Saturday, Jul 4 2020 | Time 11:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • स्वामी विवेकानंद को हर्षवर्धन ने दी श्रद्धांजलि
  • महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु में संक्रमितों की संख्या एक लाख के पार
  • दुनिया भर में 1 10 करोड़ कोरोना संक्रमित, 5 24 लाख से अधिक की मौत
  • ढाई हजार साल बाद भी उतने ही प्रासंगिक हैं भगवान बुद्ध के उपदेश: कोविंद
  • देश में कोरोना के रिकॉर्ड 22,771 नये मामले
  • बुद्ध के विचारों से जुड़ें युवा : मोदी
  • हर्षवर्धन ने धम्म चक्र दिवस की शुभकामनाएं दीं
  • दुनिया के सामने आज कई चुनौतियाँ, बौद्ध धर्म के आदर्शों से उनके स्थायी समाधान संभव : मोदी
  • जर्मनी में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 96 लाख हुई
  • भगवान बुद्ध के उपदेश पहले भी प्रासंगिक थे, आज भी प्रासंगिक हैं और भविष्य में भी प्रासंगिक रहेंगे : मोदी
  • देश में कुल 1,087 कोरोना टेस्ट लैब
  • एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 2 42 लाख से अधिक नमूनों की जांच
मनोरंजन » जानीमानी हस्तियों का जन्म दिन


दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया माधुरी दीक्षित ने

दिलकश अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया माधुरी दीक्षित ने

..जन्मदिन 15 मई  ..
मुंबई, 14 मई (वार्ता) बॉलीवुड में माधुरी दीक्षित का नाम एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में लिया जाता है जिन्होंने अपनी दिलकश अदाओं से लगभग चार दशक से दर्शकों के दिलो में अपनी खास पहचान बनायी है।

माधुरी दीक्षित का जन्म 15 मई 1967 को मुंबई में एक मध्यमवर्गीय मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ।
उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई से हासिल की।
इसके बाद उन्होंने मुंबई यूनिवर्सिटी में ..माइक्राबॉयलोजिस्ट .. बनने के लिये दाखिला ले लिया।
इस बीच उन्होंने लगभग आठ वर्ष तक कथक नृत्य की शिक्षा भी हासिल की।

माधुरी दीक्षित ने अपने सिने कैरियर की शुरूआत 1984 में राजश्री प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म ..अबोध.. से की लेकिन कमजोर पटकथा और निर्देशन के कारण फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से नकार दी गयी।
वर्ष 1984 से 1988 तक वह फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाने के लिये संघर्ष करती रही।

..अबोध .के बाद उन्हें जो भी भूमिका मिली वह उसे स्वीकार करती चली गयी।
इस बीच उन्होने स्वाति .आवारा बाप .जमीन .मोहरे .हिफाजत और उत्तर दक्षिण .जैसी कई दोयम दर्जे की फिल्मों में अभिनय किया लेकिन इनमें से कोई भी फिल्म बॉक्स आफिस पर सफल नहीं हुयी।
वर्ष 1988 में उन्हें विनोद खन्ना के साथ फिल्म ..दयावान..में काम करने का मौका मिला लेकिन इससे उन्हें कुछ खास फायदा नहीं मिला।

माधुरी दीक्षित की किस्मत का सितारा वर्ष 1988 में प्रदर्शित फिल्म ..तेजाब ..से चमका।
फिल्म में माधुरी दीक्षित ने अनिल कपूर की प्रेयसी की भूमिका निभायी थी ।
फिल्म में उनपर फिल्माया यह गीत ..एक दो तीन ..उन दिनों श्रोताओ के बीच छा गया था।
फिल्म की सफलता के बाद माधुरी दीक्षित फिल्म इंडस्ट्री में अपनी सही पहचान पाने में कुछ हद तक कामयाब हो गयी ।

वर्ष 1990 में माधुरी दीक्षित के सिने करियर की एक और महत्वपूर्ण फिल्म ..दिल.. प्रदर्शित हुयी।
फिल्म में माधुरी दीक्षित और आमिर खान की जोड़ी को सिने दर्शको ने काफी पसंद किया।
फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी साथ ही फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये माधुरी दीक्षित को अपने सिने करियर का पहला फिल्म फेयर पुरस्कार प्राप्त हुआ।

वर्ष 1991 माधुरी दीक्षित के सिने करियर का अहम वर्ष साबित हुआ।
इस वर्ष उनके अभिनय के नये रंग दर्शको को देखने को मिले।
इस वर्ष उनकी 100 डेज .साजन .प्रहार.जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयी।
इन फिल्मों की सफलता के बाद माधुरी दीक्षित शोहरत की बुंलदियों पर जा पहुंची ।

वर्ष 1992 में माधुरी दीक्षित की एक और अहम फिल्म फिल्म ..बेटा ..प्रदर्शित हुयी।
वर्ष 1994 में राजश्री प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म ..हम आपके है कौन ..माधुरी दीक्षित की सर्वाधिक सुपरहिट फिल्म में शुमार की जाती है।
पारिवारिक पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म में उनकी जोड़ी सलमान खान के साथ काफी पसंद की गयी।
इस फिल्म में उन पर फिल्माया गीत ..दीदी तेरा देवर दीवाना.. उन दिनों श्रोताओं के बीच क्रेज बन गय था।
फिल्म ने सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित किये और आल टाइम ग्रेटेस्ट हिट्स में शुमार हो गयी।

