Wednesday, Jan 23 2019 | Time 18:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • श्री हजूर साहब के प्रबंधन में दख़लअंदाजी बर्दाश्त नहीं: लोंगोवाल
  • विराट को आखिरी दो वनडे और ट्वंटी-20 सीरीज से विश्राम
  • दृष्टि/नेत्रहीनों को भारतीय मुद्रा की पहचान हेतु आईआईटी राेपड़ ने लाँच की एंड्रायड ऐप ‘रोशनी‘
  • फिल्म निर्माण को बढ़ावा देकर रोजगार सृजन प्राथमिकता : रघुवर
  • प्रियंका को लाकर कांग्रेस ने राहुल की नाकामी स्वीकारी : भाजपा
  • वनवासियों का अभियान चलाकर राजस्व रिकार्डों में दर्ज हो नाम- भूपेश
  • ‘करतारपुर कॉरिडोर मसले पर भारत ने पाकिस्तान को भेजा निमंत्रण’
  • करतारपुर गलियारा परियोजना धीमी प्रगति के लिए कैप्टन सरकार जिम्मेदार: छीना
  • बारामूला मुठभेड़: तीन आंतकवादी ढेर, अभियान जारी
  • कुश्ती लीग की 50 यादगार कुश्तियों पर किताब रिलीज़
  • एनडीआरएफ को पहला नेताजी सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार
  • राष्ट्रीय बालिका दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगी मेनका
  • रोपोसो पर बनाये नई स्टाइल में गणतंत्र दिवस पर वीडियो
  • म्यूचुअल फंड निवेश की निगरानी अब पेटीएम मनी ऐप से भी
मनोरंजन Share

वैजयंती माला ने दक्षिण भारतीय अभिनेत्रियों को बॉलीवुड में दिलायी पहचान

वैजयंती माला ने दक्षिण भारतीय अभिनेत्रियों को बॉलीवुड में दिलायी पहचान

..जन्मदिवस 13 अगस्त पर ..

मुंबई 12 अगस्त (वार्ता) बॉलीवुड में वैजयंती माला का नाम एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने दक्षिण भारतीय अभिनेत्रियों को बॉलीवुड में विशिष्ट पहचान दिलायी।

तामिलनाडु में 13 अगस्त 1936 को जन्मी वैजयंती माला ने अपने सिने करियर की शुरूआत महज 13 वर्ष की उम्र में एक तमिल फिल्म से की। वर्ष 1951 में प्रदर्शित फिल्म ‘बहार’ से वैजयंती माला ने बॉलीवुड में भी अपने करियर की शुरूआत कर दी। वर्ष 1954 में प्रदर्शित फिल्म ‘नागिन’ वैजयंती माला के सिने करियर की पहली सुपरहिट फिल्म साबित हुयी। वर्ष 1955 में प्रदर्शित फिल्म ‘देवदास’ वैजयंती माला के सिने करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। विमल राय के निर्देशन में शरदचंद्र के उपन्यास पर बनी इस फिल्म में वैजयंती माला ने चंद्रमुखी के किरदार को रूपहले पर्दे पर साकार किया। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए वह सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी।

वर्ष 1958 में प्रदर्शित फिल्म ‘साधना’ वैजयंती माला के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार है। बी. आर. चोपड़ा निर्मित-निर्देशित फिल्म ‘साधना’ में वैजयंती माला अपने करियर में पहली बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार प्राप्त करने में सफल रही। वर्ष 1958 में ही प्रदर्शित ‘मधुमती’ वैजयंती माला के करियर की एक और उल्लेखनीय फिल्म साबित हुयी। विमल राय निर्मित यह फिल्म पुर्नजन्म पर आधारित थी। इस फिल्म में वैजयंती माला ने तिहरी भूमिका निभाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित की गयी।

वर्ष 1964 में प्रदर्शित ‘संगम’ वैजयंती माला के करियर की सबसे बड़ी सुपरहिट फिल्म साबित हुयी। राजकपूर निर्मित-निर्देशित ‘संगम’ प्रेम त्रिकोण पर आधारित थी। इस फिल्म में उनकी जोड़ी राज कपूर और राजेन्द्र कुमार के साथ सराही गयी। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वैजयंती माला सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित की गयी। वैजयंती माला ने अपने करियर के दौरान सभी बड़े कलाकारों के साथ काम किया। इनमें दिलीप कुमार, राज कपूर, देवानंद, राजेन्द्र कुमार और सुनील दत्त आदि शामिल हैं। वैजयंती माला की जोड़ी सर्वाधिक राजेन्द्र कुमार के साथ पसंद की गयी। वैजयंती माला ने वर्ष 1968 में शादी कर ली और इसके बाद फिल्मों में काम करना बंद कर दिया। वर्ष 1969 में उनकी अंतिम फिल्म ‘प्रिंस’ प्रदर्शित हुयी।

वैजयंती माला ने अपने करियर में हिंदी फिल्मों के अलावा तेलगु, तमिल और बंगला फिल्मों में भी अभिनय किया। वैजयंती माला को उनके उल्लेखनीय योगदान को देखते हुये उन्हें पदमश्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। फिल्मों में कई भूमिकाएं निभाने के बाद वैजयंती माला ने समाज सेवा के लिए राजनीति में प्रवेश किया और लोकसभा की सदस्य बनी। वैजयंती माला इन दिनों फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय नहीं है।

प्रेम दिनेश

वार्ता

More News
ठाकरे का किरदार मिलना 25 वर्ष की मेहनत का फल : नवाजउद्दीन

ठाकरे का किरदार मिलना 25 वर्ष की मेहनत का फल : नवाजउद्दीन

23 Jan 2019 | 1:50 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता नवाजउद्दीन सिद्दिकी का कहना है कि बाला ठाकरे का किरदार निभाने का अवसर मिलना उनके 25 वर्ष की कड़ी मेहनत का फल है।

 Sharesee more..
निर्देशन करना नहीं चाहते हैं शाहरूख

निर्देशन करना नहीं चाहते हैं शाहरूख

23 Jan 2019 | 1:41 PM

मुंबई 23 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान निर्देशन करना नहीं चाहते हैं।

 Sharesee more..
कलाकार गाये तो इससे बेहतर नहीं हो सकता : रहमान

कलाकार गाये तो इससे बेहतर नहीं हो सकता : रहमान

23 Jan 2019 | 1:32 PM

मुंबई 23 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने संगीतकार और गायक ए आर रहमान का कहना है कि यदि कलाकार फिल्मों में खुद गाने गायें तो इससे बेहतर कुछ नही हो सकता है।

 Sharesee more..
सोन चिड़ैया व लुका छिपी में होगी बॉक्स ऑफिस पर टक्कर

सोन चिड़ैया व लुका छिपी में होगी बॉक्स ऑफिस पर टक्कर

23 Jan 2019 | 1:21 PM

मुंबई 23 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म सोन चिडै़या और कार्तिक आर्यन की फिल्म लुका छिपी की बॉक्स ऑफिस पर टक्कर होने जा रही है।

 Sharesee more..
दूसरे शो मैन के रूप में पहचान बनायी सुभाष घई ने

दूसरे शो मैन के रूप में पहचान बनायी सुभाष घई ने

23 Jan 2019 | 1:10 PM

मुंबई 23 जनवरी(वार्ता)बॉलीवुड में सुभाष घई को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अपनी फिल्मों के जरिये राजकपूर के बाद दूसरे शो मैन के रूप में दर्शको के दिलों में खास पहचान बनायी है।

 Sharesee more..
image