Thursday, Nov 15 2018 | Time 22:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गाजा चक्रवात: चित्तूर में शुक्रवार को सभी स्कूलों में छुट्टी की घोषणा
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • मध्यप्रदेश में 2907 प्रत्याशी चुनाव मैदान में
  • स्कूल के शौचालय से युवक का शव बरामद
  • बिहार में सड़क दुर्घटना में आठ लोगों की मौत , सात घायल
  • दहेज हत्या मामले में पति और ससुर को आजीवन कारावास
  • नाबालिग के साथ दुष्कर्म
  • पंसारे हत्या मामले में अमोल आठ दिन की एसआईटी हिरासत में
  • अखाड़ा भवन ध्वस्तीकरण मामले में नगर निगम आयुक्त एवं पुलिस को नोटिस
  • विकास लक्ष्य हासिल नहीं कर सका झारखंड : झाविमो
  • 84 के सिख दंगा पीड़ितों को मुआवजे के भुगतान पर सरकार से जवाब तलब
  • जौनपुर बिजली विभाग के बिल घोटाले की जांच करेंगी एमडी
  • विजयी पदार्पण चाहेंगी मनीषा, दिग्गज सरिता वापसी पर उत्साहित
  • वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में ईको टूरिज्म का शुभारंभ 18 नवंबर को
खेल Share

हॉकी प्रदर्शनी में दिखी भारतीय हॉकी की विरासत: रानी रामपाल

हॉकी प्रदर्शनी में दिखी भारतीय हॉकी की विरासत: रानी रामपाल

लंदन, 29 जुलाई (वार्ता) भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने यहां के फैन सेंट्रल ली वैली केंद्र में लगी हॉकी प्रदर्शनी ‘5 दशक, 50 चित्र’ को देखने के बाद कहा कि इस प्रदर्शनी में भारतीय हॉकी की विरासत दिखाई देती है जहां देश के दिग्गज खिलाड़ियों की भेंट की गई जर्सियां उनके लिए प्रेरणा देने वाला कदम है। मेजर ध्यानचंद के परिवार से जुड़े चित्रों को भी इस प्रदर्शनी में खूब पसंद किया गया।

सुनील यश कालरा ने हॉकी म्यूज़ियम और कुलदीप अहलावत के साथ मिलकर इसे आयोजित किया है। कालरा प्रो स्पोर्टीफाई के सीईओ हैं और महिलाओं के खेलों को बढ़ावा देने के लिए बरसों से जुटे हुए हैं। उन्होंने इस म्यूज़ियम को प्रदर्शनी में लगे सभी चित्र भेंट किये।

1974 में महिलाओं के पहले विश्व कप में भारतीय टीम की कप्तान अजिंदर कौर ने इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इस अवसर पर राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता मनोज कुमार भी मौजूद थे। अजिंदर कौर ने कहा कि प्रदर्शनी में पिछले 50 वर्षों की महिला हॉकी की स्थिति को बखूबी उभारा गया है। इसके लिए वह आयोजकों की आभारी हैं। उन्होंने भारतीय महिला हॉकी टीम को विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए शुभकामनाएं दीं।

हॉकी म्यूज़ियम के माइक स्मिथ ने कहा कि हॉकी प्रदर्शनी के माध्यम से भारतीय हॉकी के अतीत को सामने रखना उनके लिए सम्मान की बात है। इससे हमारा हॉकी का संग्रह और सम्पन्न होगा। इसके आयोजक कुलदीप अहलावत ने भविष्य में भी ऐसी स्पर्धाओं को सामने लाने का वादा किया।

प्रदर्शनी में 1974 और 1978 के महिला वर्ल्ड कप और 1982 के एशियाई खेलों में महिला ह़ॉकी से जुड़े चित्रों को दिखाया गया है और साथ ही उसके बाद के सफर को क्रमबद्ध तरीके से दिखाया गया है। इस दौरान एलिज़ा नेल्सन, राजबीर कौर, सूरजलता देवी, ममता खरब और सभी महिला कप्तानों और कोचों को विशेष रूप से प्रदर्शित किया गया है।

 

More News
नताशा पल्हा युगल के सेमीफाइनल में

नताशा पल्हा युगल के सेमीफाइनल में

15 Nov 2018 | 9:52 PM

मुजफ्फरनगर, 15 नवम्बर (वार्ता) भारत की नताशा पल्हा ने अपनी जोड़ीदार रूस की अन्ना माखोरकिना के साथ गुरूवार को संघर्षपूर्ण मुकाबले में स्लोवाकिया की नास्तजा कोलार और अमेरिका की एलेक्सांद्रा रिले को 7-6, 3-6, 10-6 से हराकर भावना स्वरूप मनोरियल महिला आईटीएफ टेनिस टूर्नामेंट के युगल सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया।

 Sharesee more..
दक्षिण भारतीय एथलीटों का वर्चस्व कायम, जीते 23 पदक

दक्षिण भारतीय एथलीटों का वर्चस्व कायम, जीते 23 पदक

15 Nov 2018 | 9:28 PM

मुम्बई, 15 नवंबर (वार्ता) रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स नेशनल एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के दूसरे दिन ट्रैक एंड फील्ड इवेंट्स में गुरुवार को दक्षिण भारतीय छात्र एथलीटों का वर्चस्व रहा।

 Sharesee more..

15 Nov 2018 | 9:27 PM

 Sharesee more..

15 Nov 2018 | 9:17 PM

 Sharesee more..
image