नब्बे के दशक में माधुरी दीक्षित पर यह आरोप लगने लगे कि वह केवल ग्लैमरस किरदार ही निभाने में सक्षम है।
इस छवि से बाहर निकालने में निर्माता..निर्देशक प्रकाश झा ने उनकी मदद की और उन्हें लेकर फिल्म ..मृत्युदंड..का निर्माण किया।
इस फिल्म में उन्होंने एक ऐसी महिला का किरदार निभाया. जो अपने पति की मौत का बदला लेती है ।

वर्ष 2002 में माधुरी दीक्षित को शरत चंद्र के मशहूर उपन्यास.देवदास.पर बनी फिल्म में काम करने का अवसर मिला।
संजय लीला भंसाली की इसी नाम से बनी फिल्म में .चन्द्रमुखी. के अपने किरदार से उन्होंने दर्शको का दिल जीत लिया और अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी।

माधुरी दीक्षित के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी अभिनेता अनिल कपूर साथ काफी पसंद की गयी।
माधुरी दीक्षित को पांच बार फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।
इसके अलावा भारतीय सिनेमा में उनके योगदान को देखते हुए 2008 में उन्हें पदभूषण से अलंकृत किया गया।

वर्ष 2002 में प्रदर्शित फिल्म .हम तुम्हारे है सनम ..के बाद माधुरी दीक्षित ने फिल्म इंडस्ट्री से किनारा कर लिया और वैवाहिक जीवन बिताने लगी।
वर्ष 2007 में फिल्म ..आजा नच ले ..के जरिये उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में अपने सिने कैरियर की दूसरी पारी शुरू की लेकिन इस फिल्म की उन सफलता के बाद उन्होंने एक बार फिर से फिल्म इंडस्ट्री से किनारा कर लिया।
माधुरी दीक्षित ने वर्ष 2013 में प्रदर्शित फिल्म ये जवानी है दीवानी से इंडस्ट्री में कम बैक किया।
इसके बाद माधुरी ने डेढ़ इश्किया ,गुलाब गैंग ,टोटल धमाल और कलंक जैसी फिल्मों में काम किया है।

 

ऋतिक

ऋतिक के डांस की कायल थी सरोज खान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की लीजेन्डरी कोरियोग्राफर सरोज खान ने लोगों को अपनी कोरियोग्राफी से मंत्रमुग्ध किया लेकिन वह ऋतिक रौशन की डांस शैली की कायल थीं।

बॉलीवुड

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन

मुंबई,03 जुलाई (वार्ता) बाॅलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का शुक्रवार तड़के हृदयाघात से बांद्रा के गुरु नानक अस्पताल में निधन हो गया।

सरोज

सरोज खान के निधन से भावुक हुये सुभाष घई

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के दूसरे शो मैन कहे जाने वाले सुभाष घई दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान के निधन से भावुक हो गये हैं।

सरोज

सरोज खान ने फिल्मफेयर अवार्ड में कोरियोग्राफरों को दिलायी पहचान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में डांस की मल्लिका के नाम से मशहूर सरोज खान पहली कोरियोग्राफर थी जिन्हें फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया।

माधुरी

माधुरी नहीं होती तो सरोज नहीं होती

मुंबई, 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की धकधक गर्ल माधुरी दीक्षित की फेवरेट कोरियोग्राफर सरोज खान का कहना था कि यदि माधुरी दीक्षित नहीं होती तो वह भी नहीं होती।

‘साइकल

‘साइकल गर्ल’ ज्योति के पिता का किरदार निभायेंगे संजय मिश्रा

मुंबई 02 जुलाई (वार्ता) बिहार की बेटी ‘साइकल गर्ल’ ज्योति पर बनने वाली फिल्म में संजय मिश्रा , ज्योति के पिता का किरदार निभाते नजर आयेंगे।

नॉनडांसर्स

नॉनडांसर्स को डांस कराना चुनौती मानती थी सरोज खान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) अपने इशारों पर बॉलीवुड सितारों को नचाने वाली दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान को नॉनडांसर्स को डांस कराने में अधिक मजा आता थ और वह इसे चुनौती मानती थी।

बाल

बाल कलाकार से कोरियोग्राफर बनीं सरोज खान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बाल कलाकार के तौर पर अपने करियर की शुरूआत कर बॉलीवुड में सभी स्टार्स को अपनी ताल पर नचाने वाली सरोज खान ने कोरियोग्राफर के रूप में अपनी सशक्त पहचान बनायी।

सरोज

सरोज खान के निधन पर बॉलीवुड सितारों ने जताया शोक

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान के निधन पर बॉलीवुड के सितारों ने शोक व्यक्त किया है।

सरोज

सरोज खान ने अमिताभ बच्चन को दिया था एक रुपये का शगुन

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान ने महानायक अमिताभ बच्चन को एक रुपये शगुन के तौर पर दिया था जिसे वह उपलब्धि मानते हैं।

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

.. पुण्यतिथि 03 जुलाई  ..
मुंबई 02 जुलाई (वार्ता) हिन्दी सिनेमा जगत में यूं तो अपने दमदार अभिनय से कई सितारों ने दर्शकों के दिलों पर राज किया लेकिन एक ऐसा भी सितारा हुआ जिसने न सिर्फ दर्शकों के दिल पर राज किया बल्कि फिल्म इंडस्ट्री ने भी उन्हें ..राजकुमार.. माना. वह थे ..संवाद अदायगी के बेताज बादशाह कुलभूषण पंडित उर्फ राजकुमार .. ।

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

.जन्मदिन 25 जून .
मुंबई, 25 जून (वार्ता) बॉलीवुड में करिश्मा कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

image