Thursday, Apr 25 2019 | Time 06:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लीबिया में हुई झड़प में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 272 : डब्ल्यूएचओ
  • अल्जीरिया के पूर्व ऊर्जा मंत्री पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप
  • वेनेजुएला के विदेश मंत्री ने एंटोनियो गुटेरेस से की मुलाकात
  • घंटे भर चलेगी पुतिन-किम की मुलाकात : सूत्र
मनोरंजन » जानीमानी हस्तियों का जन्म दिन


निर्देशक बनना चाहते थे अजय देवगन

निर्देशक बनना चाहते थे अजय देवगन

(जन्मदिन 02 अप्रैल के अवसर पर)
मुम्बई 01 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता और अजय देवगन अपने दमदार अभिनय से करीब तीन दशक से दर्शकों के दिल पर राज कर रहे हैं लेकिन कम लोगों को पता होगा कि वह पहले निर्देशक बनना चाहते थे।

अजय देवगन मूल नाम विशाल देवगन का जन्म दिल्ली में दो अप्रैल 1969 को हुआ था।
उनके पिता वीरू देवगन हिंदी फिल्मों के नामी स्टंट मैन थे जबकि उनकी मां वीणा देवगन ने एक-दो फिल्मों का निर्माण किया था।
घर में फिल्मी माहौल के होने कारण अजय देवगन की रूचि भी फिल्मों की ओर हो गयी और वह फिल्म निर्देशक बनने का सपना देखने लगे ।

अजय देवगन ने स्नातक की पढ़ाई मुंबई के मिठी भाई कॉलेज से पूरी की।
इसके बाद वह फिल्म निर्देशक शेखर कपूर के साथ सहायक निर्देशक के रूप में काम करने लगे।
इसी दौरान उनकी मुलाकात कुक्कु कोहली से हुयी, जो उन दिनों नई फिल्म ‘फूल और कांटे’ के निर्माण में व्यस्त थे और एक ऐसे अभिनेता की तलाश में थे जो रूमानी भूमिका के साथ -साथ एक्शन दृश्य भी कर सकें।
इस दौरान उन्होंने अजय देवगन के बारे में सुना कि वह एक्शन और नृत्य करने में माहिर है और उन्होंने उनसे फिल्म का नायक बनने की पेशकश की।
अपनी पहली ही फिल्म की सफलता के बाद अजय देवगन दर्शकों के बीच अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये ।

फूल और कांटे की सफलता के बाद अजय देवगन की छवि एक्शन हीरो के रूप में बन गयी।
इस फिल्म के बाद निर्माता निर्देशकों ने अधिकतर फिल्मों में उनकी एक्शन हीरो वाली छवि को भुनाया।
इन फिल्मों में जिगर, प्लेटफार्म, शक्तिमान और एक ही रास्ता जैसी फिल्में शामिल थीं।
नब्बे के दशक में अजय देवगन पर यह आरोप लगने लगे कि वह केवल मारधाड़ और एक्शन से भरपूर फिल्में ही कर सकते हैं।
उन्हें इस छवि से बाहर निकालने में निर्माता -निर्देशक इंद्र कुमार ने मदद की।
उन्होंने अजय देवगन को लेकर 1997 में फिल्म..इश्क.. का निर्माण किया जिसमें उन्होंने अजय देवगन से हास्य अभिनय कराकर सबको आश्चर्यचकित कर दिया।

   अजय देवगन के लिए वर्ष 1998 सिने कैरियर काे लेकर महत्वपूर्ण वर्ष साबित हुआ।
इस वर्ष उन्हें महेश भटृ की फिल्म “जख्म” में काम करने का अवसर मिला।
इस फिल्म में वह अपने दमदार अभिनय से न सिर्फ दर्शकों बल्कि समीक्षकों का दिल जीतने में भी सफल रहे।
इस फिल्म के लिये उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
वर्ष 1998 में ही अजय देवगन के सिने कैरियर की एक और हिट फिल्म ‘मेजर साब’ प्रदर्शित हुयी।
इस फिल्म में उन्हें सुपर स्टार अमिताभ बच्चन के साथ पहली बार काम करने का अवसर मिला लेकिन अजय देवगन अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का दिल जीतने में सफल रहे।

