Saturday, Sep 21 2019 | Time 04:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इराक विस्फोट से नौ की मौत, 4घायल
  • इराक के कर्बला में विस्फोट, 5 की मौत
  • गिरिडीह से नक्सली गिरफ्तार
  • भारत-मंगोलिया सिर्फ रणनीतिक साझेदार ही नहीं, आध्यात्मिक पड़ोसी भी हैं: कोविंद
दुनिया


चंद्रयान..2 इसरो का ऐतिहासिक प्रयास: नामिरा सलीम

चंद्रयान..2 इसरो का ऐतिहासिक प्रयास: नामिरा सलीम

इस्लामाबाद,11 सितम्बर (वार्ता) पाकिस्तान की पहली अंतरिक्ष यात्री नामिरा सलीम ने भारतीय अंतरिक्ष एवं अनुसंधान संगठन (इसरो) को चंद्रयान..2 मिशन के लिए बधाई देते हुए इसे चन्द्रमा पर पहुंचने के उसके प्रयास को ऐतिहासिक करार दिया है।

सुश्री सलीम ने डिजिटल विज्ञान पत्रिका ‘साइंटिया’ को दिये एक बयान में कहा, “ मैं भारत और इसरो को उसके चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर विक्रम लैंडर की सफलतापूर्वक लैंडिग के ऐतिहासिक प्रयास के लिए बधाई देती हूं।”

उन्होंने कहा, “ चंद्रयान-2 मिशन दक्षिण एशिया के लिए एक बड़ी छलांग है, इस पर न केवल इस क्षेत्र बल्कि पूरे विश्व के अंतरिक्ष क्षेत्र को गर्व है।”

गौरतलब है सात और आठ सितंबर की मध्य रात्रि तक विक्रम लैंडर चंद्रमा से महज 2.1 किलोमीटर पहले तक सामान्य कार्य रहा था, इसके बाद इसरो से इसका संपर्क टूट गया था।

सुश्री सलीम ने कहा, “ दक्षिण एशिया के अंतरिक्ष क्षेत्र में क्षेत्रीय विकास उल्लेखनीय है और यह बात कोई मायने नहीं रखती कि कौन देश इसकी अगुवाई कर रहा है .. अंतरिक्ष में सभी राजनीतिक सीमाएं ध्वस्त हो जाती हैं।

वह पहली पाकिस्तानी अंतरिक्ष यात्री हैं जिन्होंने उत्तर और दक्षिण ध्रुव की यात्रा की। उन्हें एशिया की एवरेस्ट की चोटी से स्काईडाइव करने का श्रेय भी प्राप्त है।

इसरो का चंद्रयान..2 चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर उतर जाता तो भारत चांद पर सफलतापूर्वक उतरने वाला अमेरिका, रूस और चीन के बाद विश्व का चौथा देश बन जाता जबकि दक्षिण ध्रुव पर उतरने वाला वह पहला देश होता।

मिश्रा.श्रवण

वार्ता

image