Wednesday, Jan 22 2020 | Time 22:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ट्रंप के शीघ्र पाकिस्तान दौरे की संभावना : कुरैशी
  • दहेज में बाइक नहीं देने पर विवाहिता की हत्या
  • हेमंत ने सात ग्रामीणों की हत्या की जांच के लिए दिया एसआईटी गठित करने का आदेश
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • महिला सशक्तीकरण पर आधारित फिल्म है ‘छोटकी ठकुराइन’
  • महाराष्ट्र ने 256 पदकों के साथ बरकरार रखा अपना खिताब
  • महाराष्ट्र ने 256 पदकों के साथ बरकरार रखा अपना खिताब
  • मनोरंजन संग संदेश देगी ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ : आयुष्मान
  • राजपथ पर दिखेगी यूपी के सर्वधर्म समभाव की झलक
  • पटना में बनेगा 25 हजार अभ्यर्थियों के बैठने की क्षमता वाला परीक्षा केंद्र
  • धर्मेंद्र प्रधान ने सेल की ‘सर्विस स्कीम’ की लांच
  • पुलवामा में एक आतंकवादी ढेर, दो जवान शहीद
  • सीएए: अमरिंदर ने केंद्र की तुलना नाज़ी सरकार से की, बादल को भेजी ‘मीन कैम्फ‘ की प्रति
लोकरुचि


पंचक के बाद दशाश्वमेध घाट में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

पंचक के बाद दशाश्वमेध घाट में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

प्रयागराज, 26 जुलाई (वार्ता) देवाधिदेव के प्रिय मास श्रावण में पंचक की समाप्ति के साथ ही संगम नगरी प्रयागराज के दशाश्वमेघ घाट पर श्रद्धा का सैलाब हिलोरें मारने लगा है। हर-हर महादेव के गगनभेदी उदघोष के साथ भगवाधारी कावड़ियों के हुजूम से तीर्थराज केसरिया रंग में रंग गया है।

शिवभक्त कांवरियों ने 17 जुलाई को शुरू हुये पवित्र मास में गंगाजल लेकर भोलेनाथ का अभिषेक करने के लिए समूह में देवाधिदेव महादेव काशी विश्वनाथ और देवधर में बाबा वैजनाथ धाम के लिए प्रस्थान करना आरंभ कर दिया था लेकिन 19 जुलाई से पंचक लग जाने के कारण तीर्थराज प्रयाग से पैदल कांवरियों का जत्थे में कमी देखी गयी। 24 जुलाई को पंचक खत्म होने के बाद से शास्त्री ब्रिज केसरिया रंग से नहा गया और कांवरियों के “बोल बम और हर-हर महादेव के उद्घोष से गु्ंजायमान हो रहा है।

बुधवार को पंचक समाप्त होने के बाद भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए दशाश्वमेध घाट कांवरियों से एक बार फिर केसरिया हाे उठा। स्वस्थ्य पुरूष, महिलाएं ही नहीं बल्कि बच्चे, दुर्बल काया और दिव्यांग युवाओं में अपने आराध्य के प्रति स्नेह देखने को मिल रहा है। इस घाट पर सुबह से शाम तक कांवरियों को नहाते और जल भरते देखा जा सकता है। काशी विश्वनाथ और देवधर जाने के लिए कांवडियों का इलाहाबाद जंक्शन, इलाहाबाद सिटी, दारागंज, झूंसी रेलवे स्टेशनों पर भीड़ लगी रहती है।

इलाहाबाद सिटी स्टेशन पर काशी पहुंचने वाली महिला कांवरिया गोमती देवी और रघुराजी ने बताया कि उनकी यह पहली कांवर यात्रा है। उन्होने बताया कि गंगा स्नान से पहले तक उनके मन में यही संशय था कि कैसे इसे पूरा करेंगी। लेकिन जैसे ही गंगा में आस्था की डुबकी लगाई और ‘बोल बम’ का उच्चरण मुंह से निकला, सारा संशय ही समाप्त हो गया। उन्होने बताया कि उनके साथ अलग-अलग कोच में कम से 15 महिलाएं और पुरूष भी हैं।

