Monday, Jul 13 2020 | Time 08:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मेक्सिको में कोरोना के कारण पहली छमाही में नौ लाख से अधिक नौकरी गई
  • निकारागुआ के विला एल कारमेन पर भूकंप के तेज झटके
  • अमेरिका की नौसेना के सैन डिएगो बेस पर आग लगने से 21 लोग घायल
  • ब्राजील में कोरोना मृतकों की संख्या 72100 पहुंची
  • तुर्की में कोरोना के 1012 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 212,993 हुई
  • यमन में हवाई हमले में 10 नागरिकों की मौत-हाउती टीवी
  • चीन में बाढ़ से 141 लोगों की मौत
  • महाराष्ट्र के प्रत्येक जिले में होगी कोरोना प्रयोगशाला- ठाकरे
मनोरंजन » जानीमानी हस्तियों का जन्म दिन


खूबसूरती और अभिनय का अनूठा संगम है माला सिन्हा

खूबसूरती और अभिनय का अनूठा संगम है माला सिन्हा

.....जन्मदिवस 11 नवंबर .....
मुम्बई 10 नवम्बर (वार्ता) बॉलीवुड में माला सिन्हा उन गिनी चुनी चंद अभिनेत्रियों में शुमार की जाती है जिनमें खूबसूरती के साथ बेहतरीन अभिनय का भी संगम देखने को मिलता है।

11 नवम्बर 1936 को जन्मी माला सिन्हा अभिनेत्री नर्गिस से प्रभावित थीं और बचपन से ही उन्हीं की तरह अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखा करती थीं।
उनका बचपन का नाम आल्डा था और स्कूल में पढने वाले बच्चे उन्हें ..डालडा.. कहकर पुकारा करते थे।
बाद में उन्होंने अपना नाम अल्बर्ट सिन्हा की जगह माला सिन्हा रख लिया।

स्कूल के एक नाटक में माला सिन्हा के अभिनय को देखकर बंगला फिल्मों के जाने-माने निर्देशक अर्धेन्दु बोस उनसे काफी प्रभावित हुए और उनसे अपनी फिल्म..रोशनआरा.. में काम करने की पेशकश की।
उस दौरान उन्होंने कई बंगला फिल्मों में काम किया।
एक बार बंगला फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में उन्हें मुम्बई जाने का अवसर मिला।
मुम्बई में उनकी मुलाकात केदार शर्मा से हुई जो उन दिनो .. रंगीन रातें.. के निर्माण में व्यस्त थे।
उन्होंने माला सिन्हा को अपनी फिल्म के लिये चुन लिया।

वर्ष 1954 में माला सिन्हा को प्रदीप कुमार के बादशाह, हेमलेट जैसी फिल्मों में करने का मौका मिला लेकिन दुर्भाग्य से उनकी दोनों फिल्में टिकट खिड़की पर विफल साबित हुई।
माला सिन्हा के अभिनय का सितारा निर्माता-निर्देशक गुरुदत्त की 1957 में प्रदर्शित क्लासिक फिल्म ..प्यासा .. से चमका।
इस फिल्म की कामयाबी ने उन्हें .स्टार. के रूप में स्थापित कर दिया।
इस बीच उन्होंने राजकपूर के साथ परवरिश, फिर सुबह होगी देवानंद के साथ लव मैरिज और शम्मी कपूर के साथ फिल्म उजाला में हल्के-फुल्के रोल कर अपनी बहुआयामी प्रतिभा का परिचय दिया।

वर्ष 1959 में प्रदर्शित बी.आर.चोपड़ा निर्मित फिल्म ‘धूल का फूल’ के हिट होने के बाद फिल्म इंडस्ट्री में माला सिन्हा के नाम के डंके बजने लगे और बाद में एक के बाद एक कठिन भूमिकाओं को निभाकर वह फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गयी।
धूल का फूल निर्देशक के रूप में यश चोपड़ा की पहली फिल्म थी।
वर्ष 1961 में माला सिन्हा को एक बार फिर से बी.आर.चोपड़ा की ही फिल्म ‘धर्मपुत्र’ में काम करने का अवसर मिला जो उनके सिने कैरियर की एक और सुपरहिट फिल्म साबित हुई।
इसके बाद 1963 माला सिन्हा ने बी.आर.चोपड़ा की सुपरहिट फिल्म ..गुमराह.. में भी काम किया।

महान अभिनेता दिलीप कुमार के साथ अभिनय करना किसी भी अभिनेत्री का सपना हो सकता है लेकिन माला सिन्हा ने उनके साथ फिल्म ..राम और श्याम.. में काम करने के लिये इसलिए इन्कार कर दिया कि वह फिल्म में अभिनय को प्राथमिकता देती थी न कि शोपीस के रूप में काम करने को।
माला सिन्हा के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी अभिनेता धमेन्द्र के साथ खूब जमी।
सबसे पहले यह जोड़ी 1962 में प्रदर्शित फिल्म ..अनपढ़ ..में पसंद की गयी।
इसके बाद इस जोड़ी ने पूजा के फूल ,जब याद किसी की आती है,नीला आकाश,बहारे फिर भी आयेगी और आंखे 1968 जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम किया ।
धर्मेन्द्र के अलावा उनकी जोड़ी विश्वजीत,प्रदीप कुमार और मनोज कुमार के साथ भी पसंद की गयी ।

