Monday, Oct 21 2019 | Time 23:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मरे ने लगायी 116 स्थान की छलांग
  • दुनिया को रोशन करने की क्षमता वाला झारखंड अंधेरे में रह गया : रघुवर
  • एग्जिट पोल के नतीजे, राहुल पर भाजपा का कटाक्ष
  • ऑस्ट्रेलियाई अखबारों ने पहला पन्ना काले रंग में प्रकाशित कर दिखाई एकजुटता
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र जूनियर खो खो के क्वार्टर फाइनल में
  • नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरू को अंक बांटने पर मजबूर किया
  • नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरू को अंक बांटने पर मजबूर किया
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • रेड्डी ने गुवाहाटी में बीएसएफ जवानों के साथ मनाई दिवाली
  • दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र सियाचिन पर्यटन के लिए खुला
India


अल कायदा की धमकी से निपटने में सुरक्षा बल सक्षम: सरकार

अल कायदा की धमकी से निपटने में सुरक्षा बल सक्षम: सरकार

नयी दिल्ली, 11 जुलाई (वार्ता) अल कायदा के सरगना अयमन अल जवाहिरी के ताजा वीडियाे में जम्मू-कश्मीर में भारतीय फौज को निशाना बनाने के एलान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सरकार ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सुरक्षा बल हमारे नागरिकों, देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने में पूर्ण सक्षम है।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां नियमित ब्रीफिंग में जवाहिरी के ताजा वीडियो के बारे में पूछे जाने पर कहा,“ऐसी धमकियां जो हैं न, हम सुनते रहते हैं, मुझे नहीं लगता इनको गंभीरता से लेना चाहिए।” उन्होंने कहा कि अल कायदा संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित एक आतंकवादी संगठन है और उनके आतंकवादी भी प्रतिबंधित हैं। ऐसी धमकियों पर हमें ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है।
श्री कुमार ने कहा कि हमारे सुरक्षा बल हमारे नागरिकों की जानमाल की सुरक्षा, देश की संप्रभुता, प्रादेशिक अखंडता का ख्याल रखने का पूरा दमखम रखते हैं।
वीडियो में जवाहिरी के आतंकवादियों से पाकिस्तान की सेना पर विश्वास नहीं करने संबंधी बयान के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा कि वह ऐसी बातों पर टिप्पणी करके किसी को बेवजह महत्व नहीं देना चाहते हैं।
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की ताजा रिपोर्ट में जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति के बारे में टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने दोहराया कि ताजा रिपोर्ट जम्मू-कश्मीर को लेकर झूठी एवं दुष्प्रचार आधारित अवधारणा को बढ़ाने वाली है। रिपोर्ट के निष्कर्ष भारत की संप्रभुता एवं प्रादेशिक अखंडता का उल्लंघन करते हैं और सीमापार आतंकवाद के मुख्य मुद्दे की अनदेखी करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट में विश्व के सबसे बड़े जीवंत लोकतंत्र और आतंकवाद को खुल्लम-खुल्ला बढ़ावा देने वाले देश के बीच कृत्रिम समानता बताने की कोशिश की गयी है।
उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि रिपोर्ट में आतंकवाद को जायज ठहराने की कोशिश की गयी है जो बेहद चिंता की बात है। यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के रुख के सर्वथा विपरीत है। सुरक्षा परिषद ने पुलवामा हमले की कठोर निंदा की है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को जायज ठहराना संयुक्त राष्ट्र की सदस्यता के अयोग्य ठहराये जाने का मामला बनता है।
प्रवक्ता ने दोहराया कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और पाकिस्तान ने बलपूर्वक उसके एक हिस्से पर अवैध कब्जा किया हुआ है। भारत बार-बार अपील करता रहा है कि पाकिस्तान उस हिस्से से कब्जा छोड़े। उन्होंने इस रिपोर्ट को आयोग की गंभीरता को कम करने वाला और संयुक्त राष्ट्र के विचार से भटका हुआ करार दिया।
सचिन.श्रवण
वार्ता

More News
महाराष्ट्र, हरियाणा में भाजपा की लहर

महाराष्ट्र, हरियाणा में भाजपा की लहर

21 Oct 2019 | 9:39 PM

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) दो तिहाई से भी अधिक बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में लौटती नजर आ रही है।

see more..
दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र सियाचिन पर्यटन के लिए खुला

दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र सियाचिन पर्यटन के लिए खुला

21 Oct 2019 | 9:18 PM

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (वार्ता) लद्दाख को केन्द्र शासित प्रदेश बनाने के बाद सरकार ने वहां पर्यटन बढाने के उद्देश्य से बड़ा निर्णय लेते हुए दुनिया के सबसे ऊंचे रणक्षेत्र सियाचिन को पर्यटन के लिए खोल दिया है।

see more..
रविदास मंदिर के निर्माण के लिए शीर्ष अदालत की मंजूरी

रविदास मंदिर के निर्माण के लिए शीर्ष अदालत की मंजूरी

21 Oct 2019 | 9:09 PM

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने दक्षिणी दिल्ली में तुगलकाबाद इलाके में रविदास मंदिर का निर्माण पूर्व में ढहाए गये स्थल पर ही कराये जाने की सोमवार को अनुमति दे दी।

see more..
image