Monday, Jun 17 2019 | Time 10:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पिता शाहरूख के साथ डेब्यू करेंगे आर्यन!
  • पिता शाहरूख के साथ डेब्यू करेंगे आर्यन!
  • फिल्म जगत की ब्यूटी क्वीन थीं नसीम बानो
  • राहुल ने लक्ष्मीबाई को दी श्रद्धांजलि
  • फिल्म जगत की ब्यूटी क्वीन थीं नसीम बानो
  • गुटेरेस ने की केन्या,सोमालिया आतंकी हमलों की निंदा
  • फिल्म जगत की ब्यूटी क्वीन थीं नसीम बानो
  • दक्षिण एशिया में नये आतंकवाद का खतरा : नेपाल
  • ट्रंप ने बस्ती का नाम अपने नाम पर रखने पर नेतन्याहू को दिया धन्यवाद
  • वेनेजुएला में सड़क हादसे में 16 लोगों की मौत
  • हाउती विद्रोहियों का सऊदी हवाई अड्डे पर फिर हमला
  • जापान में 5 2 तीव्रता वाले भूकंप के झटके
  • बागपत पंचायत में फायरिंग,एक की मृत्यु ,तीन घायल
  • बलरामपुर में ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से चार लोगों की मृत्यु,19 घायल
  • इजरायल ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र में ट्रम्प के नाम पर बस्ती का किया शिलान्यास
राज्य » अन्य राज्य


ओडिशा में हजारों लोगों को निकाला गया

ओडिशा में हजारों लोगों को निकाला गया

भुवनेश्वर, 02 मई (वार्ता) ओडिशा सरकार ने चक्रवाती तूफान फाेनी से सबसे अधिक प्रभावित होने की आशंका वाले 11 जिलों के कच्चे घरों में रह रहे लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) प्रवक्ता क्रुपासिंघु मिश्रा ने यहां संवाददाताआें को बताया कि तूफान से प्रभावित होने की आशंका वाले क्षेत्रों के लोगों को निकालने का काम शुरू किया गया है और सुबह साढ़े दस बजे तक 11 जिलों के तटवर्ती क्षेत्रों से 25425 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

उन्होंने कहा कि हालांकि लोगों को बाहर निकालने के दौरान बूढ़े, विकलांग, बच्चों और महिलाओं को प्राथमिकता दी गई।

उन्होंने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों से निकाले गए लोगों को विभिन्न 3008 आश्रय स्थलों में भेजा गया है और उन्हें पेयजल, चिकित्सा और भोजन जैसी सभी सुविधाओं प्रदान की जा रही हैं।

श्री मिश्रा ने कहा गजपति से सबसे अधिक 8172 लोगों को निकाला गया है और गंजम से 6898, जगतसिंहपुर से 3900 और पुरी से 2870 लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने आज शाम तक लगभग आठ लाख लोगों को निकालने की योजना बनाई है।

गंजम से सबसे अधिक एक लाख 95 हजार 930 लोगों को निकालने की लक्ष्य रखा गया है और इसके बाद पुरी से एक लाख चार हजार 481, खोरधा से एक लाख आठ हजार 761 और कटक से एक लाख लोगों को निकालने की योजना है।

श्री मिश्रा ने कहा कि आज शाम तक राज्य सरकार के आग्रह पर केन्द्र से भेजे गए दो हेलीकॉप्टर की यहां पहुंचने की संभावना है। उन्होंने कहा भारतीय प्रशासनिक सेवा के कम से 12 वरिष्ठ अधिकारियों को 12 जिलों का प्रभार दिया गया है और 80 वरिष्ठ ओएएस अधिकारियों को राहत एवं बचाव अभियान के लिए चक्रवाती तूफान से प्रभावित क्षेत्रों में लगाया गया है।

उन्होंने कहा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है कि चक्रवाती तूफाने मेें कोई भी हताहत न हो। श्री मिश्रा ने कहा चक्रवाती तूफान से गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा प्रभावित जिलों में 20 सेंटीमीटर से अधिक बारिश होने का अनुमान है

फाेनी के बाद गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा जिलों में 170-180 किलोमीटर प्रति घंटे की और 200 किलोमीटर तक रफ्तार से तेज हवा और धूल भरी आंधी चलेगी और गजपति और खुर्दा, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर में 115 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तेज हवाएं चलेंगी।

उन्होंने कहा ने चक्रवाती तूफान से निटपने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है।

इन इलाकों में सरकार ने एनडीआरएफ की 28 ओडीआरएफ की 20 और अग्निशमन विभाग की 525 टीमाें को राहत एवं बचाव कार्य के लिए लगाया है।

सरकार ने प्रभावित लोगों को सामग्री उपलब्ध कराने के लिए पांच लाख 97 हजार पॉलीथिन का संचय किया हुआ है और और एक लाख सूखे खाद्य पैकेट कलिंग स्टेडियम में तैयार किए जा रहे हैं।

प्रत्येक खाद्य पैकेट में चुड़ा, गाइड, मोमबत्ती, माचिस और ओआरएस पैकेट हैं। आश्रय केंद्रों में प्रभावित लोगों के लिए मुफ्त रसोई की व्यवस्था की जा रही है।

उप्रेती जितेन्द्र

वार्ता

More News
नबन्ना या राजभवन नहीं बल्कि बैठक का और ठिकाना तय करे ममता- हड़ताली डाक्टर

नबन्ना या राजभवन नहीं बल्कि बैठक का और ठिकाना तय करे ममता- हड़ताली डाक्टर

16 Jun 2019 | 7:51 PM

कोलकाता, 16 जून(वार्ता) पश्चिम बंगाल में अपने एक साथी चिकित्सक के साथ हुई मारपीट के बाद पिछले छह दिनों से हड़ताल कर रहे जूनियर डाक्टरों ने कहा है कि जहां मुख्यमंत्री तय करेंगी वे उनसे उसी स्थान पर बातचीत करने को तैयार हैं।

see more..
निशंक ने किये केदारनाथ के दर्शन

निशंक ने किये केदारनाथ के दर्शन

15 Jun 2019 | 11:49 PM

रुद्रप्रयाग 15 जून (वार्ता) उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने केन्द्रीय मंत्री का पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार शनिवार को भगवान केदारनाथ के दरबार में पहुंचे।

see more..
image