Friday, May 29 2020 | Time 21:46 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अहमदाबाद मंडल के 24 स्टेशनों पर खुलेंगे पीआरएस काउंटर
  • वाराणसी में चार नये कोरोना संक्रमित,मरीजों की संख्या 166 हुई
  • राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में मध्यम तीव्रता के भूकंप के झटके
  • पूर्वी चंपारण में नदी में डूबकर दो बच्चों की मौत
  • एक अगस्त को होगा फा कप का फाइनल
  • दिल्ली में भूकंप के झटके
  • राजनाथ ने अमेरिकी रक्षा मंत्री एस्पर से की बात
  • झांंसी: दस कुंतल गांजे के साथ चार तस्कर गिरफ्तार
  • कौशांबी में एक और कोरोना पॉजिटिव,संक्रमितों की संख्या हुई 48
  • प्रतापगढ़ में ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार दो लोगों की मृत्यु
  • फागू चौहान ने अजीत जोगी के निधन पर व्यक्त की शोक-संवेदना
  • 12 सितम्बर से शुरू होगा 2020-21 ला लीगा सत्र
  • कुशीनगर में एक और कोरोना पाॅजिटिव ,संकमितों की संख्या 11 हुई
  • हर विधानसभा क्षेत्र में हो सकेंगे 25 लाख रूपए के पेयजल कार्य
  • छत्तीसगढ़ में कोरोना से हुई पहली मौत,16 नए मरीज भी मिले
राज्य » उत्तर प्रदेश


व्यापारियों को संदेह की निगाह से देखने की मानसिकता को बदलना होगा: शाही

व्यापारियों को संदेह की निगाह से देखने की मानसिकता को बदलना होगा: शाही

देवरिया,13 अक्टूबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि अपने खर्चे और अपनी पूंजी लगाकर समाज की सेवा करने वाले व्यापारियों को संदेह की निगाह से देखने की मानसिकता को बदलना होगा।

श्री शाही ने रविवार को यहां रेडिमेड एवं होजरी एशोसिएशन के शपथ ग्रहण समारोह कहा कि कोराबारियों के अलावा ठेले, खोमचे वाले, सब्जी वाले और निजी दुकान चलाने वालों का देश पर बहुत बड़ा उपकार है,मैं ऐसा मानता हूं। ये ऐसे लोग हैं, जिनके माध्यम से देश के करीब 15 करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार के अवसर मिलते हैं।

उन्होंने कहा कि इन लोगों पर राजकोष का ब्याज बहुत न्यूनतम होता है। बल्कि ऐसे कहा जाय की राजकोष इकट्ठा करने में इनका बड़ा भारी सहयोग होता है। कोई भी सरकार,देश और संघ बिना धन के नहीं चल सकता। सरकार चलाने में भी इनकी अहम भूमिका है। जो अपने खर्चे से पूंजी लगाकर समाज सेवा करते हैं।

श्री शाही ने कहा कि पहले पहले उद्यमियों, कारोबारियों के बारे में एक भ्रान्ति थी। उनको समाज में दूसरे दर्जे का नागरिक मानते थे। यह समाज की मानसिकता है कि एक व्यापारी ने कोई कल कारखाना,उद्योग धंधे को लगा दिया तो, समाज में होता था कि जरूर कुछ न कुछ गड़बड़ है। इस विचार धारा को बदलने की जरूरत है। छोटे या बड़े व्यापारी समाज तथा देश को आगे बढ़ाने में अपना सहयोग करते थे और आज भी करते हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार बहुत बड़े पैमाने पर सरकारी नौकरी नहीं दे सकती। लेकिन व्यापारी अपने व्यापार तथा अपने कल कारखाने के माध्यम से आज देश में करीब 15 करोड़ लोगों को रोजगार के अवसर दे रहे हैं।

कार्यक्रम में रेडिमेड एवं होजरी एशोसिएशन के संरक्षक मंडल के अध्यक्ष रमेश त्रिपाठी, नगर पालिका अध्यक्ष अल्का सिंह, विधायक जनमेजय सिंह, पूर्व विधायक रविन्द्र मल्ल सहित तमाम व्यापारी उपस्थित थे। इस दौरान नई कार्यकारिणी को शपथ दिलाई गई।

सं त्यागी

वार्ता

image