वर्ष 1999 में संजय लीला भंसाली की फिल्म‘हम दिल दे चुके सनम’ अजय देवगन के सिने कैरियर की एक और महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुयी।
सलमान खान और ऐश्वर्या राय जैसे मंझे हुये सितारों की मौजूदगी में भी अजय देवगन ने अपने संजीदा किरदार को रूपहले पर्दे पर जीवंत कर दिया।
इस फिल्म में दमदार अभिनय के लिये वह फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित भी किये गये।

वर्ष 1999 में अजय देवगन को अपने पिता वीरू देवगन के बैनर तले बनी फिल्म हिंदुस्तान की कसम में काम करने का अवसर मिला।
हालांकि फिल्म टिकट खिड़की पर असफल साबित हुयी लेकिन फिल्म में उन्होंने अपने निभाये दोहरे किरदार से दर्शकों को रोमांचित कर दिया।
वर्ष 2000 में अजय देवगन ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया और ‘राजू चाचा’ का निर्माण किया लेकिन कमजोर पटकथा और निर्देशन के कारण टिकट खिड़की पर नकार दी गयी ।
इसके बाद उन्होंने 2008 में फिल्म यू मी और हम का निर्माण और निर्देशन किया।
वर्ष 2009 में अजय देवगन के बैनर तले बनी फिल्म ऑल दी बेस्ट प्रदर्शित हुयी जो टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी।

    वर्ष 2002 में अजय देवगन के सिने कैरियर की एक और सुपरहिट फिल्म कंपनी प्रदर्शित हुयी।
राम गोपाल वर्मा के बैनर तली बनी इस फिल्म में वह अंडर व्लर्ड डॉन की भूमिका में दिखाई दिये।
इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह फिल्म फेयर के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार के लिये नामांकित भी किये गये।
वर्ष 2002 में ही अजय देवगन के सिने कैरियर की एक और महत्वपूर्ण फिल्म ‘द लीजेंड ऑफ भगत सिंह’ प्रदर्शित हुयी।
राज कुमार संतोषी निर्देशित इस फिल्म में उन्होंने ‘भगत सिंह’ के किरदार को रूपहले पर्दे पर जीवंत कर दिया।
इस फिल्म के लिये उन्हें फिल्मफेयर के समीक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
साथ ही वह अपने सिने कैरियर में दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किये गये।

वर्ष 2003 में अजय के सिने कैरियर की एक और महत्वपूर्ण फिल्म ‘गंगाजल’ प्रदर्शित हुयी।
बिहार में आपराधिक पृष्ठभूमि पर बनी प्रकाश झा की इस फिल्म में अजय देवगन ने पुलिस अधीक्षक की भूमिका निभाई जो प्रांत में फैले अपराध को समाप्त कर देता है।
वर्ष 2006 में उनके सिने कैरियर की एक और सुपरहिट फिल्म ‘ओमकारा’ प्रदर्शित हुयी।
विशाल भारद्धाज के निर्देशन में शेक्सपियर के बहुचर्चित नाटक ओथेलो पर आधारित इस फिल्म में वह टाइटल भूमिका में दिखाई दिये और अपने संजीदा अभिनय से दर्शकों के साथ-साथ समीक्षकों का दिल जीतने में सफल रहे और फिल्म को सुपरहिट बना दिया ।

