Tuesday, Aug 20 2019 | Time 21:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रामबिलास शर्मा ने केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री से बातचीत की
  • ई-वीजा शुल्क को बनाया गया आकर्षक-पटेल
  • चिदम्बरम के घर से बैरंग लौटी सीबीआई और ईडी की टीम
  • सहारनपुर पत्रकार हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी समेत तीन गिरफ्तार
  • जम्मू-कश्मीर के लोगों को विश्वास में लिए बिना अनुच्छेद 370 हटाया गया: मुकुल संगमा
  • भारत के बारे में पर्यटकों की राय पता लगाने का निर्देश
  • वन महोत्सव के तहत कोविंद ने किया पौधारोपण
  • आजाद को जम्मू हवाई अड्डे से वापस किया गया
  • मजदूरी मांगने पर मजदूर की गोली मारकर हत्या
  • दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ा
  • डायमंड ब्लाक से निकले हीरों का अवलोकन करने पहुंची छह कंपनियां
  • राखी गढ़ी के बारे में हरियाणा सरकार के प्रस्ताव को केन्द्र की सहमति
  • झांसी में कांग्रेसियों ने किया राजीव गांधी को याद
  • भाखड़ा बांध का जल-स्तर दो फीट और बढ़ सकता है
  • धोनी के रिकॉर्ड की बराबरी करने से एक जीत दूर विराट
दुनिया


पाकिस्तान में पांच आईएस आतंकवादी गिरफ्तार

कराची, 15 अप्रैल (शिन्हुआ) पाकिस्तान के कराची में तलाश अभियान के दौरान सोमवार को आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़े पांच आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया।
पुलिस के मुताबिक शहर के गुलशन-ए-मयमार इलाके में आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद आईएस आतंकवादियों के ठिकाने पर छापेमारी की गयी थी।
गिरफ्तार पांच आतंकवादियों के पास से हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किये गये। उन पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करके पाकिस्तानी युवाओं को कट्टरता और भड़काने के आरोप लगाये गये हैं।
इस मामले की जांच तथा गिरफ्तार आतंकवादियों से पूछताछ के लिए उन्हें अज्ञात ठिकाने पर ले जाया गया है।
यह छापेमारी बलूचिस्तान प्रांत में आईएस की ओर से किये गये फिदायीन हमले के दो दिन बाद की गयी। क्वेटा के हजारगंजी सब्जी मंडी में शुक्रवार को हुए भीषण विस्फोट में 20 लोगाें की मौत हो गयी और 48 अन्य घायल हो गये।
अाधिकारिक सूत्रों के अनुसार विस्फोट में हजारा समुदाय के आठ, फ्रंटियर कोर का एक जवान और दो बच्चों समेत 20 लोग मारे गये।
इससे पहले बलूचिस्तान के सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि आईएस ने हाल ही में घोषणा की कि सीरिया में हार का बदला लिया जाएगा। अधिकारियों को यह खुफिया जानकारी मिली है कि सीरिया में हार के बाद लौटने वाले स्थानीय आतंकवादियों के लिए पाकिस्तान सबसे आसान लक्ष्य होगा।
शुक्रवार के हमले के बाद देश भर मेें संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है तथा सोमवार की छापेमारी को आईएस के संभावित हमले को नाकाम करने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है।
संजय.श्रवण
शिन्हुआ
image