Saturday, Jul 4 2020 | Time 04:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तुर्की में कोरोना के 1172 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 203456 हुई
  • इजरायल में कोरोना के 1008 नये मामले संक्रमितों की संख्या 28055 हुई
  • इराक में कोरोना के 2312 नये मामले, 102 लोगों की मौत
  • तेलंगाना नें कोरोना के 1892 नये मामले
राज्य » अन्य राज्य


ओडिशा में हजारों लोगों को निकाला गया

ओडिशा में हजारों लोगों को निकाला गया

भुवनेश्वर, 02 मई (वार्ता) ओडिशा सरकार ने चक्रवाती तूफान फाेनी से सबसे अधिक प्रभावित होने की आशंका वाले 11 जिलों के कच्चे घरों में रह रहे लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) प्रवक्ता क्रुपासिंघु मिश्रा ने यहां संवाददाताआें को बताया कि तूफान से प्रभावित होने की आशंका वाले क्षेत्रों के लोगों को निकालने का काम शुरू किया गया है और सुबह साढ़े दस बजे तक 11 जिलों के तटवर्ती क्षेत्रों से 25425 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

उन्होंने कहा कि हालांकि लोगों को बाहर निकालने के दौरान बूढ़े, विकलांग, बच्चों और महिलाओं को प्राथमिकता दी गई।

उन्होंने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों से निकाले गए लोगों को विभिन्न 3008 आश्रय स्थलों में भेजा गया है और उन्हें पेयजल, चिकित्सा और भोजन जैसी सभी सुविधाओं प्रदान की जा रही हैं।

श्री मिश्रा ने कहा गजपति से सबसे अधिक 8172 लोगों को निकाला गया है और गंजम से 6898, जगतसिंहपुर से 3900 और पुरी से 2870 लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने आज शाम तक लगभग आठ लाख लोगों को निकालने की योजना बनाई है।

गंजम से सबसे अधिक एक लाख 95 हजार 930 लोगों को निकालने की लक्ष्य रखा गया है और इसके बाद पुरी से एक लाख चार हजार 481, खोरधा से एक लाख आठ हजार 761 और कटक से एक लाख लोगों को निकालने की योजना है।

श्री मिश्रा ने कहा कि आज शाम तक राज्य सरकार के आग्रह पर केन्द्र से भेजे गए दो हेलीकॉप्टर की यहां पहुंचने की संभावना है। उन्होंने कहा भारतीय प्रशासनिक सेवा के कम से 12 वरिष्ठ अधिकारियों को 12 जिलों का प्रभार दिया गया है और 80 वरिष्ठ ओएएस अधिकारियों को राहत एवं बचाव अभियान के लिए चक्रवाती तूफान से प्रभावित क्षेत्रों में लगाया गया है।

उन्होंने कहा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है कि चक्रवाती तूफाने मेें कोई भी हताहत न हो। श्री मिश्रा ने कहा चक्रवाती तूफान से गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा प्रभावित जिलों में 20 सेंटीमीटर से अधिक बारिश होने का अनुमान है

फाेनी के बाद गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा जिलों में 170-180 किलोमीटर प्रति घंटे की और 200 किलोमीटर तक रफ्तार से तेज हवा और धूल भरी आंधी चलेगी और गजपति और खुर्दा, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर में 115 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तेज हवाएं चलेंगी।

उन्होंने कहा ने चक्रवाती तूफान से निटपने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है।

इन इलाकों में सरकार ने एनडीआरएफ की 28 ओडीआरएफ की 20 और अग्निशमन विभाग की 525 टीमाें को राहत एवं बचाव कार्य के लिए लगाया है।

सरकार ने प्रभावित लोगों को सामग्री उपलब्ध कराने के लिए पांच लाख 97 हजार पॉलीथिन का संचय किया हुआ है और और एक लाख सूखे खाद्य पैकेट कलिंग स्टेडियम में तैयार किए जा रहे हैं।

प्रत्येक खाद्य पैकेट में चुड़ा, गाइड, मोमबत्ती, माचिस और ओआरएस पैकेट हैं। आश्रय केंद्रों में प्रभावित लोगों के लिए मुफ्त रसोई की व्यवस्था की जा रही है।

उप्रेती जितेन्द्र

वार्ता

image