Tuesday, Feb 7 2023 | Time 01:46 Hrs(IST)
image
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


देश के तपस्वियों किसान, मजदूर को कुछ नहीं देती सरकार: राहुल

देश के तपस्वियों किसान, मजदूर को कुछ नहीं देती सरकार: राहुल

उज्जैन, मप्र 29 नवंबर (वार्ता) कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि वह किसान, मजदूर और छोटे कारोबारियों को नजरअंदाज करती है और उनकी कमाई अपने करीबी उद्योगपतियों पर लुटाती है।

श्री गांधी ने मंगलवार को यहां जय-जय महाकाल के उदघोष के साथ विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेरोजगार युवाओं, छोटे कारोबारियों, किसानों और मजदूरों पर ध्यान नहीं देती है बल्कि उल्टे उनके खून पसीने की मेहनत से की गई कमाई से चोरी कर अपने नजदीकी 2-4 उद्योगपतियों में बांट देती है।

देश के श्रमिक वर्ग को असली तपस्वी बताते हुए उन्होंने कहा , “ उज्जैन महा तपस्वी बाबा महाकाल की पवित्र नगरी है। हमारे देवी देवता सब तपस्वी है। शिवजी तपस्वी, कृष्ण भगवान तपस्वी, श्रीराम तपस्वी और किसी भी देवता को लीजिये,सारे के सारे तपस्वी हैं। इस तरह से हिंदुस्तान तपस्वियों का देश है और हिंदू धर्मावलम्बी तपस्वियों की पूजा करते है।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि कन्याकुमारी से शुरु हुई पदयात्रा बहुत बड़ी तपस्या है लेकिन सच्चाई यह है कि इसमें कोई तपस्या नहीं है। हिंदुस्तान में तपस्या वे मजदूर करते हैं जो कोविड के समय बंगलुरू, मुंबई, पंजाब और देश के विभिन्न कोनों से पैदल अपने घर गए, दूसरे देश को भोजन देने वाले वे करोड़ों किसान और उनके परिवार के सदस्य तपस्वी हैं जो हर सुबह चार बजे उठकर तपस्या शुरू करते हैं।

उन्होंने कहा , “ बढ़ई, नाई,माली, इलेक्ट्रिशियन,छोटे दुकानदार, मजदूर- ये सब तपस्वी हैं जो रोज और जिंदगी भर तप करते हैं और तपस्या करते-करते चले जाते हैं। इसलिए भारत जोड़ो यात्रा की तपस्या कुछ नही है। यह तीन महीने की तपस्या है जो हर दिन 5-6 घंटे या 8 घंटे तक चलती है। तपस्या किसान करता है, मजदूर करता है।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि आश्चर्य इस बात का है कि जिस देश की धर्मावलंबी तपस्वी देवी देवताओं की पूजा करते हैं उस देश की सरकार दिन रात मेहनत करने वाले मजदूरों, किसानों को कुछ नहीं देती और जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की पूजा कर रहे है उनको सब कुछ देती है। दो लोग नरेन्द्र मोदी जी की पूजा करते हैं और उनको जो भी चाहिए, मिल जाता है- रेलवे, पोर्ट, एयरपोर्ट, सड़कें, बिजली, पानी सब कुछ। ये प्रधानमंत्री की पूजा करते हैं तो उन्हें सब कुछ मिल जाता है लेकिन किसान मजदूर को कुछ नहीं मिलता है।

श्री गांधी ने कहा , “ किसान हर दिन सुबह चार बजे से परिश्रम शुरू कर देते हैं इसलिए किसान के हाथ फटे होते हैं। किसान का दर्द उनके हाथों में होता है। उसकी तपस्या के निशान उसके हाथों में होते हैं और इन सड़कों पर हजारों किसानों से मैंने हाथ मिलाया और हर एक किसान पूछ रहा है कि राहुल जी, इस देश में हम तपस्या करते हैं, इस तपस्या का हमें फल क्यों नहीं मिलता। फर्टिलाइजर क्यों नहीं मिलता। हमें मेहनत के सही दाम नहीं मिलते। हम बीमा का पैसा भरते हैं, तूफान आता है, आंधी आती है, खेत बर्बाद हो जाता है। रोना आता है और जब हम बीमा की प्राइवेट कंपनी को फोन करते हैं तो कोई फोन नहीं उठाता। इंटरनेट पर सबकुछ मिल जाता है, लेकिन किसान को जो बीमा देने वाली कंपनी होती है, उसका लोकल पता नहीं मिलता है।”

उन्होंने कहा , “ कांग्रेसी सरकार के समय पेट्रोल 60 रुपए प्रति लीटर था जो आज 107 रुपए का है। हर रोज हमारी जेब से जो पैसा निकलता है सारा पैसा उन तीन-चार लोगों के हवाले किया जा रहा है जो मोदी पूजा करते हैं।जो तपस्या करते हैं हिंदुस्तान की सरकार उनको फल देने का काम नहीं करती है। उनका कहना था कि युवा भी तपस्या करते है। मेहनत से पढ़ाई करने के बाद नौकरी का नंबर आता है तो पता चलता है कि व्यापम स्कैम हो गया और तपस्वियों की चोरी हो गई। मतलब कि देश की सरकार छोटे-छोटे तपस्वियों से भी चोरी कर उनका भविष्य खत्म कर रही है।”

श्री गांधी ने कहा कि हर आदमी सरकार की वजह से संकट में है। छोटे दुकानदार, छोटे उद्योगों और कारोबारी सुबह उठते है और 2-3 लोगों के साथ दिनभर काम करते है। ये लोग देश को रोजगार देते हैं लेकिन जीएसटी के रूप में उनसे भी चोरी की जाती और उनको दबाया तथा कुचला जाता है और उनकी जेब से पैसा निकाला जाता है।

कांग्रेस नेता ने कहा , “ इन स्थितियों से नुकसान देश का हो रहा है। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है और मिल भी नहीं सकता क्योंकि यह रीढ़ की हड्डी नोटबंदी और जीएसटी करके तोड़ दी गई है लेकिन कोविड में अरबपतियों का कर्जा माफ कर दिया। ई गरीबों को एक रुपया तक नहीं दिया इनको, तो आपने रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। इसको अब फिर से बनाना पड़ेगा, फिर से जोड़ना पड़ेगा, हिंदुस्तान को रोजगार मिलेगा।”

उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा सिर्फ कांग्रेस पार्टी की यात्रा नहीं है बल्कि हिंदुस्तान की यात्रा है, किसानों की यात्रा है, मजदूरों की यात्रा है, छोटे दुकानदारों की यात्रा है, युवाओं की, बुजुर्गों की, माताओं की, बहनों की यात्रा है। उन बच्चों की यात्रा है जो अपने गुल्लक तोड़कर यात्रा में सहयोग कर रहे है।

अभिनव अशोक

वार्ता

image