गोमती देवी ने बताया कि शुक्रवार को दारागंज के दशाश्वमेध घाट पर जल भरने के लिए दूर-दराज शहर के ग्रामीण क्षेत्र के अलावा कौशाम्बी, प्रतापगढ़ और जौनपुर से जल भरने के लिए कांवरिये पहुंचे। कुछ तो स्नान के बाद आस-पास के शिवालयों में ही भोले का जलाभिषेक कर रहे हैं और कुछ काशी तो कुछ बाबा वैजनाथ धाम प्रस्थान कर रहे हैं।

मिर्जापुर गंगहरा निवासी राजितराम ने बताया कि पिछले पांच साल से वह कांवर यात्रा कर रहे हैं। प्रकृति ने उनके शरीर को कमजोर बना दिया लेकिन, मन में इच्छा है कि भगवान की भक्ति करके अपने जीवन को साकार कर लें। देवाधिदेव महादेव को जलाभिषेक के लिए बाबा विश्वनाथ जाने वाले कावंरियों की भीड़ बढ़ रही है।

आसमान में छाई काली घटाओं के बीच बोल-बम के उद्घोष ने पूरे माहौल को शिवमय कर दिया। दशाश्वमेध घाट से कांवरियों की टोलियां कंधे पर कांवर उठाए दिल में शिव भक्ति की अलख जगाए बोल बम के जयकारे लगाते कांवरियों की भीड़ उमड़ पड़ी है। कांवड यात्रा में महिला, पुरूष, बच्चियां, बच्चे, और विकलांग तक भोले की कृपा से केसरिया रंग में रंगे काशी विश्वनाथ बाबा की नगरी जाने के लिए उतावले दिख रहे। शास्त्री ब्रिज केसरिया से सराबोर हो ‘बोल बम और हर-हर महादेव’ के उदघोष से गुंजायामन हो उठा है।

दिनेश प्रदीप

वार्ता

More News
पर्यटको की आमद से इटावा सफारी पार्क हुआ गुलजार

पर्यटको की आमद से इटावा सफारी पार्क हुआ गुलजार

17 Jan 2020 | 4:56 PM

इटावा, 17 जनवरी (वार्ता)उत्तर प्रदेश में चंबल के बीहड़ों में स्थित इटावा सफारी पार्क पर्यटकों को खूब भा रहा है। सफारी पार्क में गत 25 नंबवर से 15 जनवरी तक 34 हजार से अधिक पर्यटको ने अपनी मौजूदगी से सुखद एहसास कराया है।

see more..
योगी ने गोरखनाथ मंदिर में चढ़ायी खिचड़ी

योगी ने गोरखनाथ मंदिर में चढ़ायी खिचड़ी

15 Jan 2020 | 6:50 PM

गोरखपुर 15 जनवरी (वार्ता) सूर्य के बुधवार तड़के मकर राशि में प्रवेश के साथ ही नाथ सम्प्रदाय के प्रसिद्ध शिवावतारी गोरक्षनाथ मंदिर में परम्परागत रूप से खिचड़ी चड़ाने का क्रम शुरू हो गया है।

see more..
बिहार में धूमधाम से मनायी जा रही मकर संक्रांति

बिहार में धूमधाम से मनायी जा रही मकर संक्रांति

15 Jan 2020 | 11:11 AM

पटना 15 जनवरी (वार्ता) बिहार में मकर संक्राति का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है।

see more..
आध्यात्म, वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

आध्यात्म, वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

13 Jan 2020 | 4:59 PM

प्रयागराज, 13 जनवरी (वार्ता) पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त:सलीला स्वरूप में प्रवाहित सरस्वती के त्रिवेणी की रेत वैराग्य, ज्ञान और आध्यात्मिक शक्ति से ओतप्रोत है।

see more..
मकर संक्रांति के दिन पतंग उड़ाने की परंपरा आज भी है बरकरार

मकर संक्रांति के दिन पतंग उड़ाने की परंपरा आज भी है बरकरार

13 Jan 2020 | 12:51 PM

पटना,13 जनवरी (वार्ता) मकर संक्रांति के दिन उमंग, उत्साह और मस्ती का प्रतीक पतंग उड़ाने की लंबे समय से चली आ रही परंपरा मौजूदा दौर में काफी बदलाव के बाद भी बरकरार है।

see more..
image