Monday, Feb 17 2020 | Time 03:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • यमन में धमाके में चार नागरिकों की मौत
  • टोरंटो में गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल
  • सऊदी अरब यमन में आक्रमकण नहीं करे : रुहानी
  • दवाब में अमेरिका से बातचीत नहीं करेंगे : रुहानी
  • सीएए के विरोध में प्रस्ताव पास करेगा तेलंगाना
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


अभिनेता बनना चाहते थे जयदेव

अभिनेता बनना चाहते थे जयदेव

.पुण्यतिथि 06 जनवरी  ..
मुंबई 05 जनवरी (वार्ता) अपने संगीतबद्ध गीतों से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने वाले संगीतकार जयदेव अभिनेता बनना चाहते थे।

03 अगस्त 1919 को लुधियाना में जन्मे जयदेव का रूझान बचपन के दिनों से ही फिल्मों की ओर था।
जयदेव अभिनेता के रूप मे अपनी पहचान बनाना चाहते थे।
अपने सपने को पूरा करने के लिये वह 15 वर्ष की उम्र में ही घर से
भागकर फिल्म नगरी मुंबई आये जहां उन्हें बतौर बाल कलाकार ..वाडिया फिल्म्स..निर्मित आठ फिल्मों में अभिनय करने का मौका मिला।
इस बीच जयदेव ने कृष्णाराव और जर्नादन राव से संगीत की शिक्षा भी ली।
कुछ वर्षो के पश्चात जयदेव अपने पिता की बीमारी के कारण मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को छोड़ वापस अपने घर लुधियाना लौट गये।

पिता की अकस्मात मृत्यु के बाद परिवार और बहन की देखभाल की सारी जिम्मेदारी जयदेव पर आ गयी।
बहन की शादी के बाद वर्ष 1943 में वह लखनऊ चले गये और वहां उन्होंनें उस्ताद अली अकबर खान से संगीत की शिक्षा हासिल की।
बचपन से ही मजबूत इरादे वाले जयदेव अपने सपनों को साकार करने के लिये एक नये जोश के साथ फिर मुंबई पहुंचे।
वर्ष 1951 में जयदेव को नवकेतन के बैनर तले निर्मित बनी फिल्म ..आंधिया .. में सहायक संगीतीकार काम करने का मौका मिला ।
इसके बाद जयदेव ने महान संगीतकार एस.डी.बर्मन के सहायक के रूप में भी काम किया ।

इस बीच जयदेव ने अपना संघर्ष जारी रखा।
शायद नियति को यह मंजूर था कि जयदेव संगीतकार ही बने इसलिये चेतन आंनद ने उन्हें अपनी ही फिल्म ..जोरू का भाई ..में संगीतकार के रूप मे काम करने का मौका दिया ।
इस
फिल्म के जरिये पहचान बनाने मे वह भले ही सफल नहीं हो पाये लेकिन एक संगीतकार के रूप मे उन्होनें अपने सिने करियर का सफर शुरू कर दिया।

इसके बाद चेतन आंनद की ही फिल्म ..अंजली ..की कामयाबी के बाद जयदेव बतौर संगीतकार फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये।
वर्ष 1961 में प्रदर्शित नवकेतन के बैनर तले निर्मित फिल्म ..हमदोनों ..की कामयाबी के बाद जयेदव बतौर संगीतकार सफलता के शिखर पर जा पहुंचे।
यूं तो फिल्म ..हमदोनों ..में उनके संगीत से सजे सारे गाने हिट साबित हुये लेकिन फिल्म का यह गीत ..अल्लाह तेरो नाम ..श्रोताओं के बीच आज भी लोकप्रिय है।

वर्ष 1963 में सुनील दत्त के बैनर अजंता आर्टस निर्मित फिल्म..मुझे जीने दो .. जयदेव के सिने करियर की एक और अहम फिल्म साबित हुई।
इस फिल्म में जयदेव ने फिल्म ..हम दोनों .. के बाद एक बार फिर से गीतकार साहिर लुधियानवी के साथ मिलकर काम किया और .. रात भी है कुछ भींगी भींगी ..और .. तेरे बचपन को जवानी जीने की दुआये देती हूँ .. जैसे सुपरहिट गीतों से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया ।

श्रोताओं को हमेशा कुछ नया देने के उद्देश्य से वह अपनी फिल्मों के संगीतबद्ध गीतों में प्रयोग किया करते थे और ऐसा ही प्रयोग उन्होंने वर्ष 1963 में प्रदर्शित फिल्म ..किनारे किनारे ..में भी किया ।
फिल्म किनारे ..किनारे के माध्यम से उन्होंने अभिनेता देवानंद पर फिल्माये गानों के पार्श्वगायन के लिये तलत महमूद.मोहम्मद.रफी मन्ना डे और मुकेश की आवाज का इस्तेमाल किया ।
सत्तर के दशक में जयदेव की फिल्में व्यावसायिक तौर पर सफल नहीं रही ।
इसके बाद निर्माता .निर्देशकों ने जयदेव की ओर से अपना मुख मोड लिया लेकिन वर्ष 1977 मे प्रदर्शित फिल्म ..घरौंदा ..और वर्ष 1979 में प्रदर्शित फिल्म .गमन .में उनके संगीतबद्ध गीत की कामयाबी के बाद जयदेव एक बार फिर से अपनी खोयी हुई लोकप्रियता पाने में सफल हो गये ।

