Thursday, Apr 2 2020 | Time 20:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना जांच टीम पर पथराव करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज
  • सोनीपत में स्कूल में बनाया अस्थाई जेल
  • नीतीश ने की राजकोषीय घाटे की सीमा बढ़ाकर चार प्रतिशत करने की मांग
  • पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान 3663 लोगों को हिरासत में लिया
  • आईएएस साकेत कुमार को अतिरिक्त प्रभार
  • कोरोना: श्रीनगर के सीडी अस्पताल में बनी पहली ‘डीकंटैमनेशन’ और ‘सेनिटाइजेशन’ सुरंग
  • गोल्फ ऑस्ट्रेलिया ने कहा: सभी कोर्सों को बंद रखा जाए
  • गोल्फ ऑस्ट्रेलिया ने कहा: सभी कोर्सों को बंद रखा जाए
  • नीतीश ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए केंद्र से मांगे किट, दवा और उपकरण
  • लोगों ने घर की मर्यादा में रहकर मनाया मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम का जन्मोत्सव
  • उत्तराखंड में निचली अदालतें अब 14 अप्रैल को खुलेंगी
  • लाकॅडाउन: मानवता की सेवा में लगी पुलिस, जरूरतमंदों को राशन, दवाइयां की वितरित
  • कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के लिए पंजाब में बने 21 ‘खुले‘ जेल
  • तब्लीगी गतिविधियों में लिप्त 960 विदेशी ब्लैक लिस्ट, वीजा भी रद्द
  • पांच सौ विदेशी पर्यटकों की गयी पूछताछ
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


पचास-साठ के दशक के सुपरस्टार थे भारत भूषण

पचास-साठ के दशक के सुपरस्टार थे भारत भूषण

..पुण्यतिथि 27 जनवरी  ..
मुंबई 26 जनवरी (वार्ता)बॉलीवुड में भारत भूषण को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पचास-साठ के दशक में अपनी अभिनीत फिल्मों से दर्शको के बीच खास पहचान बनायी।

14 जून 1920 को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर में जन्में भारत भूषण का रूझान बचपन के दिनो से हीं संगीत की ओर था और वह गायक बनना चाहते थे।
भारत भूषण के पिता मेरठ में सरकारी वकील थे।
वह चाहते थे उनका पुत्र भी उन्हीं के नक्शे कदम पर चले और वकालत को अपना व्यवसाय अपनाए लेकिन भारत भूषण को यह बात मंजूर नहीं थी।
इस बीच भारत भूषण ने हिंदी और अंग्रेजी साहित्य में स्नाकोत्तर की पढ़ाई पूरी की।

चालीस के दशक में वह घर छोड़कर फिल्म इंडस्ट्री में अपनी किस्मत आजमाने के लिये मुंबई आ गये।
मुंबई आने के बाद सर्वप्रथम भारत भूषण को केदार शर्मा की फिल्म .चित्रलेखा .में एक छोटी सी भूमिका निभाने का मौका मिला।
हालांकि भारत भूषण इस फिल्म के जरिये अपनी पहचान नहीं बना सके।
वर्ष 1942 में भारत भूषण की एक पौराणिक फिल्म ..भक्त कबीर.. प्रदर्शित हुयी।
उन दिनों कबीर जैसे विवादस्पद विषय पर फिल्म बनाना एक साहसिक कदम था।
फिल्म की सफलता के बाद वह फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कुछ हद तक कामयाब हो गये ।

वर्ष 1942 से वर्ष 1951 तक भारत भूषण फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाने के लिये संघर्ष करते रहे ।
फिल्म. चित्रलेखा .के बाद उन्हें जो भी भूमिका मिली उसे वह स्वीकार करते चले गये ।
इस बीच उन्होंने सुहाग रात .अंजाना. रंगीला राजस्थान .उधार.चकोरी.देश सागर जैसी कई फिल्मों में अभिनय किया लेकिन इनमें से कोई भी फिल्म बॉक्स आफिस पर सफल नहीं हुयी।

वर्ष 1952 भारत भूषण के सिने करियर का अहम वर्ष साबित हुआ और उन्हें विजय भटृ के निर्देशन मे बैजू बावरा में काम करने का मौका मिला1 इस फिल्म ने 100 सप्ताह तक बॉक्स आफिस पर चलने का रिकार्ड बनाया।
इस फिल्म की सफलता के बाद वह बतौर अभिनेता फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में सफल हो गये ।
इसके बाद भारत भूषण को विजय भटृ के निर्देशन में बनी एक और फिल्म ..चैतन्य महाप्रभु .. में काम करने का अवसर मिला ।
फिल्म चैतन्य महाप्रभु भी बॉक्स आफिस पर सुपरहिट साबित हुयी।
इसके साथ ही इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये भारत भूषण फिल्म फेयर के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये ।

पचास के दशक में अशोक कुमार.दिलीप कुमार .राज कपूर और देवानंद जैसे सितारे फिल्म इंडस्ट्री में अपनी धाक जमा चुके थे लेकिन भारत भूषण ने अपनी एक अलग इमेज बनायी और दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।
इस बीच आनंद मठ.मिर्जा गालिब.बसंत बहार .फागुन.गेटवे ऑफ इंडिया.रानी रूपमती की सफलता के बाद भारत भूषण सफलता के शिखर पर जा पहुंचे ।
वर्ष 1964 में भारत भूषण ने अपनी महात्वाकांक्षी फिल्म ..दूज का चांद.. का निर्माण किया लेकिन यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से पिट गयी।
इसके बाद भारत भूषण ने फिल्म निर्माण से तौबा कर लिया।
1967 में प्रदर्शित फिल्म ..तकदीर ..बतौर मुख्य अभिनेता भारत भूषण की अंतिम फिल्म साबित हुयी ।

