Sunday, Sep 23 2018 | Time 19:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर
  • एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू
  • भारत ने छह स्वर्ण के साथ जीता ट्रैक एशिया कप
  • वोट बैंक की राजनीति के कारण गरीबों के स्वास्थ्य की हुई अनदेखी : मोदी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • सरकार को आन्दोलनरत कर्मचारियों से करनी चाहिए बात-पायलट
  • पर्रिकर ही गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगें: अमित शाह
  • हरियाणा ने जम्मू-कश्मीर को तीन विकेट से हराया
  • महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’
  • हरियाणा, हिमाचल और पंजाब सहित कई राज्यों में मानसून सक्रिय
  • भारत अंडर-16 लड़कियों का दूसरे राउंड का सपना टूटा
  • राफेल कांग्रेस द्वारा प्रायोजित झूठा मुद्दा-माथुर
  • भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया
  • छत्तीसगढ़ के 40 लाख गरीबों को मिलेगी पांच लाख तक मुफ्त इलाज सुविधा
  • यूपी-ओड़िशा का मुकाबला बारिश की भेंट चढा
राज्य Share

बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट गिरफ्तार

बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट गिरफ्तार

अहमदाबाद, 05 सितंबर (वार्ता) गुजरात में पुलिस की अपराध अनुसंधान शाखा (सीआईडी-क्राइम) ने बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को लगभग दो दशक पुराने एक मामले में आज गिरफ्तार कर लिया।

सीआईडी-क्राइम के पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने यूनीवार्ता को बताया कि श्री भट्ट को एक अन्य पुलिसकर्मी के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पांच अन्य से पूछताछ की जा रही है। उन्हें राजस्थान के एक वकील के अपहरण के मामले में पकड़ा गया है।

राजस्थान के पाली के वकील शमशेरसिंह राजपुरोहित को मई 1996 में गुजरात के बनासकांठा की पुलिस ने पालनपुर के एक होटल से एक किलो अफीम की बरामदगी के मामले में पकड़ा था। पर होटल के मैनेजर ने उन्हें पहचाने से इंकार कर दिया जिसके बाद उन्हें छोड़ दिया गया। श्री राजपुरोहित ने बाद में राजस्थान में मामला दायर कर आरोप लगाया कि गुजरात हाई कोर्ट के तत्कालीन जज आर आर जैन के इशारे पर पुलिस ने उन्हें अगवा किया था ताकि जज की बहन की उस दुकान को खाली कराया जा सके जिसे उनके एक रिश्तेदार ने ले रखा था। राजस्थान की अदालत ने इस मामले में गुजरात पुलिस की कार्रवाई को गलत बताया था। बाद में सेवानिवृत्त हो गये जज जैन ने 1998 में गुजरात हाई कोर्ट में एक मामला दायर कर पूरे प्रकरण की जांच करने की मांग की। उन्होंने राजस्थान की अदालत और पुलिस पर वहां के तत्कालीन मुख्यमंत्री और अधिवक्ता संघ के दबाव में काम करने का आरोप लगाया था।

गुजरात हाई कोर्ट के न्यायाधीश आर बी पारडीवाला ने गत जून माह में इस मामले की तेजी से जांच करने के आदेश सीआईडी क्राइम को दिये थे। ज्ञातव्य है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी पर गुजरात दंगों में पुलिस को दंगाइयों के प्रति नरम रूख अपनाने के आदेश देने के आरोप लगाने वाले श्री भट्ट को पुलिस ने आज ही पकड़ा है। पिछले माह उनके यहां स्थित आवास के अवैध रूप से निर्मित हिस्से को अदालत के आदेश पर गिराया गया था।

More News

23 Sep 2018 | 7:20 PM

 Sharesee more..

एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू

23 Sep 2018 | 7:16 PM

 Sharesee more..
हर दल के नेता का भाजपा में स्वागत : स्वतंत्र देव

हर दल के नेता का भाजपा में स्वागत : स्वतंत्र देव

23 Sep 2018 | 7:14 PM

इटावा, 23 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल के सदस्य स्वतंत्र देव सिंह ने रविवार को कहा कि देश में राष्ट्रवाद की वकालत करने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में यदि किसी भी दल का नेता शामिल होना चाहता है तो उसका तहेदिल से इस्तकबाल किया जायेगा।

 Sharesee more..
image