Friday, Oct 30 2020 | Time 22:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईवीएम से चुनाव चिह्न हटाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका
  • गेल टी-20 में 1000 छक्कों के शिखर पर
  • रूस में कोरोना संक्रमण के रिकाॅर्ड 18,283 नये मामले
  • बिहार में चार समूहों पर आयकर का छापा
  • कोरोना गुजरात मामले दो अंतिम गांधीनगर
  • 969 नए मामले,1027 हुए स्वस्थ, सक्रिय मामलों कमी का सिलसिला जारी
  • रिलांयस का मुनाफा 28 फीसदी बढ़ा
  • रिलायंस का समेकित लाभ जुलाई-सितंबर तिमाही में 15 प्रतिशत घटा
  • फोटो कैप्शन पहला सैट
  • वित्त आयोग ने रिपोर्ट पर विचार-विमर्श पूरा किया
  • झारखंड में कोरोना के 323 नये संक्रमित मिले
  • बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर बुनिमो ने सांसदों को लिखा पत्र
  • केरल सरकार ने अभिनेत्री पर हमले के मामले में निचली अदालत की आलोचना की
  • गेल 99 रन, 1000 छक्के पूरे, पंजाब 185
  • गेल 99 रन, 1000 छक्के पूरे, पंजाब 185
राज्य » उत्तर प्रदेश


विद्यार्थी जीवन का शिल्पकार है शिक्षक : पटेल

विद्यार्थी जीवन का शिल्पकार है शिक्षक : पटेल

लखनऊ 06 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रविवार को शिक्षक का दर्जा समाज में सदैव से ही पूजनीय रहा है जो एक शिल्पकार के रूप में अपने विद्यार्थी का जीवन गढ़ता है।

उद्भव सोशल वेलफेयर सोसाइटी, बरेली द्वारा आयोजित ‘कोविड-19 महामारी एवं शिक्षक की भूमिका’ विषयक वेबिनार को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये सम्बोधित करते हुए श्रीमती पटेल ने कहा कि शिक्षक ही समाज की आधारशिला है। एक शिक्षक अपने जीवन के अन्त तक मार्गदर्शक की भूमिका अदा करता है और समाज को सही राह दिखाता रहता है। एक गुरू और शिक्षक अपने विद्यार्थियों को हर परिस्थिति और समस्याओं से निपटने की राह भी दिखाता है और आगे बढ़ने की प्रेरणा भी देता है।

उन्होने कहा कि आज के युग में शिक्षक की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। एक आदर्श शिक्षक के सभी व्यवहारों का असर उसके शिष्य पर पड़ता है। इसलिए शिक्षक को चाहिए कि वह अपने विषय की पाठ्यवस्तु को इतना सहज, सरल, सुगम, सुरूचिपूर्ण एवं आनन्ददायक बनाकर पढ़ाए, ताकि बच्चों को यह पता भी न चले कि उसने अपना पाठ कब याद कर लिया।

श्रीमती पटेल ने कहा कि अध्यापक बच्चों में देशप्रेम, अनुशासन और वसुधैव कुटुम्बकम् की भावना को विकसित करें।

उन्होने कहा कि कोविड-19 के कारण शिक्षण की क्रमबद्धता बाधित होने से शिक्षकों सहित देश के भावी कर्णधारों के समक्ष भविष्य का प्रश्न अत्यंत स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि इसीलिए शिक्षण प्रक्रिया में, ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था को लाया गया है। इसने शिक्षाशास्त्र के नए प्रारूपों को गति दी है। वास्तव में शिक्षक ही शिक्षा की वह धुरी है जो समस्त सुधारों और दूरगामी लक्ष्यों को जमीनी स्तर पर मूर्त रूप देता है।

राज्यपाल ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के अपने लाभ हैं। शिक्षकों की मदद करने और ई-लर्निंग को प्रोत्साहन देने के लिए शिक्षा की पहुंच और गुणवत्ता में सुधार के लिये निरंतर कार्य करना होगा। ई-पाठशाला विविध ई-पुस्तक आदि ऐसी ही शिक्षण सामग्री की पहुंच दूरस्थ अंचलों के छात्रों तक बनानी होगी।

प्रदीप

वार्ता

More News
रामराज्य की परिकल्पना को साकार कर रही है सरकार : योगी

रामराज्य की परिकल्पना को साकार कर रही है सरकार : योगी

30 Oct 2020 | 9:41 PM

चित्रकूट 30 अक्टूबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को पौराणिक नगरी चित्रकूट में कहा कि उनकी सरकार रामराज्य की परिकल्पना को साकार करते हुये सबका साथ सबका विकास की कार्ययोजना पर कार्य कर रही है।

see more..
image