Sunday, Nov 19 2017 | Time 15:37 Hrs(IST)
image
  • स्कूली छात्र से गैंगरेप के अारोपियों को पुलिस ने भेजा जेल
  • अजमेर में सूचना ब्यूरो के नए भवन का उद्घाटन
  • बिजली दरों में बढ़ोत्तरी के प्रस्ताव का विरोध करेगा उपभोक्ता परिषद
  • जयपुर में सांड के हमले से विदेशी पर्यटक की मौत
  • एम्पायर एविएशन की इकाई को मिला एनएसओपी
  • '
  • अफगानिस्तान बना अंडर-19 एशिया कप चैंपियन
  • अजमेर में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा जी की सौ वीं जयंती मनाई गई
  • फोटो कैप्शन पहला सेट
  • हार्दिक के सात साथियों को मिलेगा कांग्रेस टिकट, वसोया का नामांकन कल
  • मुजफ्फरपुर में शादी टूटने से हताश युवक ने आत्महत्या की
  • रामनगरी में रामायण मेले की तैयारी शुरू
  • खगड़िया में राजस्व कर्मचारी रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • '
  • '
स्टार्टअप वर्ल्ड  Share

तीन वर्ष में ढाई करोड युवाओं का किया कौशल विकास

तीन वर्ष में ढाई करोड युवाओं का किया कौशल विकास

नयी दिल्ली, 27 नवंबर (वार्ता) हर युवक को हुनरबंद बनाने के लिये 20 मंत्रालयों के जरिए 40 से अधिक योजनाओं के तहत कौशल विकास किया जा रहा है और पिछले तीन साल में ढ़ाई करोड से ज्यादा युवाओं काे प्रशिक्षण दिया जा चुका है।
कौशल विकास मंत्रालय के अनुसार इस योजना को क्रियान्वित करने में केंद्र सरकार के 20 मंत्रालय विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं को प्रशिक्षण दे रहे हैं।
इस योजना के तहत वर्ष 2015-16 के दौरान सर्वाधिक एक करोड चार लाख 16 हजार लोगों का काैशल विकास किया गया जबकि 2014-15 में 76 लाख 37 हजार तथा इससे पहले वर्ष 2013-14 में 76 लाख 11 हजार युवाओं को प्रशिक्षित किया गया।
सरकार ने कौशल विकास की योजना को ज्यादा प्रभावी बनाने के लिए पिछले वर्ष प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना(पीएमकेवीवाई) की शुरुआत की और इसके तहत अगले चार साल के दौरान देश के विभिन्न क्षेत्रों में एक करोड़ लोगों का कौशल विकास करने का लक्ष्य रखा गया है।
पीएमकेवीवाई का अनुमोदन सरकार ने 12 हजार करोड़ रुपए की लागत से किया और योजना के तहत राज्यों को निधि आवंटित की गयी है।
एक करोड़ लोगों को हुनरयुक्त बनाने के लिए पीएमकेवीवाई योजना के लिए दो तरह से निधि का आवंटन किया जाना है।
केंद्र सरकार कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण पर 75 फीसदी खर्च देगी जबकि राज्य सरकार की तरफ से 25 प्रतिशत खर्च देना होगा।
इसके लिए केंद्रीय निधि का इस्तेमाल राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एसएसडीसी) के तहत किया जाएगा।

कौशल विकास की योजना को ज्यादा प्रभावी बनाने के लिए सरकार ने नौ नवंबर को प्रधानमंत्री युवा योजना शुरू की है।
इस येाजना के तहत संभावित और प्रारंभिक स्तर के उद्यमियों का काैशल विकास कराना तथा उन्हें उद्यम शुरू करने के लिए ऐसे नेटवर्क से जोड़ना है जहां उन्हें काम शुरू करने के बारे में जानकारी हासिल होती रहे।
इसके अलावा इस योजना के जरिए इन नए उद्यमियों को यह भी जानकारी दी जाती है कि उन्हें किस स्तर पर और कैसे आर्थिक मदद मिल सकती है।
प्रधानमंत्री युवा योजना के लिए सरकार ने अगले पांच साल यानी वर्ष 2016-17 से 2020-21 तक की अवधि के लिए 499.94 करोड़ रुपए की योजना बनायी है।
इस योजना के अंतर्गत 3050 संस्थानों के माध्यम से सात लाख से अधिक लोगों को उद्यमशीलता का प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाएगा।
सरकार मानती है कि उसकी इस योजना से देश में उद्यमशीलता को ऊंचाई तक ले जाने में मदद मिलेगी।
सरकार की योजना देश को कौशल विकास के क्षेत्र में वैश्विक हब के रूप में तैयार करना है जिसके माध्यम से देश में तथा विदेशों में भारतीय युवक प्रशिक्षित बनकर दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे सकते हैं।
योजना के तहत देश के आरक्षित वर्ग के युवाओं के लिए भी विभिन्न तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।
अभिनव, उपाध्याय, अमित वार्ता

