Wednesday, May 27 2020 | Time 09:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लॉकडाउन में घरेलू हिंसा के विरोध में ट्विटर पर चलाया जायेगा अभियान
  • जर्मनी में कोरोना के मद्देनजर संपर्क संबंधी प्रतिबंध 29 जून तक बढ़े
  • युगांडा ने दी कोरोना के कारण विदेश में फंसे नागरिकों को वापसी की मंजूरी
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 28 मई)
  • रूस में होने वाला एससीओ सम्मेलन स्थगित
  • पेट्रोल-डीजल के भाव
  • असम में बाढ़ से करीब 1 95 लाख लोग प्रभावित
  • एयर इंडिया ने दिया नि:शुल्क यात्रा तिथि बदलने का विकल्प
  • एयर इंडिया ने दिया नि:शुल्क यात्रा तिथि बदलने का विकल्प
  • चीन को लेकर जल्द बड़ी घोषणा : ट्रम्प
  • पोलैंड में कोरोना के 21,867 मामलों की पुष्टि
  • फ्रांस में कोरोना से अबतक 28,530 मरीजों की मौत
  • सोमालियाई सेना ने सात आतंकवादियों को मार गिराया
  • असम में बाढ़ से 1 94 लाख लोग प्रभावित
  • कर्नाटक में एक जून से खुलेंगे मंदिर
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


जन्म के समय मीना कुमारी को अनाथालय छोड़ आये थे उनके पिता

जन्म के समय मीना कुमारी को अनाथालय छोड़ आये थे उनके पिता

पुण्यतिथि 31 मार्च के अवसर पर ..
मुंबई 30 मार्च (वार्ता) अपने दमदार और संजीदा अभिनय से सिने प्रेमियों के बीच विशिष्ट पहचान बनाने वाली ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी को उनके पिता अनाथालय छोड़ आये थे।

एक अगस्त 1932 का दिन था।
मुंबई में एक क्लीनिक के बाहर मास्टर अली बक्श नाम के एक शख्स बड़ी बेसब्री से अपनी तीसरी औलाद के जन्म का इंतजार कर रहे थे।
दो बेटियों के जन्म लेने के बाद वह इस बात की दुआ कर रहे थे कि अल्लाह इस बार बेटे का मुंह दिखा दे।
तभी अंदर से बेटी होने की खबर आयी तो वह माथा पकड़ कर बैठ गये।

मास्टर अली बख्श ने तय किया कि वह बच्ची को घर नहीं ले जायेंगे और वह बच्ची को अनाथालय छोड़ आये लेकिन बाद में उनकी पत्नी के आंसुओं ने बच्ची को अनाथालय से घर लाने के लिये उन्हें मजबूर कर दिया।
बच्ची का चांद सा माथा देखकर उसकी मां ने उसका नाम रखा ‘माहजबीं’।
बाद में यही माहजबीं फिल्म इंडस्ट्री में मीना कुमारी के नाम से मशहूर हुयी।

वर्ष 1939 में बतौर बाल कलाकार मीना कुमारी को विजय भट्ट की ‘लेदरफेस’ में काम करने का मौका मिला।
वर्ष 1952 में मीना कुमारी को विजय भट्ट के निर्देशन में ही ‘बैजू बावरा’ में काम करने का मौका मिला।
फिल्म की सफलता के बाद मीना कुमारी बतौर अभिनेत्री फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में सफल हो गयीं।

       वर्ष 1952 मे मीना कुमारी ने फिल्म निर्देशक कमाल अमरोही के साथ शादी कर ली।
वर्ष 1962 मीना कुमारी के सिने कैरियर का अहम पड़ाव साबित हुआ।
इस वर्ष उनकी आरती,मैं चुप रहूंगी और साहिब बीबी और गुलाम जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयीं।
इसके साथ ही इन फिल्मों के लिये वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामित की गयी।
यह फिल्म फेयर के इतिहास मे पहला ऐसा मौका था जहां एक अभिनेत्री को फिल्म फेयर के तीन नॉमिनेशन मिले थे।

वर्ष 1964 मे मीना कुमारी और कमाल अमरोही की विवाहित जिंदगी मे दरार आ गयी।
इसके बाद मीना कुमारी और कमाल अमरोही अलग-अलग रहने लगे।
कमाल अमरोही की फिल्म ..पाकीजा ..के निर्माण मे लगभग 14 वर्ष लग गये।
कमाल अमरोही से अलग होने के बावजूद मीना कुमारी ने शूटिंग जारी रखी क्योंकि उनका मानना था कि पाकीजा जैसी फिल्मों में काम करने का मौका बार-बार नहीं मिल पाता है।