जयदेव को मिले सम्मानों पर यदि नजर डालें तो उन्हें उनके संगीतबद्ध गीतों के लिये तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
फिल्मी गीतों के अलावा जयदेव ने गैर फिल्मी गीतों को भी संगीतबद्ध किया।
इनमें प्रख्यात कवि हरिवंश राय बच्चन की मधुशाला के गीत भी शामिल हैं।
अपने संगीतबद्ध गीतों से श्रोताओं के दिलों में खास पहचान बनाने
वाले महान संगीतकार जयदेव 06 जनवरी 1987 को इस दुनिया को अलविदा कह गये ।

 

फिल्मफेयर

फिल्मफेयर अवार्ड में गली बॉय ने मचायी धूम ,रणवीर और आलिया बने विनर

मुंबई, 16 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह और आलिया भट्ट को फिल्म ‘गली बॉय’ के लिये 65 वें फिल्म फेयर अवार्ड समारोह में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया है।

सिद्धार्थ

सिद्धार्थ शुक्ला बने बिगबॉस सीजन 13 के विनर

मुंबई 16 फरवरी (वार्ता) टीवी के जाने माने अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला बिगबॉस सीजन 13 के विजेता बन गये हैं।

एकता

एकता कपूर की वेबसीरीज में काम करेंगे अर्सलान गोनी

मुंबई 15 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अर्सलान गोनी ,एकता कपूर की वेबसीरीज में काम करने जा रहे हैं।

ब्राज़ीलियाई

ब्राज़ीलियाई एक्ट्रेस और मॉडल लैरिसा बोन्सी को लांच करेंगे सलमान खान

मुंबई 15 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान ब्राज़ीलियाई एक्ट्रेस और मॉडल लैरिसा बोन्सी को लांच करने जा रहे हैं।

खेसारीलाल

खेसारीलाल यादव की फिल्‍म मेंहंदी लगाके रखना 3 का ट्रेलर रिलीज

मुंबई 15 फरवरी (वार्ता) भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव की आने वाली फिल्म ‘मेहंदी लगाके रखना 3’ का ट्रेलर रिलीज हो गया है।

राधे

राधे में अपना फेमस डायलॉग बोलते नजर आएंगे सलमान खान!

मुंबई 15 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान अपनी आने वाली फिल्म ‘राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई’ में अपना फेमस डायलॉग बोलते नजर आ सकते हैं।

शाहरुख-सलमान

शाहरुख-सलमान के गानों पर परफॉर्म करेंगे कार्तिक आर्यन

मुंबई 15 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता कार्तिक आर्यन, शाहरूख खान और सलमान खान के गानों पर फिल्मफेयर अवार्डस में परफार्म करने जा रहे हैं।

अपने

अपने बेटों को जबरस्ती फिल्मों में लॉन्च नहीं करेंगी माधुरी दीक्षित

मुंबई 14 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड की धकधक गर्ल माधुरी दीक्षित अपने बेटों को जबरदस्ती फिल्मों में लॉन्च नहीं करेंगी।

अपनी

अपनी फिल्मों से खास पहचान बनायी आशुतोष गोवारिकर ने

..जन्मदिवस 15 फरवरी  ..
मुबई 14 फरवरी(वार्ता)बॉलीवुड में आशुतोष गोवारिकर का नाम एक ऐसे फिल्मकार के रूप में लिया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित.निर्देशित फिल्मों के जरिये दर्शकों के दिलो में खास पहचान बनायी है।

बहुमुखी

बहुमुखी प्रतिभा के धनी है रणधीर कपूर

..जन्मदिन 15 फरवरी ..
मुंबई 14 फरवरी (वार्ता)बॉलीवुड में रणधीर कपूर को एक ऐसी शख्सियत के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ अभिनय के क्षेत्र में बल्कि फिल्म निर्माण और निर्देशन के जरिये भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे कमाल अमरोही

बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे कमाल अमरोही

...पुण्यतिथि 11 फरवरी के अवसर पर ..
मुंबई 10 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड में कमाल अमरोही का नाम एक ऐसी शख्सियत के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने बेहतरीन गीतकार,पटकथा और संवाद लेखक तथा निर्माता एवं निर्देशक के रूप में भारतीय सिनेमा पर अपनी अमिट छाप छोड़ी।

खलनायकी की दुनिया में खास पहचान बनायी प्राण ने

खलनायकी की दुनिया में खास पहचान बनायी प्राण ने

..जन्मदिवस 12 फरवरी के अवसर पर ..
मुंबई, 11 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड में प्राण एक ऐसे खलनायक थे जिन्होंने 50 और 70 के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर खलनायकी के क्षेत्र में एकछत्र राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

image