इसके बाद उन्होंने गोलमाल रिटर्नस, अतिथि तुम कब जाओगे, राजनीत, वंस अपोन ए टाइम इन मुंबई दुबारा, गोलमाल 3, सिंघम, बोल बच्चन, सन ऑफ सरदार, सिंघम रिटर्न्स जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में भी काम किया।
जय के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी अभिनेत्री काजोल के साथ खूब जमी।
वर्ष 1999 में अजय और काजोल ने शादी कर ली।
वर्ष 2017 में अजय देवगन के करियर की सर्वाधिक सुपरहिट फिल्म गोलमाल अगेन प्रदर्शित हुयी।
फिल्म ने 200 करोड़ से अधिक की कमाई की।
इस वर्ष अजय की फिल्म रेड प्रदर्शित हुयी है।
फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुयी।

वर्ष 2018 में अजय देवगन की फिल्म रेड और वर्ष 2019 में टोटल धमाल प्रदर्शित हुयी है।
दोनो ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुयी।
अजय देवगन इन दिनों तानाजी और दे दे प्यार दे जैसी फिल्मों में काम कर रहे हैं।

 

दक्षिण

दक्षिण भारतीय फिल्म में खलनायक का किरदार निभायेंगे शाहरूख खान!

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान दक्षिण भारतीय फिल्म थालापैथी 63 में खलनायक
का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं।

रणबीर

रणबीर के साथ लिव-इन में रहने नहीं जा रही है आलिया

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट ने कहा है कि वह रणबीर कपूर के साथ लिव-इन में रहने नही जा रही है।

उड़नपरी

उड़नपरी का किरदार निभायेगी कैटरीना कैफ!

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ सिल्वर स्क्रीन पर उड़नपरी पी.टी.उषा का किरदार निभाती
नजर आ सकती है।

भारत

भारत में सलमान अपने लुक को लेकर काफी सजग थे : जफर

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड निर्देशक अली अब्बास जफर का कहना है कि सलमान खान फिल्म भारत में अपने लुक को लेकर बहुत सजग थे।

करण

करण जौहर की फिल्म से डेब्यू करना चाहती है खुशी कपूर

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी और फिल्मकार बोनी कपूर की बेटी खुशी कपूर ,करण जौहर की फिल्म से डेब्यू करना चाहती है।

बॉक्स

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की असफलता पर स्ट्रेस नही लेती सोनाक्षी

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड की दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा का कहना है कि वह बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की असफलता पर स्ट्रेस नही लेती है।

अभी

अभी डेब्यू नहीं कर रही है न्यासा :काजोल

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) जानी मानी अभिनेत्री काजोल का कहना है कि उनकी बेटी न्यासा अभी बॉलीवुड में डेब्यू नही कर रही है।

तेरे

तेरे नाम का सीक्वल बनायेंगे सतीश कौशिक

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक सतीश कौशिक अपनी सुपरहिट फिल्म तेरे नाम का सीक्वल बनाने जा रहे हैं।

शाहरूख

शाहरूख को पसंद आया भारत का ट्रेलर

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान को सलमान खान की आने वाली फिल्म भारत का ट्रेलर पसंद आया है।

सत्यजीत

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

..पुण्यतिथि 23 अप्रैल ..
मुंबई 22 अप्रैल(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में युगपुरूष सत्यजीत रे को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित फिल्मों के जरिये भारतीय सिनेमा जगत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान दिलाई।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

..पुण्यतिथि 23 अप्रैल ..
मुंबई 22 अप्रैल(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में युगपुरूष सत्यजीत रे को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित फिल्मों के जरिये भारतीय सिनेमा जगत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान दिलाई।

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी.आर. चोपड़ा

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी.आर. चोपड़ा

..जन्मदिवस 22 अप्रैल  ..
मुम्बई 21 अप्रैल (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में बी.आर.चोपड़ा को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जायेगा जिन्होंने पारिवारिक, सामाजिक और साफ-सुथरी फिल्में बनाकर लगभग पांच दशक तक सिने प्रेमियों के दिलो-दिमाग में
अपनी खास जगह बनायी।

image