Tuesday, Apr 23 2019 | Time 17:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हथियार लेकर चलने पर पूर्ण पाबंदी के आदेश
  • हरियाणा में बड़ी मात्रा में शराब और नकदी बरामद, 19 काबू
  • गेहूं की खरीद के लिए किए गए उचित प्रबंध::उपायुक्त
  • विशेष दस्ते ने किया एक क्विंटल फल और सब्जियां को नष्ट
  • मोदी सरकार की उद्योग, कृषि विकास की कोई नीति नहीं: पवार
  • हरियाणा पुलिस का छह बदमाशों पर एक-एक लाख रुपये का ईनाम घोषित
  • मोदी सरकार ने राजनीतिक परिभाषा बदलने का काम किया - बृजेंद्र सिंह
  • मध्य फिलीपींस में छह सैनिक मरे
  • वियतनाम में सैन्य विमान दुर्घटनाग्रस्त, सैनिक घायल
  • बैंकिंग, ऑटो में बिकवाली से तीसरे दिन टूटा बाजार
  • कांग्रेस प्रत्याशी औजला ने दाखिल किया नामांकन
  • उम्मीदवारों को चुनावी नैया पार लगाने के लिये डेरों का सहारा
  • पीयरलेस से 1514 करोड़ रुपए की वसूली
  • कांग्रेस की न्याय योजना करेगी गरीबी का खात्मा : कुलदीप बिश्नोई
  • कांग्रेस ने शिवराज सहित भाजपा के चार नेताओं के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत
राज्य


उरी बलात्कार से कश्मीरी मूल्य हुए तार-तार: महबूबा

उरी बलात्कार से कश्मीरी मूल्य हुए तार-तार: महबूबा

श्रीनगर 08 सितंबर (वार्ता) जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने उरी में नौ वर्षीय बालिका की बलात्कार के बाद हत्या की घटना को शर्मनाक करार देते हुए कहा है कि इस घटना से राज्य के साझा सामाजिक मूल्यों पर सवाल खड़ा हो गया है।

सुश्री मुफ्ती ने कहा कि बूनियार में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात के बाद इस घटना में गहरा दुख जताते हुए कहा कि इसके दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इस घटना से पीड़िता का परिवार सदमे में हैं और पूरा राज्य स्तब्ध है। उन्होंने कहा कि इस तरह की बर्बर घटना से राज्य के साझा सामाजिक मूल्यों पर सवाल खड़ा हो गया है।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष ने कहा कि समय आ गया है कि हर कोई आत्मनिरीक्षण करे और इस घटना को अंजाम देने वाले शैतानों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करे।

पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाने में राज्य पुलिस की कोशिशों की सराहना करते हुए कहा कि पुलिस को दोषियों को पकड़ने में जनता से जो सहयोग मिल रहा है, वह इस बात का सबूत है कि ऐसे बर्बर कृत्यों को कश्मीरी समाज स्वीकार नहीं करेगा।

More News
कश्मीर में आम हड़ताल से जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित

कश्मीर में आम हड़ताल से जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित

23 Apr 2019 | 5:39 PM

श्रीनगर, 23 अप्रैल (वार्ता) जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के अध्यक्ष मोहम्मद यासिन मलिक, अन्य अलगाववादी नेताओं, कारोबारियों और अन्य लोगों के साथ कथित तौर पर बुरा व्यवहार करने के विरोध में ज्वॉइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के आम हड़ताल के आह्वान की वजह से मंगलवार को कश्मीर घाटी में जन जीवन बुरी तरह प्रभावित रहा।

see more..
image