Saturday, Feb 29 2020 | Time 18:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दल बदल पर फैसले त्वरित होने चाहिये- हरिवंश
  • आयकर अधिकारियों ने मुख्यमंत्री की उप सचिव के आवास को किया सील
  • अध्यापक करेंगे 15 मार्च को शिक्षा मंत्री के गृहनगर में प्रदर्शन, 19 मार्च को संसद मार्च
  • महिलाओं ने पाक कला के हुनर से तैयार की सम्मान से जीने की राह
  • फोटो कैप्शन पहला सेट
  • कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार गम्भीर, रोकने के प्रयास जारी: अनुराग
  • पूर्व पार्षद समेत तीन लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज
  • पिछड़ा वर्ग 15 मार्च को करेगा हिसार में मुख्यमंत्री का सम्मान: गंगवा
  • चेन्नई के एक कारोबारी समूह पर आयकर का छापा
  • राजीव चौक पर उपद्रवी लोगों ने भड़काऊ नारे लगाये
  • जैक्सन का नाबाद अर्धशतक, सौराष्ट्र के 5/217
  • श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग भूस्खलन के कारण बंद
  • कुश्ती का एशियाई ओलम्पिक क्वालिफायर रद्द
  • कोच्चि के अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत
  • एयरटेल ने दूरसंचार विभाग को आठ हजार करोड़ से अधिक चुकाया
भारत


भारत-विरोधी गतिविधियाँ क्षेत्रीय शांति के लिए शुभ संकेत नहीं : मोदी

भारत-विरोधी गतिविधियाँ क्षेत्रीय शांति के लिए शुभ संकेत नहीं : मोदी

नयी दिल्ली 19 अगस्त (वार्ता) जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटाये जाने के बाद भारत विरोधी माहौल तैयार करने की पाकिस्तान की कोशिशों के परिप्रेक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से टेलीफोन पर बात की और कहा कि “कुछ क्षेत्रीय नेताओं” की भारत के खिलाफ हिंसा भड़काने की कोशिश क्षेत्रीय शांति के लिए शुभ संकेत नहीं है।

श्री मोदी ने पाकिस्तानी नेताओं का नाम लिये बिना कहा कि “कुछ क्षेत्रीय नेता” लगातार भारत विरोधी राग अलाप रहे हैं और भारत के खिलाफ हिंसा का माहौल तैयार करने के लिए दूसरों को भड़का रहे हैं जो शांति के लिए अच्छा नहीं है। उन्होंने आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण तैयार करने तथा सीमा पार आतंकवाद को समाप्त करने पर जोर दिया।

करीब 30 मिनट तक हुई इस बातचीत में दोनों नेताओं ने कई द्विपक्षीय तथा अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर बात की। अफगानिस्तान की स्वतंत्रता के आज सौ साल पूरे होने का उल्लेख करते हुये श्री मोदी ने सही मायने में अखंड, सुरक्षित, लोकतांत्रिक और स्वतंत्र अफगानिस्तान के लिए भारत की प्रतिबद्धता दुहराई।

श्री मोदी ने दोनों नेताओं के बीच इस साल जून के अंत में ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान हुई मुलाकात को याद किया। उन्होंने श्री ट्रंप के साथ नियमित संपर्क रहने का भी उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि भारत के वाणिज्य मंत्री और उनके अमेरिकी समकक्ष के बीच द्विपक्षीय व्यापार के मुद्दों पर चर्चा के लिए जल्द से जल्द बैठक होगी जिससे दोनों देशों को लाभ होगा।

 

image