Wednesday, Nov 21 2018 | Time 05:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच
कव्वाली को संगीतबद्ध करने में महारत थे रोशन

कव्वाली को संगीतबद्ध करने में महारत थे रोशन

15 Nov 2018 | 1:45 PM

..पुण्यतिथि 16 नवंबर के अवसर पर ..
मुंबई 15 नवंबर (वार्ता) हिंदी फिल्मों में जब कभी कव्वाली का जिक्र होता है तो संगीतकार रोशन का नाम सबसे पहले लिया जाता है ।

आगे देखे..
गुलाम हैदर ने पहचाना था लता की प्रतिभा को

गुलाम हैदर ने पहचाना था लता की प्रतिभा को

08 Nov 2018 | 11:41 AM

(पुण्यतिथि नौ नवंबर के अवसर पर)
मुंबई 08 नवंबर (वार्ता) लता मंगेशकर के सिने करियर के शुरूआती दौर में कई निर्माता-निर्देशक और संगीतकारों ने पतली आवाज के कारण उन्हें गाने का अवसर नहीं दिया लेकिन उस समय एक संगीतकार ऐसे भी थे जिन्हें लता मंगेशकर की प्रतिभा पर पूरा भरोसा था और उन्होंने उसी समय भविष्यवाणी कर दी थी ..यह लड़की आगे चलकर इतना अधिक नाम करेगी कि बड़े से बड़े निर्माता, निर्देशक और संगीतकार उसे अपनी फिल्म में गाने का मौका देंगे।

आगे देखे..
अभिनय की दुनिया के विधाता थे संजीव कुमार

अभिनय की दुनिया के विधाता थे संजीव कुमार

05 Nov 2018 | 11:03 AM

(पुण्यतिथि 06 नवंबर के अवसर पर)
मुंबई, 05 नवंबर (वार्ता) अपने दमदार अभिनय से हिंदी सिनेमा जगत में अपनी विशिष्ट पहचान बनाने वाले संजीव कुमार को अपने करियर के शुरूआती दिनों में वह दिन भी देखना पड़ा जब उन्हें फिल्मों में नायक के रूप में काम करने का अवसर नहीं मिलता था।

आगे देखे..
भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी आर चोपड़ा

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी आर चोपड़ा

04 Nov 2018 | 11:32 AM

..पुण्यतिथि 05 नवंबर के अवसर पर ..
मुंबई 04 नवंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में बी.आर.चोपड़ा को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जायेगा जिन्होंने पारिवारिक. सामाजिक और साफ सुथरी फिल्में बनाकर लगभग पांच दशक तक सिने प्रेमियों के दिल में अपनी खास पहचान बनायी।

आगे देखे..
खलनायकी को नया आयाम दिया प्रेम नाथ ने

खलनायकी को नया आयाम दिया प्रेम नाथ ने

02 Nov 2018 | 12:12 PM

(पुण्यतिथि 03 नवंबर के अवसर पर )
मुंबई, 02 नवम्बर (वार्ता) बॉलीवुड में प्रेम नाथ को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने नायक के रूप में फिल्म इंडस्ट्री पर राज करने के बावजूद खलनायकी को नया आयाम देकर दर्शकों के दिलों पर अपनी अमिट छाप छोड़ी।

आगे देखे..
ओ जाने वाले हो सके तो लौट के आना

ओ जाने वाले हो सके तो लौट के आना

30 Oct 2018 | 7:47 PM

(पुण्यतिथि 31 अक्टूबर के अवसर पर)
मुंबई, 30 अक्टूबर (वार्ता) हर दिल अजीज संगीतकार सचिन देव बर्मन का मधुर संगीत आज भी श्रोताओं को भाव विभोर करता है।

आगे देखे..
सिनेमा जगत के पितामह थे व्ही शांताराम

सिनेमा जगत के पितामह थे व्ही शांताराम

29 Oct 2018 | 11:50 AM

(पुण्यतिथि 30 अक्तूबर के अवसर पर)
मुंबई, 29 अक्टूबर (वार्ता) सिनेमा जगत के पितामह व्ही शांताराम को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने सामाजिक और पारिवारिक पृष्ठभूमि पर अर्थपूर्ण फिल्में बनाकर लगभग छह दशकों तक सिने दर्शकों के दिलों में अपनी खास पहचान बनायी।

आगे देखे..
हिन्दी सिनेमा के राजकुमार थे प्रदीप कुमार

हिन्दी सिनेमा के राजकुमार थे प्रदीप कुमार

26 Oct 2018 | 12:56 PM

( पुण्यतिथि 27 अक्टूबर )
मुंबई 26 अक्टूबर (वार्ता) हिन्दी सिनेमा में प्रदीप कुमार को ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने 50 और 60 के दशक में ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी फिल्मों में अपने किरदारों के जरिये दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।

आगे देखे..
गीतकारों को वाजिव हक दिलाया साहिर लुधियानवी ने

गीतकारों को वाजिव हक दिलाया साहिर लुधियानवी ने

24 Oct 2018 | 12:44 PM

... पुण्यतिथि 25 अक्टूबर  ...
मुंबई, 24 अक्टूबर (वार्ता) साहिर लुधियानवी हिन्दी फिल्मों के ऐसे पहले गीतकार थे, जिनका नाम रेडियो से प्रसारित फरमाइशी गानों में दिया गया।

आगे देखे..
शास्त्रीय संगीत को विशिष्ट पहचान दिलाई मन्ना डे ने

शास्त्रीय संगीत को विशिष्ट पहचान दिलाई मन्ना डे ने

23 Oct 2018 | 11:10 AM

..पुण्यतिथि 24 अक्टूबर  ..
मुंबई. 23 अक्टूबर (वार्ता)भारतीय सिनेमा जगत में मन्ना डे को एक ऐसे पार्श्वगायक के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपने लाजवाब पार्श्वगायन के जरिये शास्त्रीय संगीत को विशिष्ट पहचान दिलायी।

आगे देखे..
image