Friday, Oct 7 2022 | Time 21:14 Hrs(IST)
image
राज्य » बिहार / झारखण्ड


नीतीश और लालू की पार्टी में गृह विभाग को लेकर एक बार फिर फंस गया है पेंच

नीतीश और लालू की पार्टी में गृह विभाग को लेकर एक बार फिर फंस गया है पेंच

पटना 09 अगस्त (वार्ता) बिहार के गृह विभाग में दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं करने के कारण 2017 में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से नाता तोड़कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से दोबारा गठजोड़ करने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर इसी पुलिस महकमे को लेकर दुविधा में पड़ गए हैं।

सूत्रों के अनुसार, बिहार में पांच साल के बाद फिर से पाला बदलकर राजद के साथ नई सरकार बनाने की जुगत में लगे श्री नीतीश कुमार के सामने राजद ने गृह विभाग अपने पास रखने की शर्त रखी है। श्री कुमार वर्ष 2005 में जब से बिहार के मुख्यमंत्री बने तब से गृह विभाग उनके पास ही रहा है लेकिन इस बार राजद यह विभाग अपने पास रखना चाहता है।

राजद की इस शर्त से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दुविधा में पड़ गए हैं। दरअसल 2017 में जब श्री कुमार ने राजद से नाता तोड़ा था तब इसका एक बड़ा कारण यह भी था कि उस समय राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने गृह विभाग में दखलअंदाजी शुरू कर दी थी, जिसे श्री कुमार बर्दाश्त नहीं कर सके थे। उस समय राजद प्रमुख ने सार्वजनिक तौर पर पुलिस से संबंधित मामलों पर उनसे (श्री यादव) संपर्क करने की बात कही थी।

सूत्रों के अनुसार, राजद मुख्यमंत्री के रूप में श्री नीतीश कुमार को स्वीकार करने को तैयार तो हो गया है लेकिन वह गृह विभाग छोड़ने को तैयार नहीं है। उधर श्री कुमार बिहार में 15 वर्ष के लालू-राबड़ी शासनकाल में कानून व्यवस्था की स्थिति से वाकिफ हैं और उन्हें लगता है कि राज्य की जनता ने उन्हें कानून व्यवस्था के नाम पर ही अपना समर्थन दिया है, यदि इसमें किसी भी तरह की कमी या कोताही हुई तो उनका राजनीतिक आधार खत्म हो जाएगा।

इस बीच कांग्रेस इन दोनों दलों (राजद और जदयू) के बीच फंसे इस पेंच को सुलझाने में लगी है।

शिवा सूरज

वार्ता

More News
आरक्षण के लिए विशेष आयोग बनाने का निर्देश सुप्रीम कोर्ट का - सुशील

आरक्षण के लिए विशेष आयोग बनाने का निर्देश सुप्रीम कोर्ट का - सुशील

07 Oct 2022 | 7:40 PM

पटना 07 अक्टूबर(वार्ता) बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने आज कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने पिछड़ों को स्थानीय निकाय चुनाव में राजनीतिक आरक्षण के लिए विशेष आयोग बनाने का निर्देश दिया था, लेकिन श्री नीतीश कुमार की आरक्षण विरोधी नीयत के चलते न विशेष आयोग बना और न निकाय चुनाव में आरक्षण तय हुआ।

see more..
नेता और कार्यकर्ता हर परिस्थिति के लिए रहे तैयार: हेमंत सोरेन

नेता और कार्यकर्ता हर परिस्थिति के लिए रहे तैयार: हेमंत सोरेन

07 Oct 2022 | 7:34 PM

रांची, 07 अक्टूबर (वार्ता)झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो )केंद्रीय कार्य समिति की उच्चस्तरीय बैठक रांची के हरमू स्थित स्थानीय सोहराय भवन में शुक्रवार को हुई।

see more..
image