Tuesday, Apr 23 2019 | Time 18:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में तीसरे चरण के चुनाव में 60 प्रतिशत पड़े वोट
  • खाद्य तेल नरम, चीनी, गेहूँ, दालें मजबूत
  • बाबूलाल मरांडी को दी गई धमकी की जांच शुरू
  • कांग्रेस और भाजपा दोनों ने ही किया लोगों का उत्पीड़न : नरेश उत्तम पटेल
  • ईरानी संसद ने सेंटकाॅम को आतंकवादी समूह घोषित किया
  • मजबूत सरकार-देश के लिए मजबूत चौकीदार की जरूरत: मोदी
  • म्यांमार के शीर्ष न्यायालय ने रॉयटर्स पत्रकारों की अपील खारिज की
  • बेयरस्टो, वार्नर की वतन वापसी से हैदराबाद को लगेगा झटका
  • बेयरस्टो, वार्नर की वतन वापसी से हैदराबाद को लगेगा झटका
  • छत्तीसगढ़ में शाम पांच बजे तक 64 3 प्रतिशत मतदान
  • बेयरस्टो, वार्नर की वतन वापसी से हैदारबाद को लगेगा झटका
  • बेयरस्टो, वार्नर की वतन वापसी से हैदारबाद को लगेगा झटका
  • गुजरात में 65 प्रतिशत से अधिक मतदान , मोदी, आडवाणी, शाह, जेटली ने भी की वोटिंग
  • तीसरे चरण में बंगाल, असम, गोवा, केरल और त्रिपुरा में भारी मतदान
दुनिया


अफगानिस्तान के बारे में अपनी रणनीति की समीक्षा को तैयार है अमेरिका

अफगानिस्तान के बारे में अपनी रणनीति की समीक्षा को तैयार है अमेरिका

वाशिंगटन, 11 जुलाई (रायटर) अफगानिस्तान के बारे में भविष्य में अपनी याेजनाओं और वहां अमेरिका सेना की तैनाती जैसे मसलों पर अपनी रणनीति की समीक्षा के लिए अमेरिका विचार कर रहा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पिछले वर्ष अगस्त में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान में सैन्य सलाहकारों की तैनाती, प्रशिक्षण और अन्य कार्यों के लिए विशेष फौजों अौर अफगानी सुरक्षा बलों को अपनी तरफ से वायु सेना की मदद जैसे विषयों पर खुलकर प्रतिबद्धता व्यक्त की थी लेकिन वहां की स्थिति में कोई खास सुधार नहीं होने से वह हताश प्रतीत हो रहे हैं। तालिबानी आतंकवादियों को अफगानिस्तान सरकार के साथ खुली बातचीत के लिए भी विवश करना भी एक अन्य मकसद था।

सूत्रों ने बताया कि वह अफगानिस्तान में काफी लंबे खिंच रहे युद्व जैसे हालातों से भी अधिक खुश नहीं थे लेकिन उनके सलाहकारों ने उनसे कुछ और समय तक प्रतीक्षा करने का आग्रह किया था ताकि स्थिति में सुधार हो जाए। पिछले वर्ष उन्होंने अफगानिस्तान में तीन हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती को मंजूरी दी थी और इसके बाद वहां अमेरिकी सैनिकों की संख्या बढ़कर 15 हजार हो गई है।

अब एक वर्ष पूरा होने ही वाला है लेकिन स्थिति में कोई खास सुधार नहीं हुआ है और तालिबान तथा वहां की सेना के बीच संघर्ष का खामियाजा अफगानिस्तान की जनता को अधिक उठाना पड़ रहा है। चिंता का विषय यह भी है कि तालिबान की स्थिति ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत हो रही है।

अफगानिस्तान मामलों पर बेहद करीबी से नजर रख रहे अमेरिकी प्रशासन के माैजूदा और पूर्व अधिकारियों तथा सलाहकारों का कहना है कि अभी इस मामले में काेई औपचारिक निर्णय नहीं लिया है लेकिन अगले कुछ महीनाें में सरकार के स्तर पर स्थिति की समीक्षा की तैयारी की जा रही है।

जितेन्द्र

रायटर

More News
आईएस ने श्रीलंका हमले की ली जिम्मेदारी

आईएस ने श्रीलंका हमले की ली जिम्मेदारी

23 Apr 2019 | 5:37 PM

कोलंबो, 23 अप्रैल (वार्ता) आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने श्रीलंका में गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किये गये हमले की जिम्मेदारी ले ली है।

see more..
image