Tuesday, Sep 25 2018 | Time 20:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गुजरात के गिर वन एक और शेरनी की मौत, दो सप्ताह में 14 सिंहो की मौत
  • वसुन्धरा नेे राजस्थान को कर्ज में डुबोया-गहलोत
  • निजी स्कूल वाहनों में लगे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे: उच्च न्यायालय
  • झांसी में प़ं दीनदयाल उपाध्याय को दी गयी श्रद्धांजलि
  • टी-72 टैंकों के लिए खरीदे जायेंगे एक हजार इंजन
  • आधार की अनिवार्यता मामले में फैसला बुधवार को
  • झारखंड ने तमिलनाडु को आठ रन से हराया
  • कश्मीर की वर्तमान समस्या कांग्रेस की समझौतावादी नीतियों का कारण-माधव
  • लाभ पद मामला: आप विधायकों का अनुरोध चुनाव आयोग ने ठुकराया
  • एमएसएमई को मिलेगा मात्र 59 मिनट में एक करोड़ रुपये तक के ऋण
  • जेटली ने लाँच किया वित्तीय समावेशन सूचकांक
  • सौहार्द्र के लिए युवाओं काे हुनरमंद बनाना जरूरी : नीतीश
  • रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग बढायेंगे भारत और मोरक्को
  • हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण तीन लाेगों की मौत, चार घायल
  • कांग्रेस का मप्र में ई-निविदा घोटाले का आरोप,आयोग से हस्तक्षेप की मांग
दुनिया Share

नाइजीरिया में आठ लाख लोग भुखमरी के कगाार पर

नाइजीरिया में आठ लाख लोग भुखमरी के कगाार पर

आबुजा 05 सितंबर (रायटर) यूरोपीय देशों ने संयुक्त राष्ट्र को चेतावनी दी है कि पश्चिमी अफ्रीकी देश नाइजीरिया के उत्तर पूर्वी इलाके में 800,000 से अधिक लोगों को सहायता से काट दिया गया है जिसके कारण उपके समक्ष भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने संयुक्त राष्ट्र के आपातकालीन कार्यक्रमों के निर्देशकों और अन्य सहायता एजेंसियों को लिखे पत्र में कहा कि संयुक्त राष्ट्र आपदा की तात्कालिकता को दबाने में असफल रहा जिसने बच्चों को भुखमरी के खतरे में डाल दिया है। उन्होंने कहा,“हम उत्तर-पूर्व नाइजीरिया में तत्काल मानवतावादी और सुरक्षा आवश्यकता सहायताओं को लेकर बहुत चिंतित हैं। नाइजीरिया में संरा मिशन को सरकार को जीवन रक्षक सहायता की ज़रूरत वाले लोगों को तेजी से और बिना छेड़छाड़ किए मानवतावादी पहुंच की अनुमति देने के लिए मजबूर करना चाहिए।”

पत्र में कहा गया है कि नाइजीरिया के बोर्नो राज्य के 823,000 लोग सहायता के लिए पहुंच वाले इलाके से बाहर हैं जिन्हें तुरंत मदद पहुंचाने की आवश्यकता है। पिछले 11 महीनों में क्षेत्र छोड़ने वाले बच्चों में कुपोषण की गंभीर समस्या से भी जूझ रहे थे।

यह इलाका पिछले एक दशक से खूंखार आतंकी संगठन बोको हराम और इसके सहयोगी इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी अभियानों से प्रभावित है। नाइजीरिया की सरकार ने भी आतंकवादी संगठनों के साथ एक दशक लंबे संघर्ष के कारण उत्तर पूर्व इलाके में उत्पन्न आपात स्थिति को मानते हुए कहा कि लोगों तक पहुंचाये जाने वाले मदद प्रयासों को मानवतावादी राहत से दीर्घकालिक विकास सहायता में तब्दील किया जाना चाहिए।

 

More News

25 Sep 2018 | 7:43 PM

 Sharesee more..

ब्रिटिश अरबपति दंपति की थाइलैंड में हत्या

25 Sep 2018 | 6:55 PM

 Sharesee more..
image