Thursday, Feb 27 2020 | Time 23:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उपभोक्ताओं का फैसला सुनाने वालों के 38 फीसदी पद रिक्त
  • उत्तराखंड के अल्मोड़ा में तीन चरस तस्कर गिरफ्तार
  • ईमानदारी से टैक्स देना जरूरी : रविशंकर
  • श्रीलंका उत्तर भारत में व्यापार विस्तार करने को इच्छुक
  • श्रीलंका उत्तर भारत में व्यापार विस्तार करने को इच्छुक
  • फूल छाप कांग्रेसी, पार्टी की पीठ में छुरा घोंप रहे हैं - डॉक्टर साधो
  • आप ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निकाला
  • विधि खनिज सलाहकार समेत कई लोगों से की सीबीआइ ने पूछताछ
  • आप के पार्षद ताहिर हुसैन पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित
  • चार दिन से लापता अधेड़ का शव कुएं से बरामद
  • हमीरपुर में सेवानिवृत्त आया की हत्या के मामले में तीन को उम्रकैद
  • प्रयोगशाला सहायकों के चयन में धांधली मामले में हाईकोर्ट सख्त
  • मॉरिशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रुपन की विश्वनाथ मंदिर में पूजा
  • उप्र के प्रमुख नगरों का तापमान इस प्रकार रहा
  • योगी एवं टंडन ने किया कोनेश्वर महादेव मन्दिर परिसर का लोकार्पण
भारत


भारत-अफ्रीकी व्यापार संबंधों में विस्तार की व्यापक संभावना : नायडू

भारत-अफ्रीकी व्यापार संबंधों में विस्तार की व्यापक संभावना : नायडू

नयी दिल्ली 04 सितंबर (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि भारत और अफ्रीका महत्वपूर्ण व्यापारिक तथा आर्थिक संबंध हैं और इनके विस्तार की व्यापक संभावना है।

श्री नायडू ने बुधवार को यहां ‘बदलती वैश्विक व्यवस्था में भारत-अफ्रीका संबंध’ विषय पर आयोजित सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि अफ्रीकी महाद्वीपीय मुक्त व्यापार समझौता होने के बाद अफ्रीका दुनिया का सबसे बड़ा मुक्त व्यापार क्षेत्र बन जायेगा इसलिए भारत को इस क्षेत्र से अपने व्यापारिक तथा आर्थिक संबंध बढ़ाने की जरूरत है।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि यदि भारत शीघ्र ही 50 खरब डालर की अर्थव्यवस्था बनने के प्रयास में है तो अफ्रीका उसके इस ऐजेंडे का पूरक बन सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की देश की दस-सूत्रीय अफ्रीका नीति की चर्चा करते हुए कहा कि हमारी नीति का लक्ष्य अफ्रीका के साथ अपने संबंधों को निरंतर प्रगाढ़ बनाना है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने उपनिवेशवाद का दंश झेला है तथा इसके विरुद्ध मिलकर लड़े हैं इसलिए दोनों देशों के लोग ऐसी लोकतांत्रिक वैश्विक व्यवस्था चाहते है जिसमें भारत और अफ्रीका में बसने वाली विश्व की एक तिहाई आबादी को स्वर मिल सके।

श्री नायडू ने कहा कि अफ्रीका महात्मा गांधी की पहली कर्मभूमि थी जहां समानता, सम्मान और न्याय के लिए उनके आरंभिक संघर्ष ने भारत और अफ्रीका के बीच सदियों पुराने सांस्कृतिक तथा ऐतिहासिक संबंधों को प्रगाढ़ बनाया। उन्होंने कहा कि भारत, सफल डिजिटल क्रांति के अपने अनुभवों को अफ्रीका के साथ साझा करने के लिए तत्पर है। भारत जनसेवाओं के विस्तार, जन स्वास्थ्य और शिक्षा, डिजिटल साक्षरता, वित्तीय समावेश तथा दुर्बल वर्गों को समाज की मूलधारा में जोड़ने के बारे में अपने अनुभवों का लाभ अफ्रीका को उपलब्ध करा सकता है। इसके साथ ही भारत कृषि क्षेत्र में अफ्रीका को सहयोग दे सकता है। अफ्रीका में विश्व की 60 फीसदी कृषि योग्य भूमि है परंतु विश्व के कुल कृषि उत्पादन का 10 फीसदी ही अफ्रीका में पैदा होता है।

अभिनव.संजय

वार्ता

More News
बिल्डर भसीन को अमेरिका जाने की सुप्रीम कोर्ट की अनुमति

बिल्डर भसीन को अमेरिका जाने की सुप्रीम कोर्ट की अनुमति

27 Feb 2020 | 10:58 PM

नयी दिल्ली, 27 फरवरी (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने ग्रैंड वेनिस मॉल के प्रोमोटर सतिंदर सिंह भसीन को पिता के इलाज के लिए अमेरिका जाने की गुरुवार को अनुमति दे दी।

see more..
आप ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निकाला

आप ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निकाला

27 Feb 2020 | 10:32 PM

नयी दिल्ली 27 फरवरी (वार्ता) आम आदमी पार्टी (आप) ने खुफिया ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के आरोपी नेहरू विहार से पार्षद ताहिर हुसैन को गुरुवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया।

see more..
भारत ने ओआईसी के आरोपों को किया खारिज

भारत ने ओआईसी के आरोपों को किया खारिज

27 Feb 2020 | 10:08 PM

नयी दिल्ली 27 फरवरी (वार्ता) भारत ने उत्तरपूर्वी दिल्ली में हिंसा की घटनाओं पर इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की टिप्पणियों को खारिज करते हुए आज कहा कहा कि उसकी टिप्पणियां तथ्यात्मक रूप से गलत, चुनींदा एवं गुमराह करने वाली हैं।

see more..
image