Friday, Dec 6 2019 | Time 23:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इम्फाल में शॉपिंग मॉल के पास विस्फोट
  • कोहली की विराट पारी से भारत की रिकॉर्ड जीत
  • कोहली की विराट पारी से भारत की रिकॉर्ड जीत
  • पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष में 18 की मौत, 124 घायल : रिपोर्ट
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • माेदी ने मॉरीशस के प्रधानमंत्री से की मुलाकात
  • हमारी विचारधारा की हमारी शक्ति है : ममता
  • यूपीपीसीएल भविष्य निधि मामले में ईओडब्लू ने की सात लोगो की गिरफ्तारी
  • राजस्व की क्षति पहुंचाने वालों को चिन्ह्ति कर उनके विरुद्ध हो कार्रवाई :योगी
  • बिहार में बलात्कारियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त : राबड़ी
  • गिफ्ट सिटी में बैंक ऑफ अमेरिका के ग्लोबल बिजनेस सर्विसेज सेंटर का उद्घाटन
  • आउटसोर्सिग से हो रही भर्तियों पर रोक मामले में जवाबी हलफनामें में मिला समय
India


जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधों को हटाने पर उच्चतम न्यायालय का निर्देश देने से इन्कार

जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधों को हटाने पर उच्चतम न्यायालय का निर्देश देने से इन्कार

नयी दिल्ली, 13 अगस्त (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के बाद राज्य में लागू सभी प्रतिबंधों को हटाने के लिए केंद्र और जम्मू-कश्मीर को तुरंत कोई निर्देश देने से मंगलवार को इन्कार कर दिया।
न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की अगुवाई वाली पीठ कांग्रेस कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। शीर्ष न्यायालय ने कहा कि वह राज्य में स्थिति सामान्य होने की प्रतीक्षा करेगी और मामले पर दो सप्ताह बाद फिर सुनवाई होगी।
पीठ ने कहा कि रातों-रात हालात सामान्य नहीं हो सकते। पीठ ने एटर्नी जनरल के के वेणुगोपाल से सवाल किया कि स्थिति सामान्य होने में कितना समय लगेगा। श्री वेणुगोपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति का केंद्र और जायजा ले रही है। पीठ ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की वर्तमान स्थिति “बहुत संवदेनशील” है और क्षेत्र में हालात सामान्य होने के लिए कुछ समय दिया जाना चाहिए। पीठ ने यह भी कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि राज्य में जनहानि नहीं होनी चाहिए।
पूनावाला ने अपनी याचिका में अनुच्छेद 370 को हटाये जाने को लेकर दायर अपनी याचिका में कहा था कि वह अनुच्छेद 370 के संबंध में कोई राय जाहिर नहीं कर रहे हैं लेकिन वह चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर से कर्फ्यू और पाबंदियां तथा फोन लाइन, इंटरनेट और समाचार चैनल का प्रसारण रोके जाने समेत कई कड़े कदम वापस लिए जायें।
मिश्रा.श्रवण
वार्ता

More News
रेणुका सिंह गिनायेंगी 100 दिन की उपलब्धि

रेणुका सिंह गिनायेंगी 100 दिन की उपलब्धि

06 Dec 2019 | 9:54 PM

नयी दिल्ली 06 दिसंबर (वार्ता) जनजातीय मामलों की केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह सरूता आदिवासी समाज का सशक्त करने वाली ‘प्रधानमंत्री वन धन योजना’ की 100 दिन की उपलब्धियां घोषित करेंगी।

see more..
संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव : मोदी

संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव : मोदी

06 Dec 2019 | 9:01 PM

नयी दिल्ली 06 दिसम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समाज और देश के विकास के लिए संवाद को महत्वपूर्ण बताते हुए आज कहा कि संवाद के जरिये ही बेहतर भविष्य की नींव रखी जाती है।

see more..
छोटे कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों के पुलिस स्टेशन अव्वल

छोटे कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों के पुलिस स्टेशन अव्वल

06 Dec 2019 | 9:29 PM

नयी दिल्ली 06 दिसम्बर (वार्ता) केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुलिसकर्मियों के पास संसाधन होना तो जरूरी है ही उनमें अपराधों को रोकने और राष्ट्र सेवा के प्रति समर्पण तथा ईमानदारी होना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

see more..
image