Wednesday, Jan 22 2020 | Time 16:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मध्य प्रदेश के पदक विजेताओं को मिलेगा नगद पुरस्कार
  • अल्मोड़ा में पुलिस ने किया दो वाहनों से गांजा बरामद, एक आरोपी गिरफ्तार
  • सोना 400रुपये लुढ़का, चाँदी 900 उतरी
  • अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग का कार्यकाल जुलाई तक बढ़ा
  • अयोध्या में राम मंदिर के लिये ट्रस्ट का गठन इसी माह
  • शाह को सीएए-एनआरसी का विरोध करने वालों की परवाह नहीं तो लागू करके दिखाएं : प्रशांत
  • विधायकों को दी गई विधाई कार्यों और बजट प्रक्रिया की जानकारी
  • रद्द रद्द रद्द
  • छह नये एनआईटी के लिए निर्माण लागत बढ़ाकर 4,371 करोड़ रुपये करने की मंजूरी
  • दादर एवं नागर हवेली तथा दमन एवं दीव की राजधानी होगा दमन
  • श्रीनगर - जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर भूस्खलन में एक व्यक्ति की मौत
  • अल्पसंख्यक आयोग का कार्यकाल छह महीने बढ़ा
  • परामर्श
  • पत्थलगड़ी के विरोध में मारे गए सात लोगों के शव बरामद
India


उन्नाव बलात्कार पीड़िता के बयान दर्ज करने के लिए एम्स में लगी अदालत

उन्नाव बलात्कार पीड़िता के बयान दर्ज करने के लिए एम्स में लगी अदालत

नयी दिल्ली, 11 सितम्बर (वार्ता) अखिल भारतीय आयुर्विग्यान संस्थान (एम्स) में बुधवार को उन्नाव बलात्कार मामले में पीड़िता के बयान दर्ज कराने के लिए अस्थायी अदालत स्थापित की गई।
यह अदालत एम्स के ट्रामा सेंटर में बनाई गई है। उन्नाव बलात्कार पीड़िता के बयान दर्ज कराने के लिए यह अदालत बनाई गई है। न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के समक्ष पीड़िता के बयान दर्ज किए जायेंगे ।
उन्नाव बलात्कार मामले में जिले की बांगरमऊ सीट से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर मुख्य आरोपी हैं। सेंगर और मामले में अन्य आरोपी शशि सिंह को भी अस्थायी अदालत में लाया गया।
यह मामला 2017 का है जब पीड़िता के साथ बलात्कार किया गया।
उस समय पीड़िता नाबालिग थी। गौरतलब है कि पीड़िता 28 जुलाई को जब अपने परिवार के साथ रायबरेली से उन्नाव वापस लौट रही थी तो जिस वाहन में वह और उसका परिवार सवार था उसे एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी। इस हादसे में पीड़िता की मां समेत उसके दो परिजनों की मौत हो गई थी। पीड़िता इस मामले में गंभीर रुप से घायल हो गई थी। उसे बाद में उपचार के लिए एम्स लाया गया था और उसका यहां इलाज जारी है। इस घटना में पीड़िता का वकील भी घायल हो गया था ।
एम्स में अस्थायी अदालत जय प्रकाश नारायण एपेक्स ट्रामा केंद्र की प्रथम मंजिल के सेमिनार हाल में बनाई गई है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने आदेशानुसार इस बात के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं जिससे पीड़िता और आरोपी विधायक का आमना.सामना नहीं हो।
पीड़िता के बयान लेने की प्रक्रिया बंद कमरे में हो रही है और इस दौरान किसी तरह की आडियो-वीडियो रिकार्डिंग की पूरी तरह मनाही है। न्यायालय ने एम्स प्रशासन को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हुए हैं। मामले की सुनवाई के दौरान एम्स के सेमिनार हाल में लगे सीसीटीवी कैमरे भी बंद रहेंगे।
मिश्रा.श्रवण
वार्ता

More News
कांग्रेस ने दिल्ली के लिए जारी की सोनिया सहित 40 स्टार प्रचारकों की सूची

कांग्रेस ने दिल्ली के लिए जारी की सोनिया सहित 40 स्टार प्रचारकों की सूची

22 Jan 2020 | 3:43 PM

नयी दिल्ली 22 जनवरी (वार्ता) कांग्रेस ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की।

see more..
स्वास्थ्य, शिक्षा, भ्रष्टाचार पर विफल रही केजरीवाल सरकार: कांग्रेस

स्वास्थ्य, शिक्षा, भ्रष्टाचार पर विफल रही केजरीवाल सरकार: कांग्रेस

22 Jan 2020 | 3:42 PM

नयी दिल्ली, 22 जनवरी (वार्ता) कांग्रेस ने स्वास्थ्य, शिक्षा, भ्रष्टाचार, महिला सुरक्षा तथा बेरोजगारी को लेकर आम आदमी पार्टी पर प्रहार करते हुए कहा है कि इन मुद्दों पर केजरीवाल सरकार विफल रही है और उसने दिल्ली की जनता को सिर्फ गुमराह करने का काम किया है।

see more..
image