Wednesday, Feb 20 2019 | Time 18:42 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फ्लाईओवरों के नाम शहीदों के नाम पर रखे जाएंः ध्यानी
  • मंत्री ने धार्मिक,पुरातात्विक,ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलों की मांगी जानकारी
  • गडकरी ने किया मुरादाबाद और मेरठ में करोड़ों की परियोजनाओं का शिलान्यास
  • टेलर ने फ्लेमिंग को पीछे छोड़ा
  • आरपीएफ को विशेष अभियान में 922 लावारिस बच्चे मिले
  • नामवर पंचतत्व में विलीन, साहित्य में शोक की लहर
  • श्रम कार्ड के लम्बित आवेदनों का 15 दिन में होगा निस्तारण - डहरिया
  • जोशी ने दिये शहीद के आश्रित के लिए डेढ़ लाख
  • देश को गर्त में धकेलने का प्रयास कर रहे हैं विपक्षी दल-शर्मा
  • पाकिस्तान के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर करतारपुर कॉरीडोर को नुकसान पहुंचा रहे : खेहरा
  • 73 साल की सुनीता के लिए उम्र सिर्फ एक नंबर
  • राष्ट्रीय ग्रिड से बिजली उपलब्ध कराना हुआ आसान : राजकुमार
  • चौथी भारत-आसियान प्रदर्शनी एवं सम्मेलन कल से
  • छत्तीसगढ़ सरकार पंचायतों से रेत खदाने लेंगी वापस – भूपेश
  • भारत से जाने वाले हाजियों का काेटा बढ़ा
राज्य Share

रोडवेजकर्मी पांच को चक्का जाम करने पर अड़े, अन्य संघों का भी समर्थन

रोडवेजकर्मी पांच को चक्का जाम करने पर अड़े, अन्य संघों का भी समर्थन

भिवानी, 03 सितम्बर(वार्ता) हरियाणा सरकार द्वारा एस्मा लगाने के बावजूद रोडवेज कर्मी रोडवेज के बेड़े में 700 प्राईवेट बसें शामिल करने के विरोध में अपनी पांच सितम्बर की प्रस्तावित हड़ताल को लेकर अड़ गये हैं और राज्य की अन्य पांच कर्मचारी यूनियनें भी उनके समर्थन में आ गई हैं।

राज्य की पांच कर्मचारियों के प्रधानों की आज यहां हुई बैठक में संयुक्त संघर्ष समिति ने पांच सितम्बर की हड़ताल के लिए एकजुट होने तथा राज्य सरकार के साथ आरपार की लड़ाई का ऐलान किया। सर्व कर्मचारी संघ के डिपू प्रधान राजकुमार दलाल तथा रोजवेज कर्मचारी महासंघ के डिपो प्रधान हरज्ञान घनघस ने साथ ही यह चेतावनी भी दी कि सरकार और पुलिस ने अगर हड़ताल को रोकने के लिये दमनकारी नीति अपनाई तो उसी हड़ताल अनिश्चिकालीन कर दी जाएगी।

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार जब तक 700 निजी बसों को परमिट जारी करने का फैसला वापिस नहीं लेती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा। उनका आरोप था कि सरकार रोडवेज का निजीकरण करने का प्रयास कर रही है जिससे उनके रोजगार पर संकट खड़ा होगा। उनका कहना है कि सरकार प्राइवेट बसें लेने के बजाए रोडवेज के बेड़े में अतिरिक्त बसें शामिल करे। कुछ बसे कलपुर्जों के अभाव में वर्कशॉपों में खड़ी हैं। अगर ये कल पुर्जे आ जाएं तो अनेक बसें ठीक होकर सड़कों पर आ जाएंगी।

सं.रमेश1841

वार्ता

More News
सपा बसपा गठबंधन ने भाजपा को विकल्प तलाशने को किया मजबूर: मायावती

सपा बसपा गठबंधन ने भाजपा को विकल्प तलाशने को किया मजबूर: मायावती

20 Feb 2019 | 6:38 PM

लखनऊ 20 फरवरी (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ हुये गठबंधन से घबरायी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश भर में क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन के विकल्प तलाश रही है।

 Sharesee more..
image