सत्तर के दशक में जब फिल्म निर्माण का नया दौर शुरू हुआ और एक्शन फिल्में बननी शुरू हो गयी तब निर्माता-निर्देशको ने भारत भूषण की ओर से अपना मुख मोड़ लिया, जो निर्माता उनसे अपनी फिल्म में काम करने के लिये गुजारिश किया करते थे उन्होंने उनसे बात करना भी बंद कर दिया।
इसके बाद बढ़ती उम्र के तकाजे को देखते हुये और अपनी रोजी -रोटी चलाने के लिये भारत भूषण ने चरित्र भूमिका निभानी शुरू कर दी ।

अस्सी के दशक में नौबत यहां तक आ गयी कि उन्हें मामूली से मामूली रोल ही मिलने लगे।
जब निर्माताओं को किसी दुखी बाप.डाक्टर.वकील की छोटी सी भूमिका निभाने वाले कलाकार की जरूरत होती, तो वे भारत भूषण को याद कर लेते।
इस बीच भारत भूषण की माली हालत बिगड़ती चली गयी और फिल्मों में भी उन्हें काम मिलना लगभग बंद हो गया तब उन्होंने छोटे पर्दे की ओर भी रूख कर लिया और दिशा और बेचारे गुप्ताजी जैसे धारावाहिको में अभिनय किया।
अपने दमदार अभिनय से सिने प्रेमियो को भावविभोर करने वाले महान अभिनेता भारत भूषण अंतत 27 जनवरी 1992 को को इस दुनिया को अलविदा कह गये।

 

अमिताभ

अमिताभ बच्चन का ट्वीट हुआ वायरल

मुंबई 02 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का एक ट्वीट वायरल हो गया है।

सौंन्दर्य

सौंन्दर्य और अभिनय का अनूठा संगम है जयाप्रदा

..जन्मदिन 03 अप्रैल ..
मुंबई 02 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड में जया प्रदा का नाम उन गिनी-चुनी अभिनेत्रियों में हैं जिनमें सौंदर्य और अभिनय का अनूठा संगम देखने को मिलता है।

कोरोना

कोरोना से जंग में अजय-कंगना ने दिया डोनेशन

मुंबई 02 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन और अभिनेत्री कंगना रनौत ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ लड़ाई में डोनेशन दिया है।

दिलीप

दिलीप कुमार ने लोगों से की घर में रहने की अपील

मुंबई 02 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के अभिनय सम्राट दिलीप कुमार ने लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिये घर में रहने की अपील की है।

कोरोना

कोरोना वायरस के विरूद्ध जंग में आगे आयी माधुरी-करीना

मुंबई 01 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित, करीना कपूर और निर्देशक रोहित शेट्टी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ लड़ाई में डोनेशन दिया है।

निर्देशक

निर्देशक बनना चाहते थे अजय देवगन

..जन्मदिन 02 अप्रैल ..
मुम्बई 01 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन ने अपने दमदार अभिनय से सिने प्रेमियों को अपना दीवाना बनाया है लेकिन कम लोगों को पता होगा कि वह पहले निर्देशक बनना चाहते थे।

अप्रैल

अप्रैल फूल के नाम से बनायी गयी थी फिल्म

मुंबई 01 अप्रैल (वार्ता) पूरी दुनिया में मूर्ख दिवस या अप्रैल फूल एक अप्रैल को मनाया जाता है।

मधुबाला

मधुबाला का किरदार निभाना चाहती हैं कंगना

मुंबई 31 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत सिल्वर स्क्रीन पर बेपनाह हुस्न की मल्लिका मधुबाला का किरदार निभाना चाहती हैं।

कैटरीना

कैटरीना कैफ बनेंगी सुपरहीरो

मुंबई 31 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ सिल्वर स्क्रीन पर सुपरहीरो का किरदार निभाती नजर आ सकती हैं।

विक्की,

विक्की, सारा ने दिये पीएमकेयर फंड में डोनेशन

मुंबई 31 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता विक्की कौशल और अभिनेत्री सारा अली खान ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ लड़ाई में पीएम केयर्स फंड में डोनेशन दिया है।

दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया नंदा ने

दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया नंदा ने

..पुण्यतिथि 25 मार्च के अवसर पर ..
मुम्बई 25 मार्च (वार्ता)बॉलीवुड में अपनी दिलकश अदाओं से अभिनेत्री नंदा ने लगभग तीन दशक तक दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया लेकिन बहुत कम लोगो को पता होगा कि वह फिल्म अभिनेत्री न बनकर सेना में काम करना चाहती थीं ।

दिलकश आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर रही है अलका याज्ञनिक

दिलकश आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर रही है अलका याज्ञनिक

.. जन्मदिन 20 मार्च के अवसर पर पर ..
मुंबई 19 मार्च (वार्ता) आकाशवाणी कोलकाता से अपने करियर की शुरूआत करके शोहरत की बुलंदियों तक पहुंचने वाली बॉलीवुड की सुप्रसिद्ध पार्श्वगायिका अलका याज्ञनिक अपने गानों से आज भी श्रोताओं के दिलों पर राज कर रही हैं।

image