Wednesday, Jul 17 2019 | Time 18:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इंज़माम ने छोड़ा पाकिस्तान बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता का पद
  • रात्रि भोज के साथ हिमाचल सरकार की आचार्य देवव्रत को विदाई
  • लखनऊ राजभवन में स्वामी विवेकानन्द की मूर्ति का अनावरण
  • कृष की इच्छामृत्यु के मांग मामले की भागलपुर जिला प्रशासन ने कराई जांच
  • शास्त्री बने रह सकते हैं टीम इंडिया के कोच
  • शेयर बाजार में तीसरे दिन तेजी जारी
  • ट्रेन से कटकर युवती की मौत
  • डिश टीवी ने बुजुर्गों के लिए शुरू की ‘आयुष्मान एक्टिव’ सेवा
  • सोनभद्र में जमीनी विवाद में गोलीबारी, तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत
  • इलाहाबाद -दीनदयाल उपाध्याय जं के बीच बिछेगी तीसरी पटरी
  • चिकित्सा परिषद् की जगह राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के गठन पर मंत्रिमंडल की मुहर
  • हाईकोर्ट ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जिलाधिकारी से मांगा जवाब
  • एनआईए के दुरुपयोग की आशंका जतायी विपक्ष ने
States


ण्ण्ण्ण्ण् नहीं रहे वीरेन दा

बरेली 28 सितंबर (वार्ता) हिन्दी कविता की नई पीढ़ी के सबसे चहेते और आदर्श कवि वीरेन डंगवाल का आज भोर यहां निधन हो गया। वह 68 वर्ष के थे, वीरेन दा के नाम से लोकप्रिय डा डंगवाल काफी समय से बीमार चल रहे थे। करीब तीन साल तक उपचार के सिलसिले में दिल्ली प्रवास के बाद वह पिछले रविवार को ही ण्ण्अपने शहर ण्ण् बरेली वापस लौटे थे। बरेली आने पर अगले दिन ही अचानक ज्यादा तबियत बिगडने पर 21 सितंबर को उनको यहां एसआरएमएस मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया थाएजहां आज तडके करीब चार बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके परिवार में पत्नी श्रीमती रीता डंगवाल के अलावा दो पुत्र प्रशांत और प्रफुल्ल का भरा पूरा परिवार है। साहित्य अकादमी द्वारा पुरस्कृत वीरेन दा पेशे से हिन्दी के प्रोफ़ेसर और शौक से बेइंतहा कामयाब पत्रकार थे। हिमांशु

image