Wednesday, Jun 19 2019 | Time 18:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भेल की एक हजार एकड़ जमीन काे वापस लिया जाएगा - गोविंद
  • बालिका के अपहरण और हत्या के मामले में दो लड़के गिरफ्तार
  • ‘एक देश एक चुनाव’ पर संसद में चर्चा कराए सरकार : कांग्रेस
  • बंगलादेश, दक्षिण कोरिया के चैनल भारत में दिखेंगे
  • बंगलादेशी श्रमिकों के साथ झड़प में एक चीनी श्रमिक की मौत
  • बंगलादेश के खिलाफ वापसी कर सकते हैं स्टोयनिस
  • बंगलादेश के खिलाफ वापसी कर सकते हैं स्टोयनिस
  • कैप्टन सरकार नशे को काबू करने में बुरी तरह विफल : चीमा
  • वाई वी सुब्बा रेड्डी तिरुपति देवस्थानम के नये अध्यक्ष
  • मध्य नाइजीरिया में बंदूकधारी ने चार लोगों की हत्या की
  • ढाणी दादूपुर बना हरियाणा का पहला पशुधन जोखिम मुक्त गांव
  • कुशीनगर में तस्कर गिरफ्तार, 350 पेटी शराब बरामद
  • बिहार में पांच चिकित्सा टीमें भेजेगा केन्द्र
  • इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के प्रति जागरूकता के लिए एविस की पहल
  • शिखर बाहर, पंत अंदर, भुवी पर अभी फैसला नहीं
दुनिया


पश्चिमी जापान में मूसलाधार बारिश से कम से कम 88 लाेगों की मौत

पश्चिमी जापान में मूसलाधार बारिश से कम से कम 88 लाेगों की मौत

कुराशिकी, 09 जुलाई(रायटर) पश्चिमी जापान मेें पिछले कईं दिनाें से जारी मूसलाधार बारिश और भूस्खलन की घटनाओं में सोमवार सुबह तक कम से कम 88 लोगाें की मौत हो गई है।

इनके अलावा कुराशिकी शहर में 2000 से अधिक लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं और दस से अधिक लाेग लापता हैं।

भारी बारिश और वर्षा जनित हादसों को देखते हुए प्रशासन ने यहां रह रहे 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजे जाने के आदेश पहले ही जारी कर दिए थे और भूस्खलन की चेतावनी भी दी गई है।

देश के पश्चिमी हिस्सों में बाढ़ का सबसे अधिक खतरा है और आपातकालीन सेवाओं, सैन्य कर्मियों तथा अन्य विभागों के कर्मचारी बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए नौकाओं तथा हेलीकाप्टरों की मदद ले रहे हैं।

जापान की सेल्फ डिफेंस सेनाआें ने माबी मेमोरियल अस्पताल में फंसे अनेेेक लोगों को मोटरबोट की मदद से निकाला है।

शहर के एक अधिकारी ने बताया कि कि रविवार देर रात 170 मरीजों तथा स्टाफ को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है और अभी भी 80 लोग यहां फंसे हुए हैं।

इस शहर की आबादी पांच लाख से कम है लेकिन यह बारिश और भूस्खलन से सबसे अधिक प्रभावित है अौर वर्षा जनित हादसों में 77 से अधिक लाेगों की मौत हो चुकी है।

सरकारी प्रसारक एनएचके ने बताया कि रविवार शाम शहर में अनेक स्थानों पर फंसे 2310 लोगों को बचाया गया और अन्य लोगों की तलाश में बचाव दल लगे हुए हैं। एनएचके ने बताया कि सोमवार सुबह तक जापान में वर्षा जनित हादसों में कम से कम 88 लोगों की मौत हो गई है और 58 लोग अभी भी लापता हैं।

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हालात काफी खतरनाक हैं। जापान सरकार ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय में एक आपातकालीन प्रबंधन केन्द्र की स्थापना की है

जितेन्द्र

रायटर

image