ष 1962 में प्रदर्शित फिल्म साहिब बीबी और गुलाम हालांकि गुरुदत्त ने ही बनायी थी लेकिन उन्होंने इसका श्रेय फिल्म के कथाकार अबरार अल्वी को दिया।
गुरुदत्त ने कई फिल्मों की पटकथा भी लिखी जिनमें बाजी, जाल और बाज शामिल है।
वर्ष 1957 में गुरुदत्त और गीता दत्त की विवाहित जिंदगी मे दरार आ गयी।
इसके बाद गुरुदत्त और गीता दत्त ने अलग रहने लगे।
इसकी एक मुख्य वजह यह भी रही कि उस समय उनका नाम अभिनेत्री वहीदा रहमान के साथ भी जोड़ा जा रहा था।
गीता राय से जुदाई के बाद गुरुदत्त टूट से गये और उन्होंने अपने आप को शराब के नशे में डूबो दिया।

10 अक्तूबर 1964 को अत्यधिक मात्रा मे नींद की गोलियां लेने के कारण गुरुदत्त इस दुनिया को सदा के लिये छोड़ कर चले गये।
उनकी मौत एक रहस्य ही बनी हुई है।

पद्मावत

पद्मावत के लिए सलमान, ऐश्‍वर्या और अजय को रीकास्‍ट करना चाहेंगे शाहिद

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर का कहना है कि फिल्म पद्मावत यदि फिर से बनायी जाती है तो वह सलमान खान ,ऐश्वर्या राय और अजय देवगन को कास्ट करना चाहेंगे।

‘के

‘के तुमि नंदिनी’ का वर्ल्ड टीवी प्रीमियर शो रविवार को

कोलकाता, 21 अक्टूबर (वार्ता) प्रेम कहानी पर आधारित ‘के तुमि नंदिनी’ फिल्म का वर्ल्ड टीवी प्रीमियर शो जलसा मूवीज पर रविवार को प्रसारण होगा।

रणवीर

रणवीर को सैफ से बेहतर अभिनेता मानते हैं शाहिद

मुंबई 23 अक्टूबर(वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर , रणवीर सिंह को सैफ अली खान से बेहतर अभिनेता मानते हैं।

कड़े

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

..पुण्यतिथि 22 अक्टूबर के अवसर पर ..
मुंबई 21 अक्टूबर (वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

सैफ

सैफ ने सारा को दी अभिनय पर ध्यान देने की नसीहत

मुंबई 17 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान ने अपनी पुत्री सारा को स्टार बनने पर नहीं बल्कि अभिनय पर ध्यान केन्द्रित करने की नसीहत दी है।

यूनिसेफ

यूनिसेफ से जुड़े आयुष्मान खुराना

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) से जुड़ गये हैं।

अभिनेत्री

अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थी परिणीति चोपड़ा

मुंबई 22 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा आज 31 वर्ष की हो गयी।

अपने

अपने प्रॉडक्शन की फिल्मों में काम नही करेंगी कंगना

मुंबई 17 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का कहना है कि वह अपने प्रॉडक्शन की फिल्मों में काम नहीं करेंगी ।

उधम

उधम सिंह बायोपिक के लिए विक्की ने 13 किलो वजन घटाया

मुंबई 23 अक्टूबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता विक्की कौशल ने फिल्म उधम सिंह बायोपिक के लिए 13 किलो वजन
घटाया है।

बहुमखी

बहुमखी प्रतिभा के रूप मे पहचान बनायी देवेन वर्मा ने

..जन्म दिवस 23 अक्तूबर के अवसर पर ..
मुंबई 22 अक्तूबर (वार्ता) हिंदी फिल्म जगत में देवेन वर्मा का नाम एक ऐसी शख्सियत के तौर पर लिया जाता है जिन्होंने न सिर्फ अभिनय की प्रतिभा बल्कि फिल्म निर्माण और निर्देशन से भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

कड़े संघर्ष के बाद फिल्मों में पहचान बनायी अजित ने

..पुण्यतिथि 22 अक्टूबर के अवसर पर ..
मुंबई 21 अक्टूबर (वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

image