Wednesday, May 27 2020 | Time 18:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • द्रोणाचार्य अवार्डी कुश्ती कोच रोशनलाल का निधन
  • केसीआर ने कोरोना वायरस को लेकर की उच्च स्तरीय बैठक
  • हरियाणा सार्वजनिक स्थलों पर थूकने वालों पर लगेगा जुर्माना: विज
  • विप्रो सेफवॉश एंटी-जर्म लिक्विड डिटरजेंट हुआ लाँच
  • जो छात्र जिस जिले में हैं वहां वे परीक्षा दे सकते हैं :निशंक
  • रंग लाई हेमंत की मुहिम, हवाई जहाज से प्रवासी मजदूर आयेंगे रांची
  • लाॅकडाउन में छूट दिए जाने से आधे से अधिक लोग खुश नहीं
  • रामगढ़ में विशेष अभियान में तीन हाइवा समेत 11 वाहन जब्त
  • कर्नाटक से प्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची बोकारो
  • रामगढ़ में कलयुगी बेटे की पिता की हत्या
  • ट्रैक्टर खरीदने पर 50 प्रतिशत सब्सिडी मात्र अफवाह: बल्ल
  • बिहार में कोरोना के शिकार हुए 3006
  • सांसद, विधायक, डाक्टर, पत्रकार, इंजीनियर,व्यापारी, ट्रांसपोर्टर को क्वारंटीन करने से छूट
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


गीतकारों को उनका वाजिव हक दिलाया साहिर लुधियानवी ने

गीतकारों को उनका वाजिव हक दिलाया साहिर लुधियानवी ने

. पुण्यतिथि 25 अक्टूबर के अवसर पर ..
मुंबई 24 अक्टूबर (वार्ता) साहिर लुधियानवी हिन्दी फिल्मों के ऐसे पहले गीतकार थे जिनका नाम रेडियो से प्रसारित फरमाइशी गानों में दिया गया ।

साहिर से पहले किसी गीतकार को रेडियो से प्रसारित फरमाइशी गानों में श्रेय नहीं दिया जाता था ।
साहिर ने इस बात का काफी विरोध किया जिसके बाद रेडियो पर प्रसारित गानों में गायक और संगीतकार के साथ..साथ गीतकार
का नाम भी दिया जाने लगा।
इसके अलावा वह पहले गीतकार हुये जिन्होंने गीतकारों के लिये रायलटी टी की व्यवस्था करायी।

आठ मार्च 1921 को पंजाब के लुधियाना शहर में एक जमींदार परिवार में जन्मे साहिर की जिंदगी काफी संघर्षों में बीती।
साहिर ने अपनी मैट्रिक तक की पढ़ाई लुधियाना के खालसा स्कूल से पूरी की ।
इसके बाद वह लाहौर चले
गये जहां उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई सरकारी कॉलेज से पूरी की।
कॉलेज के कार्यक्रमों में वह अपनी गजलें और नज्में पढ़कर सुनाया करते थे जिससे उन्हें काफी शोहरत मिली।

जानी मानी पंजाबी लेखिका अमृता प्रीतम कॉलेज में साहिर के साथ ही पढ़ती थी जो उनकी गजलों और नज्मों की मुरीद हो गयी और उनसे प्यार करने लगीं लेकिन कुछ समय के बाद ही साहिर कालेज से निष्कासित कर दिये गये।
इसका कारण यह माना जाता है कि अमृता प्रीतम के पिता को साहिर और अमृता के रिश्ते पर एतराज था क्योंकि साहिर मुस्लिम थे और अमृता सिख थी ।
इसकी एक वजह यह भी थी कि उन दिनो साहिर की माली हालत भी ठीक नहीं थी।

     साहिर 1943 में कालेज से निष्कासित किये जाने के बाद लाहौर चले आये . जहां उन्होंने अपनी पहली उर्दू पत्रिका..तल्खियां. .लिखीं ।
लगभग दो वर्ष के अथक प्रयास के बाद आखिरकार उनकी मेहनत रंग लायी और
..तल्खियां.. का प्रकाशन हुआ।
इस बीच साहिर ने प्रोग्रेसिव रायटर्स एसोसियेशन से जुडकर आदाबे लतीफ. शाहकार. और सेवरा जैसी कई लोकप्रिय उर्दू पत्रिकाएं निकालीं लेकिन सवेरा में उनके क्रांतिकारी विचार को देखकर पाकिस्तान सरकार ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया।
इसके बाद वह 1950 में मुंबई आ गये।

साहिर ने 1950 में प्रदर्शित ..आजादी की राह पर ..फिल्म में अपना पहला गीत ..बदल रही है जिंदगी..लिखा लेकिन फिल्म सफल नही रही।
वर्ष 1951 मे एस.डी.बर्मन की धुन पर फिल्म ..नौजवान ..में लिखे अपने गीत
..ठंडी हवाएं लहरा के आये ..के बाद वह कुछ हद तक गीतकार के रूप में कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में सफल हो गये।
साहिर ने खय्याम के संगीत निर्देशन में भी कई सुपरहिट गीत लिखे ।

