Wednesday, Oct 16 2019 | Time 22:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सायना और श्रीकांत पहले दौर में बाहर, समीर प्रीक्वार्टर में
  • कांग्रेस के कर्नाटक से रास सदस्य राममूर्ति का इस्तीफा
  • बेंगलुरु को चित कर दिल्ली पहली बार फाइनल में
  • संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवम्बर से शुरू होने की संभावना
  • उप्र में त्यौहारों के मद्देनजर 30 नवम्बर तक अधिकारियों का अवकाश नहीं हो स्वीकृत
  • जालौन:ट्रक ने मारी बाइक को टक्कर , दो की मौत एक घायल
  • बिहार में नहरों, तटबंधों और जलाशयों की ड्रोन से होगी निगरानी
  • झारखंड विधानसभा चुनाव में 21 सीटों पर प्रत्याशी खड़े करेगा फॉरवर्ड ब्लॉक
  • बिहार में युवती की सिर कटी लाश समेत छह शव बरामद
  • फोटो कैप्शन: दूसरा सेट
  • भारत को महान देश बनाने में महाराष्ट्र का बहुत बड़ा योगदान: मोदी
  • सेल्फी लेने के चक्कर में पार्वती नदी में गिरीं दो लड़कियां, एक लापता
  • शाओमी ने नोट 8 सीरीज के फोन लांच किये
  • जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला
राज्य » राजस्थान


विद्यालयों में जितने नए नामांकन उतने ही पेड़ लगें-डोटासरा

विद्यालयों में जितने नए नामांकन उतने ही पेड़ लगें-डोटासरा

जयपुर 12 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने शिक्षा अधिकारियों का आह्वान किया है कि विद्यालयों में जितने भी नए प्रवेश होते हैं, उतनी ही संख्या में पेड़ लगाया जाना सभी स्तरों पर सुनिश्चित किया जाए।

श्री डोटासरा ने आज यहां शिक्षा संकुल में राज्य के शिक्षा अधिकारियों से विडियो कॉन्फ्रेन्स के जरिए संवाद कर रहे थे। उन्होंने प्रवेशोत्सव के द्वितीय चरण के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की जिलेवार समीक्षा की तथा विद्यालयों में पौधारोपण, निरीक्षण के लिए अधिकारियों द्वारा की जा रही कार्रवाही में विसंगतियों पर नाराजगी जताते हुए उन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी करने के निर्देश दिए जहां से मोनिटरिंग की समुचित जानकारियां नहीं आ रही है।

उन्होंने विद्यालयों में तालाबंदी के मामलों के बारे में कहा कि कहीं किसी विद्यालय में कोई कमी है तो उसे उचित स्तर पर ध्यान मे लाया जाए। बगैर किसी पूर्व सूचना और जन प्रतिनिधियों के संज्ञान में लाए बगैर किसी भी विद्यालय में कहीं तालाबंदी होती है तो संबंधित के खिलाफ त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

श्री डोटासरा ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गॉंधी की 150 वीं स्वर्ण जयंती वर्ष को मनाए जाने को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक वर्ष की अवधि के लिए और बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में जो पुस्तकें खरीदी जाएं, उनमें महात्मा गॉंधी के साहित्य को अधिकाधिक क्रय किया जाए। पुस्तकों की खरीद नियमानुसार हो परन्तु महात्मा गॉंधी के साहित्य को उसमें प्राथमिकता दी जाए। बच्चे उनके आदर्शों को आत्मसात कर आगे बढ़े, यही उन्हें हमारा सही मायने में स्मरण करना होगा।

उन्होंने बताया कि विद्यालयों में विषय अध्यापकों के रिक्त पदों को भरने के लिए डीपीसी की कार्यवाही की गयी है। जल्द ही विद्यालयों में विषय अध्यापकों के सभी रिक्त पद भरने के प्रयास किए जांएंगे। उन्होंने बताया कि राज्य में सभी स्थानों पर 76 प्रतिशत तक शिक्षकों के पद भर दिए गए हैं। राज्य सरकार का प्रयास है कि विद्यालयों में शत-प्रतिशत शिक्षकों के पद भर दिए जाएं।

image