Tuesday, Apr 7 2020 | Time 03:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जॉनसन के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं : मोदी
  • मोदी ने बेहरीन के किंग से बात की
  • बोरिस जॉनसन की हालत बिगड़ी, आईसीयू में भर्ती
  • अमेरिका में कोरोना से 10000 लोगों की मौत
  • नागपुर में कोरोना से हुई पहली मौत
  • कोरोना: कतर में 279 नये मामले सामने आये
  • महाराष्ट्र में कोरोना के 120 नये मामले सामने आए
  • इराक में कोरोना के मामले 1000 पार पहुंचे
  • तुर्की में कोरोना के मामले 30000 पार पहुंचे
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


सुरीली आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया सुरैया ने

सुरीली आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया सुरैया ने

..पुण्यतिथि 31 जनवरी के अवसर पर ..
मुंबई 31 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड में सुरैया को ऐसी गायिका-अभिनेत्री के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपने सशक्त अभिनय और जादुई पार्श्वगायन से लगभग चार दशक तक सिने प्रेमियों को अपना दीवाना बनाये रखा ।

पंजाब के गुजरांवाला शहर में 15 जून 1929 को एक मध्यम वर्गीय परिवार मे जन्मी सुरैया का रूझान बचपन से ही संगीत की ओर था और वह पार्श्वगायिका बनना चाहती थी।
उन्होंने हालांकि किसी उस्ताद से संगीत की शिक्षा नहीं ली थी लेकिन संगीत पर उनकी अच्छी पकड़ थी।
सुरैया अपने माता पिता की इकलौती संतान थी।
उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के न्यू गर्ल्स हाई स्कूल से पूरी की।
इसके साथ ही वह घर पर ही कुरान और फारसी की शिक्षा भी लिया करती थी।
बतौर बाल कलाकार वर्ष 1937 में उनकी पहली फिल्म ..उसने सोचा था..प्रदर्शित हुई।

सुरैया को अपना सबसे पहला बड़ा काम अपने चाचा जहूर की मदद से मिला जो उन दिनों फिल्म इंडस्ट्री मे बतौर खलनायक अपनी पहचान बना चुके थे ।
वर्ष 1941 में स्कूल की छुट्टियों के दौरान एक बार सुरैया मोहन स्टूडियो में फिल्म ..ताजमहल.. की शूटिंग देखने गयी।
वहां उनकी मुलाकात फिल्म के निर्देशक नानु भाई वकील से हुयी जिन्हें सुरैया में फिल्म इंडस्ट्री का एक उभरता हुआ सितारा दिखाई दिया।
उन्होंने सुरैया को फिल्म के किरदार ..मुमताज महल के लिये चुन लिया।

आकाशवाणी के एक कार्यक्रम के दौरान संगीत सम्राट नौशाद ने जब सुरैया को गाते सुना तब वह उनके गाने के अंदाज से काफी प्रभावित हुए।
नौशाद के संगीत निर्देशन मे पहली बार कारदार साहब की फिल्म ..शारदा .. में सुरैया को गाने का मौका मिला।
इस बीच सुरैया को वर्ष 1946 में महबूब खान की ..अनमोल घड़ी ..में भी काम करने का मौका मिला हालांकि सुरैया इस फिल्म में सह अभिनेत्री थी लेकिन फिल्म के एक गाने .. सोचा था क्या, क्या हो गया .. से वह बतौर पार्श्वगायिका श्रोताओं के बीच अपनी पहचान बनाने में काफी हद तक सफल रही।

    इस बीच निर्माता जयंत देसाई की फिल्म ..चंद्रगुप्ता ..के एक गाने के रिहर्सल के दौरान सुरैया को देखकर के.एल.सहगल काफी प्रभावित हुए और उन्होंने जयंत देसाई से सुरैया को फिल्म ..तदबीर ..में काम देने की सिफारिश की।
वर्ष 1945 में प्रदर्शित फिल्म ..तदबीर ...में के .एल. सहगल के साथ काम करने के बाद धीरे-धीरे उनकी पहचान फिल्म इंडस्ट्री में बनती गयी।
वर्ष 1949-50 मे सुरैया के सिने कैरियर मे अभूतपूर्व परिवर्तन आया।
वह अपनी प्रतिद्वंदी अभिनेत्री नरगिस और कामिनी कौशल से भी आगे निकल गयी।
इसका मुख्य कारण यह था कि सुरैया अभिनय के साथ-साथ गाने भी गाती थी।
प्यार की जीत. बड़ी बहन और दिल्लगी 1950 जैसी फिल्मों की कामयाबी के बाद सुरैया शोहरत की बुलंदियो पर जा पहुंची ।

सुरैया के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी फिल्म अभिनेता देवानंद के साथ खूब जमी।
सुरैया और देवानंद की जोड़ी वाली फिल्मों मे विधा जीत.शायर.अफसर. नीली और दो सितारे 1951 जैसी फिल्में शामिल हैं।
वर्ष 1950 में प्रदर्शित फिल्म अफसर के निर्माण के दौरान देवानंद का झुकाव सुरैया की ओर हो गया था।
एक गाने की शूटिंग के दौरान देवानंद और सुरैया की नाव पानी में पलट गयी।
देवानंद ने सुरैया को डूबने से बचाया।
इसके बाद वह देवानंद से बेइंतहा मोहब्बत करने लगी लेकिन सुरैया की नानी की इजाजत न मिलने पर यह जोड़ी परवान नहीं चढ़ सकी।

