Wednesday, Oct 23 2019 | Time 16:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कैप्टन इंद्रजीत सिंह की अंत्येष्टि हुई
  • कनाडा में संसदीय चुनाव जीतने वाले पंजाबी मूल के सांसदों को लोंगोवाल ने बधाई दी
  • छात्र सामाजिक उपयोगिता वाले विषयों पर गुणात्मक शोध कार्य करें:आनंदीबेन
  • विराट को पूरा समर्थन दूंगा: गांगुली
  • मगध विश्वविद्यालय में बदले जाएंगे पुराने पाठ्यक्रम
  • गुजरात में 6 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतगणना कल, अल्पेश ठाकोर की किस्मत का भी होगा फैसला
  • गांगुली की ताजपोशी, बीसीसीआई को देंगे नयी शुरूआत
  • दिल्ली भाजपा का दिवाली मिलन समारोह
  • उप्र की तरह उत्तराखंड के मंत्री स्वयं करेंगे आयकर भुगतान
  • चेन खींचकर ट्रेनों को रोकने के मामले में 326 गिरफ्तार
  • बीएसएनएल और एमटीएनएल की 38 हजार करोड़ रुपये के संपदा का मौद्रिकरण किया जायेगा
  • बीएसएनएल एमटीएनएल के कर्मचारियों को मिलेगा वीआरएस
  • दिल्ली में अनधिकृत कालोनियों को नियमति करने की मंजूरी
  • केंद्रीय विद्यालय संगठन ने सप्ताह में दो दिन का होम वर्क का खंडन किया
  • बीएसएनएल एमटीएनएल के पुनरूद्धार के लिए बाँड से जुटाये जायेंगे 15 हजार करोड़ रुपये, इन दोनों कंपनियों को मिलेगा 4 जी स्पेक्ट्रम
world


लिथियम आयन बैटरियों के विकास के लिए तीन वैज्ञानिकों को रसायन का नोबेल पुरस्कार

लिथियम आयन बैटरियों के विकास के लिए तीन वैज्ञानिकों को रसायन का नोबेल पुरस्कार

स्टॉकहोम,09 अक्टूबर (वार्ता) विश्व भर में लैपटॉप, माेबाइल फोन और इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल की जाने वाली लिथियम-आयन बैटरियों के विकास के लिए तीन वैज्ञानिकों को वर्ष 2019 के रसायन के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।
रॉयल स्वीडिश अकादमी ऑफ साइंसेज ने बुधवार को जारी एक बयान में बताया कि हल्के वजन की लिथियम आयन बैटरियां इस समय मोबाइल फोन, लैपटाप और इलेक्ट्रिक वाहनाें में इस्तेमाल हो रही हैं और इनके विकास के लिए तीन वैज्ञानिकों जॉन बी गुडइनफ, एम स्टैनली व्हिटिंगम और अकिरा योशिनो को 2019 के नोबेल रसायन पुरस्कार के लिए चुना गया है। इन्हें पुरस्कार स्वरूप 90 लाख स्वीडिश क्रोनर की राशि दी जायेगी।
इन तीनों वैज्ञानिकों ने लिथियम आयन बैटरियों के विकास की दिशा में अहम भूमिका निभाई है।
जॉन गुडइनफ की आयु इस समय 97 वर्ष है और वह इस पुरस्कार को पाने वाले पहले इतने उम्रदराज वैज्ञानिक हैं। वह अमेरिकी भौतिकविद् हैं और इस समय आस्टिन की टेक्सास यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं। पिछले वर्ष आर्थर अशकिन (96) नोबेल पुरस्कार पाने वाले उम्रदराज व्यक्ति थे। जॉन गुडइनफ ने लीथियम बैटरी की क्षमता को दाेगुना किया है और इसकी वजह से यह अधिक शक्तिशाली तथा लाभदायक बैटरी बन गयी है।
स्टैनली व्हिटिंगम ब्रिटिश- अमेरिकी रसायनविद् हैं और इस समय न्यूयार्क सरकारी विश्वविद्यालय से संबद्ध बिंघामटन विश्वविद्यालय में रसायनविज्ञान के प्रोफेसर हैं।
आकिरा योशिनो जापानी रसायनविद् हैं और मिइजो विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं। उन्होंने बैटरी से शुद्ध लिथियम को निकालने में सफलता हासिल की है और इससे लिथियम बैटरी और बेहतर हो गई है।
पुरस्कार से संबद्ध समिति ने एक ट्वीट कर कहा, “लिथियम आयन बैटरियों ने हमारे जीवन में क्रांतिकारी बदलाव किए हैं और ये लैपटाॅप, मोबाइल फोन तथा इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल होती हैं। इन वैज्ञानिकों ने अपने काम और खोज से एक वायरलेस और जीवाश्म ईंधन रहित समाज की स्थापना की आधारशिला रखी है।
ये बैटरियां सौर, पवन और नवीकरणीय ऊर्जा के अन्य साधनों से ऊर्जा हासिल कर उन्हें स्टोर कर सकती हैं और इनके विकास से हमें जीवाश्म ईंधन से मुक्ति मिलने में एक कदम आगे जाने में मदद मिलेगी।
जितेन्द्र.श्रवण
वार्ता

More News
चिली में पुलिस ने दागे प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले

चिली में पुलिस ने दागे प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले

23 Oct 2019 | 11:44 AM

सैंटियागो 23 अक्टूबर (स्पूतनिक) चिली में सबवे और सार्वजनिक यातायात किराया बढ़ाये जाने के विरोध में जारी हिंसा के कारण राजधानी सैंटियागो सहित कई शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है तथा पुलिस कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले प्रदर्शनकारियों से बेहद सख्ती से निपट रही है।

see more..
चीन की हांगकांग की नेता कैरी लाम को बदलने की तैयारी

चीन की हांगकांग की नेता कैरी लाम को बदलने की तैयारी

23 Oct 2019 | 11:33 AM

हांगकांग, 23 अक्टूबर (वार्ता) हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में महीनों से जारी प्रदर्शन के खत्म होने के बाद चीन अब हांगकांग की नेता कैरी लाम को हटाकर उनकी जगह 'अंतरिम' मुख्य कार्यकारी नियुक्त करने की योजना बना रहा है।

see more..
नवाज शरीफ की प्लेटलेट्स संख्या काफी कम, हालात नाजुक

नवाज शरीफ की प्लेटलेट्स संख्या काफी कम, हालात नाजुक

23 Oct 2019 | 10:04 AM

लाहौर 23 अक्टूबर (वार्ता) लाहौर के सर्विस अस्पताल में भर्ती पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के शरीर में ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या काफी कम हो गयी और लगातार प्लेटलेट्स चढ़ाये जाने के बावजूद उनकी हालत नाजुक बनी हुई है।

see more..
image