Wednesday, Apr 24 2019 | Time 07:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रुस के खसान शहर में किम के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्ता दुरुस्त
  • उत्तर कोरिया के नेता किम पुतिन से बातचीत करने निजी ट्रेन से रवाना हुए
  • श्रीलंका हमले में 45 बच्चों की जान गई :यूनीसेफ
  • सउदी ने आतंकवाद फैलाने के आरोप में 37 नागरिकों को दी फांसी
  • अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति से की मुलाकात
  • रक्षा बलों के प्रमुखों को बदल सकते हैं श्रीलंका के राष्ट्रपति
  • मोरक्को पुलिस ने आईएस से जुड़े संदिग्ध को हिरासत में लिया
राज्य


तेलंगाना विस भंग,नयी सरकार के गठन तक राव रहेंगे कार्यवाहक मुख्यमंत्री

तेलंगाना विस भंग,नयी सरकार के गठन तक राव रहेंगे कार्यवाहक मुख्यमंत्री

हैदराबाद, 06 सितम्बर (वार्ता) राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन के तेलंगाना विधानसभा भंग करने की चंद्रशेखर राव मंत्रिमंडल की सिफारिश गुरुवार को तत्काल स्वीकार कर लेने से नवगठित राज्य की पहली सरकार का कार्यकाल चार साल तीन माह और चार दिनों में ही समाप्त हो गया।

राज्यपाल ने श्री के. चंद्रशेखर राव से नयी सरकार के गठन तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहने का आग्रह किया जिसे श्री राव ने स्वीकार कर लिया। विधान सभा के भंग होते ही तेलंगाना में समय से पहले चुनाव कराने का मार्ग प्रशस्त हो गया।

श्री राव की अध्यक्षता में हुई बैठक में विधानसभा भंग करने की सिफारिश संबंधी एक पंक्ति का प्रस्ताव पारित किया गया। इसके बाद श्री राव मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ राजभवन गये और उन्होंने श्री नरसिम्हन को प्रस्ताव की प्रति सौंपी।

तेलंगाना विधानसभा भंग होने से इसी वर्ष होने वाले मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम विधानसभा चुनावों के साथ राज्य में चुनाव कराने का मार्ग प्रशस्त हो गया।

आंध्रप्रदेश एवं तेलंगाना के राज्यपाल श्री नरसिम्हन के प्रधान सचिव हरप्रीत सिंह ने एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके बताया कि राज्यपाल ने श्री राव और उनकी मंत्रिपरिषद की विधानसभा भंग करने की सिफारिश स्वीकार कर ली है।

राज्य विधानसभा का कार्यकाल मई 2019 तक था और इसका चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ होने की उम्मीद थी।

श्रवण आशा

जारी.वार्ता

More News
कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

23 Apr 2019 | 10:43 PM

श्रीनगर, 23 अप्रैल (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद के बीच चलने वाली बस कारवां-ए-अमन लगातार आठवें सप्ताह नहीं चली। दोनों ओर फंसे हुए यात्रियों को उरी के कामन पोस्ट पर नियंत्रण रेखा के इस ओर अंतिम भारतीय सैन्य चौकी को पार करने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है

see more..
image