वर्ष 1958 में प्रदर्शित फिल्म ..फिर सुबह होगी ..के लिये पहले अभिनेता राजकपूर यह चाहते थे कि उनके पंसदीदा संगीतकार शंकर जयकिशन इसमें संगीत दें जबकि साहिर इस बात से खुश नहीं थे ।
उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि फिल्म में संगीत खय्याम का ही हो ।
वो सुबह कभी तो आयेगी ..जैसे गीतों की कामयाबी से साहिर का निर्णय सही साबित हुआ ।
यह गाना आज भी क्लासिक गाने के रूप में याद किया जाता है।

     साहिर अपनी शर्तो पर गीत लिखा करते थे ।
एक बार एक फिल्म निर्माता ने नौशाद के संगीत निर्देशन में उनसे से गीत लिखने की पेशकश की ।
साहिर को जब इस बात का पता चला कि संगीतकार नौशाद को उनसे अधिक
पारिश्रमिक दिया जा रहा है तो उन्होंने निर्माता को अनुबंध समाप्त करने को कहा ।
उनका कहना था कि नौशाद महान संगीतकार है लेकिन धुनों को शब्द ही वजनी बनाते है।
अतः एक रूपया ही अधिक सही गीतकार को संगीतकार से अधिक पारिश्रमिक मिलना चाहिये ।

गुरूदत्त की फिल्म ..प्यासा.. साहिर के सिने कैरियर की अहम फिल्म साबित हुयी ।
फिल्म के प्रदर्शन के दौरान अदभुत नजारा दिखाई दिया।
मुंबई के मिनर्वा टॉकीज में जब यह फिल्म दिखाई जा रही थी तब जैसे ही ..जिन्हे नाज है हिंद पर वो कहां है ..बजा तब सभीदर्शक अपनी सीट से उठकर खड़े हो गये और गाने की समाप्ति तक ताली बजाते रहे ।
बाद में दर्शको की मांग पर इसे तीन बार और दिखाया गया ।
फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास में शायद पहले कभी ऐसा नहीं हुआ था।

साहिर अपने सिने कैरियर में दो बार सर्वश्रेष्ठ गीतकार के फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किये गये।
लगभग तीन दशक तक हिन्दी सिनेमा को अपने रूमानी गीतों से सराबोर करने वाले साहिर लुधियानवी 59 वर्ष की उम्र में 25 अक्टूबर 1980 को इस दुनिया को अलविदा कह गये ।

अक्षय

अक्षय ने ‘बेल बॉटम’ पर शुरू किया काम

मुंबई, 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार ने लॉकडाउन के बीच अपनी आने वाली फिल्म ‘बेल बॉटम’ पर काम शुरू कर दिया है।

आलम

आलम आरा के लिये महबूब खान का किया गया था चयन

..पुण्यतिथि 28 मई ..
मुंबई, 27 मई (वार्ता) हिन्दी सिनेमा जगत के युगपुरूष महबूब खान को एक ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने दर्शकों को लगभग तीन दशक तक क्लासिक फिल्मों का तोहफा दिया लेकिन कम लोगो को पता होगा कि भारत की पहली बोलती फिल्म आलम आरा के लिये महबूब खान का अभिनेता के रूप में चयन किया गया था।

अजय

अजय ने सोनू सूद की तारीफ की

मुंबई 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन ने श्रमिकों की सहायता करने के लिये सोनू सूद की तारीफ की है।

विद्या

विद्या बालन बनीं निर्माता

मुंबई 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिये मशहूर विद्या बालन अब निर्माता बन गयी है।

सोनू

सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया

मुंबई, 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

मुंबई

मुंबई में रोजाना 4500 फूड पैकेट बांट रहे अमिताभ

मुंबई, 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों के बीच हर दिन 4500 फूड पैकेट बांट रहे हैं।

सलमान

सलमान की एनिमेटेड ‘दबंग’ होगी रिलीज

मुंबई 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान की सुपरहिट फिल्म दबंग एनिमेटड सीरीज में रिलीज होगी।

रामगोपाल

रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'कोरोना वायरस' का ट्रेलर रिलीज

मुंबई 27 मई (वार्ता) बॉलीवुड फिल्मकार रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'कोरोना वायरस' का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है।

रणवीर

रणवीर ने पूरा नहीं किया दीपिका से किया वादा

मुंबई 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह का कहना है कि उन्होंने दीपिका पादुकोण से शादी के समय एक वादा किया था जिसे उन्होंने अबतक पूरा नहीं किया है।

लॉकडाउन

लॉकडाउन में अक्षय ने शूटिंग शुरू की

मुंबई, 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार ने लॉकडाउन में शूटिंग शुरू की है।

image