'विस्तृत समाचार के लिए हमारी सेवाएं लें।'
‘स्टार्ट

‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल है पूर्वोत्तर क्षेत्र

नयी दिल्ली 12 नवंबर (वार्ता) पूर्वोत्तर क्षेत्र पूरे देश के युवाओं के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल के रूप में तेजी से उभर कर सामने आ रहा है।

रोजगार

रोजगार सृजन की दिशा में बढ़ रही है सरकार: गंगवार

नयी दिल्ली 08 नवंबर (वार्ता) कर्मचारियों और नियोक्ताओं के लिए उपयुक्‍त वातावरण की सुविधा उपलब्‍ध कराने पर जोर देते हुए केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने आज कहा कि सरकार कौशल विकास और रोजगार सृजन के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं।

काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने जुटाये पांच लाख डॉलर

नयी दिल्ली 09 नवंबर (वार्ता) धार्मिक पर्यटन क्षेत्र की स्टार्टअप कंपनी काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने इंटेल तथा जेननेक्स्ट वेंचर्स के पूर्व निदेशकों से पांच लाख डॉलर की पूंजी जुटायी है।

क्लियरटैक्स

क्लियरटैक्स ने शुरू किया ई केवाईसी

नयी दिल्ली 03 नवंबर (वार्ता) टैक्स ई फाइलिंग प्लेटफार्म क्लियरटैक्स ने म्युचुअल फंड में निवेश करने की चाहत रखने वालों के लिए ई केवाईसी पंजीकरण फीचर शुरू किया है।

मार्च

मार्च तक 100 शहरों में विस्तार करेगी रुबिक

नयी दिल्ली 16 अक्टूबर (वार्ता) प्रमुख फिनटैक कंपनी रुबिक ने चालू वित्त वर्ष के अंत तक देश में 100 शहरों तक कारोबार विस्तार करने की योजना बनायी है।

आईओटी

आईओटी स्टार्टअप को सफल बनाने के लिए आईएएमएआई की पेशकश

नयी दिल्ली 16 अक्टूबर (वार्ता) इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आईएएमएआई) ने आईओटीडॉटइन प्लेटफॉर्म लांच करने की घोषणा की है जो देश में इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) आधारित स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए इंक्युबेटर का काम करेगा।

‘स्टार्ट

‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल है पूर्वोत्तर क्षेत्र

नयी दिल्ली 12 नवंबर (वार्ता) पूर्वोत्तर क्षेत्र पूरे देश के युवाओं के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल के रूप में तेजी से उभर कर सामने आ रहा है।

रोजगार

रोजगार सृजन की दिशा में बढ़ रही है सरकार: गंगवार

नयी दिल्ली 08 नवंबर (वार्ता) कर्मचारियों और नियोक्ताओं के लिए उपयुक्‍त वातावरण की सुविधा उपलब्‍ध कराने पर जोर देते हुए केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने आज कहा कि सरकार कौशल विकास और रोजगार सृजन के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं।

काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने जुटाये पांच लाख डॉलर

नयी दिल्ली 09 नवंबर (वार्ता) धार्मिक पर्यटन क्षेत्र की स्टार्टअप कंपनी काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने इंटेल तथा जेननेक्स्ट वेंचर्स के पूर्व निदेशकों से पांच लाख डॉलर की पूंजी जुटायी है।

काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने जुटाये पांच लाख डॉलर

नयी दिल्ली 09 नवंबर (वार्ता) धार्मिक पर्यटन क्षेत्र की स्टार्टअप कंपनी काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने इंटेल तथा जेननेक्स्ट वेंचर्स के पूर्व निदेशकों से पांच लाख डॉलर की पूंजी जुटायी है।

रोजगार सृजन की दिशा में बढ़ रही है सरकार: गंगवार

रोजगार सृजन की दिशा में बढ़ रही है सरकार: गंगवार

नयी दिल्ली 08 नवंबर (वार्ता) कर्मचारियों और नियोक्ताओं के लिए उपयुक्‍त वातावरण की सुविधा उपलब्‍ध कराने पर जोर देते हुए केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने आज कहा कि सरकार कौशल विकास और रोजगार सृजन के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं।

इसरो ने इस तरह रचा इतिहास

इसरो ने इस तरह रचा इतिहास

बेंगलुरु 21 फरवरी (वार्ता) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक साथ 104 उपग्रह छोड़ने वाले पीएसएलवी-सी37 मिशन को अनूठे और नवाचारी तरीके अपनाकर सफल बनाया।

काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने जुटाये पांच लाख डॉलर

नयी दिल्ली 09 नवंबर (वार्ता) धार्मिक पर्यटन क्षेत्र की स्टार्टअप कंपनी काल्पनिक टेक्नोलॉजीज ने इंटेल तथा जेननेक्स्ट वेंचर्स के पूर्व निदेशकों से पांच लाख डॉलर की पूंजी जुटायी है।

‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल है पूर्वोत्तर क्षेत्र

‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल है पूर्वोत्तर क्षेत्र

नयी दिल्ली 12 नवंबर (वार्ता) पूर्वोत्तर क्षेत्र पूरे देश के युवाओं के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ‘स्टार्ट अप’ की नयी मंजिल के रूप में तेजी से उभर कर सामने आ रहा है।

image