हिन्दी फिल्मों के अलावा माला सिन्हा ने अपने दमदार अभिनय से बंगला फिल्मों में भी दर्शको का भरपूर मनोरंजन किया ।
वर्ष 1958 में प्रदर्शित बंगला फिल्म ..लुकोचुरी ..माला सिन्हा के सिने करियर की एक और
सुपरहिट फिल्म साबित हुई।
इस फिल्म में उन्हें किशोर कुमार के साथ काम करने का मौका मिला।
बंगला फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास में यह फिल्म सर्वाधिक हास्य से परिपूर्ण सुपरहिट फिल्मों में शुमार की जाती है।
आज भी जब कभी कोलकाता में छोटे पर्दे पर यह फिल्म दिखाई जाती है, दर्शक इसे देखने का मौका नही छोड़ते ।

वर्ष 1966 में माला सिन्हा को नेपाली फिल्म ..माटिघर..में काम करने का मौका मिला।
फिल्म के निर्माण के दौरान उनकी मुलाकात फिल्म के अभिनेता ..सी.पी.लोहानी .से हुई जो इस फिल्म के अभिनेता थे।
फिल्म में काम करने के दौरान माला सिन्हा को उनसे प्रेम हो गया और बाद में दोनों ने शादी कर ली ।
माला सिन्हा ने लगभग 100 फिल्मों में काम किया है।
वह इन दिनों बॉलीवुड में सक्रिय नहीं है।

 

कोरोना

कोरोना से संक्रमित अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर

मुंबई,12 जुलाई (वार्ता) कोरोना से संक्रमित सुपरस्टार अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर है।

खुद

खुद बनाया करियर : अभय देओल

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अभय देओल ने फिल्म इंडस्ट्री में नपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) को लेकर कहा है कि उन्होंने परिवार के साथ पहली फिल्म में काम किया लेकिन उसके बाद उन्होंने अपना करियर खुद बनाया।

फार्म

फार्म हाउस पर फसल उगा रहे हैं सलमान

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान इन दिनों अपने फार्म हाउस पर फसल उगा रहे हैं।

प्रदीप

प्रदीप पांडे चिंटू की ‘दोस्ताना’ का फर्स्ट लुक आउट

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) भोजपुरी सिनेमा के चॉकलेटी हीरो प्रदीप पांडे चिंटू की आने वाली फिल्म ‘दोस्ताना ’का फर्स्ट लुक आउट हो गया है।

अभिनेता

अभिनेता बनना चाहते थे प्रकाश मेहरा

जन्मदिन 13 जुलाई
मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में प्रकाश मेहरा ने अपनी सुपरहिट फिल्मों के जरिये दर्शकों के दिलों पर खास पहचान बनायी है लेकिन करियर के शुरुआती दौर में वह अभिनेता बनना चाहते थे।

2021

2021 का इंतजार कर रही हैं करीना

मुंबई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री करीना कपूर वर्ष 2020 से परेशान हो गयी है और वर्ष 2021 का इंतजार कर रही है।

धाकड़

धाकड़ बनने की तैयारी कर रही है कंगना रनौत

मुंबई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत अपनी आने वाली फिल्म धाकड़ की तैयारी में लग गयी हैं।

एक

एक हजार के लिये जगदीप ने सूरमा भोपाली का रोल छोड़ने का किया था इरादा

मुंबई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के दिग्गज हास्य अभिनेता जगदीप ने फिल्म शोले में अपने निभाये किरदार सूरमा भोपाली के जरिये दर्शकों के दिलों पर अमिट पहचान बनायी है लेकिन एक हजार रुपये के लिये उन्होंने इस किरदार को छोड़ने का मन बना लिया था।

बॉलीवुड

बॉलीवुड के जुबली कुमार थे राजेन्द्र कुमार

...पुण्यतिथि 12 जुलाई  ...
मुम्बई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में जुबली कुमार के नाम से मशहूर राजेन्द्र कुमार ने कई सुपरहिट फिल्मों में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया लेकिन उन्हें अपने करियर के शुरुआती दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

खलनायकी

खलनायकी को नये अंदाज में पेश किया प्राण ने

..पुण्यतिथि 12 जुलाई  ..
मुंबई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में प्राण ऐसे अभिनेता थे, जिन्होंने पचास और सत्तर के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर खलनायकी के क्षेत्र में एकछत्र राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

जगदीप के निधन से एक और नगीना खो दिया : अमिताभ

जगदीप के निधन से एक और नगीना खो दिया : अमिताभ

मुंबई, 09 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने हास्य अभिनेता जगदीप के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुये कहा कि उनके निधन से हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री एक और नगीना खो दिया है।

खलनायकी को नये अंदाज में पेश किया प्राण ने

खलनायकी को नये अंदाज में पेश किया प्राण ने

..पुण्यतिथि 12 जुलाई  ..
मुंबई 11 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में प्राण ऐसे अभिनेता थे, जिन्होंने पचास और सत्तर के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर खलनायकी के क्षेत्र में एकछत्र राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

.जन्मदिन 25 जून .
मुंबई, 25 जून (वार्ता) बॉलीवुड में करिश्मा कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

image