Saturday, May 30 2020 | Time 08:22 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मेक्सिको में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 9415 पहुंचा
  • चीन में कोरोना के चार नए मामले सामने आए
  • ठाणे के भाजपा निगम पार्षद का निधन
  • ब्राजील में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 27878 पहुंचा
  • फ्रांस में कोरोना से 52 और लोगों की मौत
  • ओमान में कोरोना के 811 नए मामले, कुल 9820 संक्रमित
  • न्यूजीलैंड के विटियांगा में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए
  • ट्यूनीशिया ने स्टेट ऑफ इमरजेंसी छह महीने तक बढ़ायी
  • डब्ल्यूएचओ के साथ संबंध खत्म करेगा अमेरिका : ट्रंप
  • मोरक्को के पूर्व प्रधानमंत्री एबदर्रहमान यूसुफ़ि का निधन
  • मोरक्को में 1 54 टन गांजा बरामद, चार गिरफ्तार
  • पाकिस्तान में 30 मई से शुरु होगी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें : प्रशासन
  • मेघालय में दो भाई नदी में डूबे
  • पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव ने धनखड़ से की मुलाकात
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


अपने रचित गीतों से लोगों को मंत्रमुग्ध किया इंदीवर ने

अपने रचित गीतों से लोगों को मंत्रमुग्ध किया इंदीवर ने

..पुण्यतिथि 27 फरवरी के अवसर पर..
मुंबई, 26 फरवरी (वार्ता) बॉलीवुड में इंदीवर का नाम एक ऐसे गीतकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपने रचित गीतों से लोगों को तीन दशक तक मंत्रमुग्ध किया।

श्यामलाल बाबू राय उर्फ इंदीवर का जन्म उत्तर प्रदेश के झांसी में 1924 मे हुआ था।
बचपन से ही वह गीतकार बनने का सपना देखा करते थे और अपने इसी सपने को पूरा करने के लिये वह मुंबई आ गये।
बतौर गीतकार सबसे पहले 1946 में प्रदर्शित फिल्म..डबल क्रास..में उन्हें काम करने का मौका मिला लेकिन फिल्म की असफलता से वह कुछ खास पहचान नही बना पाये।
अपने वजूद को तलाशते इंदीवर को गीतकार के रूप में पहचान बनाने के लिये लगभग पांच वर्ष तक फिल्म इंडस्ट्री में संघर्ष करना पड़ा।
इस दौरान उन्होंने कई बी और सी ग्रेड की फिल्में भी की।

वर्ष 1951 में प्रदर्शित फिल्म ..मल्हार ..की कामयाबी से वह गीतकार के रूप में कुछ हद तक वह अपनी पहचान बनाने मे सफल हो गये।
इस फिल्म का गीत बड़े अरमानों से रखा है बलम तेरी कसम ..श्रोताओं के बीच आज भी लोकप्रिय है।
वर्ष 1963 मे बाबूभाई मिस्त्री की संगीतमय फिल्म..पारसमणि.. की सफलता के बाद इंदीवर शोहरत की बुंलदियों पर जा पहुंचे।
इंदीवर की जोड़ी निर्माता-निर्देशक मनोज कुमार के साथ बहुत जमी ।
मनोज कुमार ने सबसे पहले उनसे फिल्म उपकार के लिये गीत लिखने की पेशकश की।

कल्याणजी आनंद जी के संगीत निर्देशन में उपकार के लिये इंदीवर ने ..कस्मेवादे प्यार वफा ..जैसे दिल को छू लेने वाले गीत लिखकर श्रोताओं को भावविभोर कर दिया।
इसके अलावा मनोज कुमार की फिल्म पूरब और पश्चिम के लिये भी उन्होंने ने दुल्हन चली वो पहन चली और कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे जैसे सदाबहार गीत लिखकर अलग ही समां बांधा।
वर्ष 1970 मे विजय आनंद निर्देशित फिल्म ..जानी मेरा नाम ..में नफरत करने वालों के सीने में प्यार भर दूं.पल भर के लिये कोई मुझे प्यार कर ले जैसे रूमानी गीत लिखकर इंदीवर ने श्रोताओं का दिल जीत लिया।

     मनमोहन देसाई के निर्देशन मे फिल्म सच्चा-झूठा के लिये इंदीवर का लिखा एक गीत ..मेरी प्यारी बहनिया बनेगी दुल्हनिया ...को आज भी शादी के मौके पर सुना जा सकता है ।
इसके अलावा फिल्म राजेश खन्ना अभिनीत फिल्म ..सफर ..के लिये उन्होंने जीवन से भरी तेरी आंखे और जो तुमको हो पसंद जैसे गीत लिखकर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया।

