Tuesday, Jul 23 2019 | Time 10:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीर पर ट्रंप के विवादित बयान पर अमेरिका ने सुधारी गलती
  • ट्रम्प, इमरान के बीच अफगानिस्तान मुद्दे पर हुई चर्चा
  • भाजपा नेता समेत परिवार के तीन सदस्य की गोली मारकर हत्या ,एक घायल
  • कश्मीर पर ट्रंप के विवादित बयान पर अमेरिका ने सुधारी गलती
  • मैक्रों को रूहानी का पत्र सौंपेंगे अब्बास अरागची
  • उ कोरिया से परमाणु निरस्त्रीकरण पर फिर होगी बातचीत : अमेरिका
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 24 जुलाई)
  • वेनेजुएला में राजधानी काराकास सहित 17 राज्यों में छाया अंधेरा
  • ईरान के दक्षिणी हिस्से में भूकंप के झटके
  • ‘प्रवसन के लिए नये समन्यव तंत्र स्थापित करने को लेकर 14 यूरोपीय देश सहमत’
  • हांगकांग में गैर कानूनी सभा करने को लेकर छह गिरफ्तार
  • सरकार के साथ विपक्षी नेताओं ने भी ट्रम्प के दावे का किया खंडन
  • मेघालय के महेंद्रगंज में निषेधाज्ञा लागू
  • विश्वास मत प्रस्ताव पर आज भी नहीं हुई वोटिंग, सदन की कार्यवाही मंगलवार तक स्थगित
भारत


विवेकानंद की प्रेरणा से नया भारत बनाना है : मोदी

विवेकानंद की प्रेरणा से नया भारत बनाना है : मोदी

नयी दिल्ली 11 सितम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद की प्रेरणा से नये भारत के निर्माण का आह्वान करते हुये कहा है कि स्वामी जी ने आज से सवा सौ साल पहले अमेरिका में भारत की संस्कृति, सभ्यता और प्राचीन परंपरा का परचम पूरी दुनिया में लहराया था तथा आज हम उनके बताये रास्तों पर चलते हुये देश के लोगों में वह आत्मविश्वास और गौरव भरने का फिर से प्रयास कर रहे हैं।

स्वामी विवेकानंद के शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में दिये ऐतिहासिक भाषण के 125वीं जयंती समारोह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुये श्री मोदी ने यह बात कही। समारोह का आयोजन कोयम्बटूर के रामकृष्ण मठ ने किया था।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि स्वामी विवेकानंद ने जब शिकागो में अपना भाषण दिया था उस समय सभागार में चार हजार लोग मौजूद थे। उन्होंने भारत के वैदिक दर्शन के बारे में दुनिया को बताया था। यह समारोह इस बात का प्रतीक है कि स्वामी जी के उस भाषण का कितना असर हुआ था और उस भाषण ने भारत के प्रति पश्चिम के दृष्टिकोण को न केवल बदला था बल्कि भारतीय दर्शन और विचार परंपरा को भी दुनिया में एक उचित स्थान मिला था।

श्री मोदी ने कहा कि आज भारत स्वामी विवेकानंद के उस दृष्टिकोण को अपनाकर पूर्ण आत्मविश्वास के साथ प्रगति कर रहा है और 125वीं जयंती समारोह में बड़ी संख्या में उपस्थित संतों के सात्विक गुणों तथा युवकों के उत्साह और ऊर्जा का मिलन भारत की वास्तविक ताकत को दर्शाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें पता चला है कि समारोह के साथ ही स्वामी विवेकानंद के संदेशों के प्रसार के लिए स्कूलों और कॉलेजों में कई तरह की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया है। युवा पीढ़ी केवल विचार-विमर्श ही नहीं करेगी बल्कि वह भारत के सामने उपस्थित चुनौतियों का हल निकालने का भी प्रयास करेगी। विवेकानंद ने भी ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के दर्शन का प्रतिपादन किया था और भारतीय संस्कृति, दर्शन तथा प्राचीन परंपराओं का प्रकाश पूरी दुनिया में फैलाया था। उन्होंने देशवासियों में आत्मविश्वास की भावना जगायी थी और राष्ट्रप्रेम तथा खुद पर विश्वास करने का मंत्र भी दिया था।

अरविंद अजीत

वार्ता

More News
अहमद पटेल की चुनाव याचिका पर अंतिम सुनवाई छह अगस्त को

अहमद पटेल की चुनाव याचिका पर अंतिम सुनवाई छह अगस्त को

22 Jul 2019 | 11:05 PM

नयी दिल्ली 22 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल की ओर से गुजरात उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली चुनाव याचिका पर अंतिम सुनवाई आगामी छह अगस्त को करेगा।

see more..
ईडी ने लॉटरी घोटाले में 119.6 करोड़ की संपत्ति जब्त की

ईडी ने लॉटरी घोटाले में 119.6 करोड़ की संपत्ति जब्त की

22 Jul 2019 | 10:26 PM

नयी दिल्ली, 22 जुलाई (वार्ता) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने लॉटरी घोटाला मामले में सैंटियागो मार्टिन तथा उसके साथियों की कंपनियों की 119.6 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

see more..
image