वर्ष 1954 मे देवानंद ने उस जमाने की मशहूर अभिनेत्री कल्पना कार्तिक से शादी कर ली।
इससे आहत सुरैया ने आजीवन कुंवारी रहने का फैसला कर लिया।
वर्ष 1950 से लेकर 1953 तक सुरैया के सिने कैरियर के लिये बुरा वक्त साबित हुआ लेकिन वर्ष 1954 में प्रदर्शित फिल्म मिर्जा गालिब और वारिस की सफलता ने सुरैया एक बार फिर से फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में सफल हो गयी।
फिल्म मिर्जा गालिब को राष्ट्रपति के गोल्ड मेडल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।
फिल्म को देख तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू इतने भावुक हो गये कि उन्होंने सुरैया को कहा ..तुमने मिर्जा गालिब की रूह को जिंदा कर दिया..।

वर्ष 1963 में प्रदर्शित फिल्म रूस्तम सोहराब के प्रदर्शन के बाद सुरैया ने खुद को फिल्म इंडस्ट्री से अलग कर लिया।
लगभग तीन दशक तक अपनी जादुई आवाज और अभिनय से दर्शकों का दिल जीतने वाली सुरैया ने 31 जनवरी 2004 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

एक

एक लाख मजदूरों के परिवार की मदद को आगे आये अमिताभ

मुंबई 06 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने ऑल इंडिया फिल्म एंप्लॉइज कन्फेडरेशन से जुड़े एक लाख दिहाड़ी मजदूरों के परिवार की मदद करने का एलान किया है।

प्रियंका

प्रियंका ने प्रधानंत्री मोदी के प्रति जताया आभार

मुंबई 06 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने पीएम केयर फंड में योगदान देने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वागत किये जाने पर उनका आभार जताया है।

बॉलीवुड

बॉलीवुड के पहले रियल डांसिग स्टार हैं जीतेन्द्र

..जन्मदिन 07 अप्रैल ..
मुंबई 06 अप्रैल (वार्ता) मुंबई के गोरेगांव में लड़कों का एक समूह अक्सर फिल्मों का पहला शो देखा करता था।

कोरोना

कोरोना के खिलाफ जंग में अर्जुन ने दिया डोनेशन

मुबई 06 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन कपूर ने कोरोना वायरस के विरूद्ध चल रही जंग में पीएम-केयर्स फंड में डोनेशन दिया है।

सनी-बॉबी

सनी-बॉबी बनने वाले थे करण-अर्जुन

मुंबई 05 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल और उनके भाई बॉबी देओल सुपरहिट फिल्म करण-अर्जुन में काम करने वाले थे लेकिन सनी देओल के मना करने पर बात नहीं बन सकी।

द

द बर्निंग ट्रेन के रीमेक में काम करेंगे ऋतिक रोशन!

मुंबई 05 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के माचो मैन ऋतिक रौशन अस्सी के दशक में बनी 'द बर्निंग ट्रेन' के रीमेक में काम करते नजर आ सकते हैं।

लॉकडाउन

लॉकडाउन में लोगों को ऑनलाइन डांस सीखा रही है माधुरी दीक्षित

मुंबई 06 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित लॉकडाउन में लोगों को ऑनलाइन डांस सीखा रही है1
प्रधानंमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों तक सभी से घर में रहने की अपील की है।

अंतराष्ट्रीय

अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनायी थी सुचित्रा सेन ने..

जन्मदिवस 06 अप्रैल  ..
मुंबई 05 अप्रैल(वार्ता)भारतीय सिनेमा में सुचित्रा सेन को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में याद किया जायेगा जिन्होंने बंगला फिल्मों में उल्लेखनीय योगदान करने के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी विशेष पहचान बनायी।

रूमानी

रूमानी अदाओं से दीवाना बनाया दिव्या भारती ने

....पुण्यतिथि 05 अप्रैल ...
मुंबई 04 अप्रैल(वार्ता) बॉलीवुड में दिव्या भारती को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी रूमानी अदाओं से दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी थी।

रणवीर-दीपिका

रणवीर-दीपिका ने पीएम केयर्स फंड में दिया डोनेशन

मुंबई 04 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह और उनकी पत्नी दीपिका पादुकोण ने कोरोना वायरस के विरूद्ध चल रही जंग में पीएम-केयर्स फंड में डोनेशन दिया है।

दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया नंदा ने

दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया नंदा ने

..पुण्यतिथि 25 मार्च के अवसर पर ..
मुम्बई 25 मार्च (वार्ता)बॉलीवुड में अपनी दिलकश अदाओं से अभिनेत्री नंदा ने लगभग तीन दशक तक दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया लेकिन बहुत कम लोगो को पता होगा कि वह फिल्म अभिनेत्री न बनकर सेना में काम करना चाहती थीं ।

दिलकश आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर रही है अलका याज्ञनिक

दिलकश आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर रही है अलका याज्ञनिक

.. जन्मदिन 20 मार्च के अवसर पर पर ..
मुंबई 19 मार्च (वार्ता) आकाशवाणी कोलकाता से अपने करियर की शुरूआत करके शोहरत की बुलंदियों तक पहुंचने वाली बॉलीवुड की सुप्रसिद्ध पार्श्वगायिका अलका याज्ञनिक अपने गानों से आज भी श्रोताओं के दिलों पर राज कर रही हैं।

image