Friday, Sep 21 2018 | Time 21:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने कुआंग के निधन पर शोक जताया
  • हिन्दुस्तान जिंक ने अत्याधुनिक फुटबाल अकादमी की स्थापना की
  • जालन्धर में मतगणना के लिए पुख्ता प्रबंध
  • कांग्रेस ने की लोकतंत्र की हत्या: ब्रह्मपुरा
  • जडेजा की जबरदस्त वापसी, भारत ने बंगलादेश को 173 पर रोका
  • जडेजा की जबरदस्त वापसी, भारत ने बंगलादेश को 173 पर रोका
  • बिटक्वाइन पॉन्जी स्कीम के मामले में 42 88 करोड़ की संपत्ति कुर्क
  • करजई ने जलियांवाला बाग में शहीदों को दी श्रद्धांजलि
  • विश्व शांति दिवस पर मानव श्रंखला बना दिया शांति का संदेश
  • कश्मीर के बांदीपोरा में मुठभेड़, पांच आतंकवादी ढेर
  • राफेल पर सरकार के झूठ का पर्दाफाश : कांग्रेस
  • दक्षिण पश्चिम मानसून गांगेय पश्चिम बंगाल में अति सक्रिय
  • छत्तीसगढ़ में पूर्व पुलिस महानिदेशक समेत 17 अधिकारी भाजपा में शामिल
  • ओलांद के बयान की सच्चाई का पता लगा रही है सरकार
भारत Share

विवेकानंद की प्रेरणा से नया भारत बनाना है : मोदी

विवेकानंद की प्रेरणा से नया भारत बनाना है : मोदी

नयी दिल्ली 11 सितम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद की प्रेरणा से नये भारत के निर्माण का आह्वान करते हुये कहा है कि स्वामी जी ने आज से सवा सौ साल पहले अमेरिका में भारत की संस्कृति, सभ्यता और प्राचीन परंपरा का परचम पूरी दुनिया में लहराया था तथा आज हम उनके बताये रास्तों पर चलते हुये देश के लोगों में वह आत्मविश्वास और गौरव भरने का फिर से प्रयास कर रहे हैं।

स्वामी विवेकानंद के शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में दिये ऐतिहासिक भाषण के 125वीं जयंती समारोह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुये श्री मोदी ने यह बात कही। समारोह का आयोजन कोयम्बटूर के रामकृष्ण मठ ने किया था।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि स्वामी विवेकानंद ने जब शिकागो में अपना भाषण दिया था उस समय सभागार में चार हजार लोग मौजूद थे। उन्होंने भारत के वैदिक दर्शन के बारे में दुनिया को बताया था। यह समारोह इस बात का प्रतीक है कि स्वामी जी के उस भाषण का कितना असर हुआ था और उस भाषण ने भारत के प्रति पश्चिम के दृष्टिकोण को न केवल बदला था बल्कि भारतीय दर्शन और विचार परंपरा को भी दुनिया में एक उचित स्थान मिला था।

श्री मोदी ने कहा कि आज भारत स्वामी विवेकानंद के उस दृष्टिकोण को अपनाकर पूर्ण आत्मविश्वास के साथ प्रगति कर रहा है और 125वीं जयंती समारोह में बड़ी संख्या में उपस्थित संतों के सात्विक गुणों तथा युवकों के उत्साह और ऊर्जा का मिलन भारत की वास्तविक ताकत को दर्शाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें पता चला है कि समारोह के साथ ही स्वामी विवेकानंद के संदेशों के प्रसार के लिए स्कूलों और कॉलेजों में कई तरह की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया है। युवा पीढ़ी केवल विचार-विमर्श ही नहीं करेगी बल्कि वह भारत के सामने उपस्थित चुनौतियों का हल निकालने का भी प्रयास करेगी। विवेकानंद ने भी ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के दर्शन का प्रतिपादन किया था और भारतीय संस्कृति, दर्शन तथा प्राचीन परंपराओं का प्रकाश पूरी दुनिया में फैलाया था। उन्होंने देशवासियों में आत्मविश्वास की भावना जगायी थी और राष्ट्रप्रेम तथा खुद पर विश्वास करने का मंत्र भी दिया था।

अरविंद अजीत

वार्ता

More News
राफेल पर सरकार के झूठ का पर्दाफाश : कांग्रेस

राफेल पर सरकार के झूठ का पर्दाफाश : कांग्रेस

21 Sep 2018 | 8:33 PM

नयी दिल्ली 21 सितंबर (वार्ता) कांग्रेस ने कहा है कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर लगातार झूठ बोल रही मोदी सरकार की पोल फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद ने यह कहते हुए खोल दी है कि अनिल अंबानी की कंपनी के नाम का प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से ही किया गया था।

 Sharesee more..
भारत और मंगोलियाई सैनिकों ने रण कौशल के गुर साझा किये

भारत और मंगोलियाई सैनिकों ने रण कौशल के गुर साझा किये

21 Sep 2018 | 8:31 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) भारत और मंगोलिया के सैनिकों ने निरंतर खतरनाक रूप ले रहे आतंकवाद की बदलती चुनौतियों से निपटने के लिए संयुक्त सामरिक अभ्यास में एक दूसरे के साथ अभियानों की सफलता के गुर तथा तौर तरीके साझा किये।

 Sharesee more..

21 Sep 2018 | 8:09 PM

 Sharesee more..
image