मीना कुमारी के करियर में उनकी जोड़ी अशोक कुमार के साथ काफी पसंद की गयी।
मीना कुमारी को उनके बेहतरीन अभिनय के लिये चार बार फिल्म फेयर के सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से नवाजा गया है।
इनमें बैजू
बावरा,परिणीता, साहिब बीबी और गुलाम और काजल शामिल है।

     मीना कुमारी यदि अभिनेत्री नहीं होती तो शायर के रूप में अपनी पहचान बनाती।
हिंदी फिल्मों के जाने-माने गीतकार और शायर गुलजार से एक बार मीना कुमारी ने कहा था, ::ये जो एक्टिग मैं करती हूं, उसमें एक कमी है .ये फन
.ये आर्ट मुझसे नहीं जन्मा है . ख्याल दूसरे का .किरदार किसी का और निर्देशन किसी का।
मेरे अंदर से जो जन्मा है .वह लिखती हूं, जो मैं कहना चाहती हूं, वह लिखती हूं।

मीना कुमारी ने अपनी वसीयत में अपनी कविताएं छपवाने का जिम्मा गुलजार को दिया जिसे उन्होंने ..नाज. .उपनाम से छपवाया।
तन्हा रहने वाली मीना कुमारी ने स्वरचित एक गजल के जरिये अपनी जिंदगी का नजरिया
पेश किया है....
.. चांद तन्हा है आसमां तन्हा
दिल मिला है कहां-कहां तन्हा
राह देखा करेगा सदियों तक
छोड़ जायेंगे ये जहां तन्हा ..
लगभग तीन दशक तक अपने संजीदा अभिनय से दर्शकों के दिल पर राज करने वाली हिन्दी सिने जगत की महान अभिनेत्री मीना कुमारी 31 मार्च 1972 को सदा के लिये अलविदा कह गयी।
मीना कुमारी के करियर की अन्य उल्लेखनीय फिल्में हैं..आजाद,एक ही रास्ता,यहूदी,दिल अपना और प्रीत पराई,कोहिनूर,दिल एक मंदिर,चित्रलेखा,फूल और पत्थर,बहू बेगम,शारदा,बंदिश,भींगी रात,जवाब,दुश्मन आदि
प्रेम.श्रवण
वार्ता

रणवीर

रणवीर ने पूरा नहीं किया दीपिका से किया वादा

मुंबई 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह का कहना है कि उन्होंने दीपिका पादुकोण से शादी के समय एक वादा किया था जिसे उन्होंने अबतक पूरा नहीं किया है।

लॉकडाउन

लॉकडाउन में अक्षय ने शूटिंग शुरू की

मुंबई, 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार ने लॉकडाउन में शूटिंग शुरू की है।

‘भाई

‘भाई भाई’ गाना रिलीज, सलमान ने प्रशंसकों को दी ईदी

मुंबई, 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान ने ‘भाई भाई’ गाना रिलीज कर अपने प्रशंसकों को ईदी दी है।

आयुष्मान

आयुष्मान की फिल्मों का दक्षिण में बनेगा रीमेक

मुंबई 26 मई (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता आयुष्मान खुराना की फिल्मों का दक्षिण फिल्म इंडस्ट्री में रीमेक बनाया जायेगा।

बेटे

बेटे तुषार पर गर्व करते हैं जीतेन्द्र

मुंबई 25 मई (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता जीतेन्द्र अपने बेटे तुषार कपूर पर गर्व महसूस करते हैं।

लॉकडाउन

लॉकडाउन में शेफ बने सैफ

मुंबई 25 मई (वार्ता) बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान लॉकडाउन में शेफ बन गये हैं।

अनुपम

अनुपम ने अपने जीवन में 25 मई को बताया खास

मुंबई 25 मई (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने चरित्र अभिनेता अनुपम खेर ने अपने जीवन में 25 मई के महत्व को बताया  है।

श्रोताओं

श्रोताओं को बेहद पसंद आते हैं ईद के गीत

मुम्बई 25 मई (वार्ता) रूपहले पर्दे पर ईद जैसे पवित्र त्योहार से जुड़े फिल्मों के गीत श्रोताओं को बेहद पसंद आते हैं ।

किरण

किरण कुमार निकले कोरोना पॉजिटिव

मुंबइ 24 मई (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने चरित्र अभिनेता किरण कुमार कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं।

सलमान

सलमान ने मिथुन के बेटे की फिल्म 'बैड बॉय' का पोस्टर किया शेयर

मुंबई, 24 मई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान ने मिथुन चक्रवर्ती के बेटे नमाशी चक्रवर्ती की फिल्म 'बैड बॉय' के पोस्टर पर शेयर करते हुए शुभकामनायें दी है।

image