जाने-माने फिल्मकार राकेश रोशन की फिल्मों के लिये इंदीवर ने सदाबहार गीत लिखकर उनकी फिल्मो को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।
उनके सदाबहार गीतों के कारण ही राकेश रोशन की ज्यादातार फिल्मे आज भी याद की जाती है।
इन फिल्मों में खासकर कामचोर.खुदगर्ज.खून भरी मांग.कालाबाजार .किशन कन्हैया.किंग अंकल.करण अर्जुन.कोयला जैसी फिलमें शामिल है।

राकेश रौशन के अलावा इंदीवर के पसंदीदा निर्मात-निर्देशकों में मनोज कुमार .फीरोज खान. आदि प्रमुख रहे है।
इंदीवर के पसंदीदा संगीतकार के तौर पर कल्याण जी आनंद जी का नाम सबसे उपर आता है।
कल्याणजी.आनंदजी के संगीत निर्देशन मे उनके के गीतो को नई पहचान मिली।
शायद कल्याणजी..आनंद जी इंदीवर के दिल के काफी करीब थे।

सबसे पहले इस जोड़ी का गीत संगीत 1965 में प्रदर्शित फिल्म हिमालय की गोद में पसंद किया गया।
इसके बाद इंदीवर द्वारा रचित फिल्मी गीतों में कल्याणजी-आनंदजी का ही संगीत हुआ करता था।
ऐसी फिल्मों में उपकार.दिल ने पुकारा,सरस्वती चंद्र,यादगार,सफर,सच्चा झूठा,पूरब और पश्चिम,जॉनी मेरा नाम,पारस,उपासना,कसौटी,धर्मात्मा,
हेराफेरी,डॉन,कुर्बानी,कलाकार आदि शामिल हैं।
वर्ष 1975 में प्रदर्शित फिल्म अमानुष के लिये इंदीवर को सर्वश्रेष्ठ गीतकार का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया।
इंदीवर ने अपने सिने कैरियर मे लगभग 300 फिल्मों के लिये गीत लिखे।
लगभग तीन दशक तक अपने रचित गीतों से श्रोताओं को भावविभोर करने वाले इंदीवर 27 फरवरी 1997 को इस दुनिया को अलविदा कह गये।

66

66 वर्ष के हुये पंकज कपूर

मुंबई, 29 मई(वार्ता) बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिये मशहूर पंकज कपूर आज 66 वर्ष के हो गये।

लॉकडाउन

लॉकडाउन में हैरी पॉटर पढ़ रही है आलिया

मुंबई, 29 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट लॉकडाउन में मशहूर उपन्यास हैरी पॉटर पढ़ रही है।

गर्भवती

गर्भवती महिला ने बच्चे का नाम रखा सोनू सूद

मुंबई, 29 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने हाल ही में एक गर्भवती महिला को बिहार के दरभंगा पहुंचाने में मदद की थी।

अभिनेता

अभिनेता नहीं इंजीनियर बनना चाहते थे परेश रावल

जन्मदिन 30 मई ..
मुंबई, 29 मई(वार्ता) बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता परेश रावल अपने दमदार अभिनय से लगभग चार दशक से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर रहे हैं लेकिन वह पहले इंजीनियर बनना चाहते थे।

टीवी

टीवी पर नया शो हाउस ऑफ भाईजान ला रहे हैं सलमान खान

मुंबई 29 मई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान टीवी पर नया शो ‘हाउस ऑफ भाईजान’ ला रहे हैं।

सारा

सारा ने शेयर किया भारत दर्शन का वीडियो

मुंबई, 29 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान ने सोशल मीडिया पर भारत दर्शन का वीडियो शेयर किया है।

पर्यावरण

पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करेंगी भूमि पेडनेकर

मुंबई, 28 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर पर्यावरण को बचाने के लिए लोगों को जागरूक करना चाहती हैं।

‘भाई

‘भाई भाई’ गाना की सफलता से खुश हैं सलमान

मुंबई, 28 मई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान ‘भाई भाई’ सांग की सफलता से बेहद खुश हैं।

काम

काम के प्रति समर्पित नरमदिल इंसान थे पृथ्वीराज कपूर

..पुण्यतिथि 29 मई  ..
मुंबई 28 मई(वार्ता) अपनी कड़क आवाज .रौबदार भाव भंगिमाओं और दमदार अभिनय के बल पर लगभग चार दशकों तक सिने प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाले भारतीय सिनेमा के युगपुरूष पृथ्वीराज कपूर काम के प्रति समर्पित और नरम दिल इंसान थे।

सुष्मिता

सुष्मिता ने फिटनेस वीडियो शेयर किया

मुंबई 28 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री सुष्मिता सेन ने अपना फिटनेस वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है।

image