Friday, Aug 7 2020 | Time 16:01 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फॉरेंसिक विशेषज्ञ राबिन बोस की कोरोना से मौत, बंगाल में रैपिड एंटीजन जांच शुरू
  • दिल्ली श्रमिक बोर्ड मजदूरों के साथ कर रहा है खिलवाड़
  • नाकाबंदी में पकड़े गये तीन युवक, बताया जुलाई में कर चुके हैं दो हत्याएं
  • ‘सनफीस्ट इंडिया रन एज वन’ में भाग लेंगे अभिनव बिंद्रा
  • पुडुचेरी में कोरोना के 244 नए मामले, पांच की मौत
  • जिंसों में टिकाव
  • लोगों के प्यार के साथ पुरस्कार, से मिलती है लेखनी को मजबूती: कुलदीप राघव
  • मणिपुर में लॉकडाउन कुछ ढील के साथ 15 अगस्त तक बढ़ाया
  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मौसम शुष्क रहेगा
  • रुपया एक पैसा मजबूत
  • रुपया एक पैसा मजबूत
  • बिजली अभियंता 18 अगस्त को विरोध दिवस मनाएंगे
  • मोदी सरकार बुनकर समुदाय के समग्र विकास के प्रति कटिबद्ध: शाह
Parliament


मोदी, शाह को घुसपैठिया बताने पर भाजपा का अधीररंजन पर हमला

मोदी, शाह को घुसपैठिया बताने पर भाजपा का अधीररंजन पर हमला

नयी दिल्ली 02 दिसंबर (वार्ता) लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीररंजन चौधरी के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को घुसपैठिया बताये जाने संबंधी बयान पर सदन में सत्तापक्ष ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और श्री चौधरी से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की।
शून्यकाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उदय प्रताप सिंह ने यह मामला उठाते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता ने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को घुसपैठिया कहा है। श्री चौधरी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर का विरोध करते हैं। वे घुसपैठ को बढ़ाने के पक्षधर हैं। जबकि श्री मोदी भाजपा के नेता नहीं बल्कि हिन्दुस्तान के दिल पर राज करते हैं। श्री चौधरी को इसके लिए बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए।
श्री सिंह के यह कहने पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी, संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और सत्तापक्ष के अनेक सदस्य अपने स्थान पर खड़े गये और उत्तेजित होकर श्री चौधरी से क्षमायाचना करने की मांग की। श्री जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को घुसपैठिया बताकर श्री चौधरी ने साबित किया है कि कांग्रेस जनादेश का सम्मान नहीं करती है और स्वीकार भी नहीं करती है। वह इसकी कड़ी निंदा करते हैं।
बाद में श्री अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सत्तापक्ष उनकी बात के संदर्भ को जाने बिना ही उत्तेजित हो रहा है। सत्तापक्ष को उनकी बात सुननी चाहिए। ये सारे संदर्भ सुनने पर उनकी बात का समाधान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वह खुलेआम स्वीकार करते हैं कि वह और उनके माता पिता बंगलादेश से भारत में आये थे। पर आज़ादी के समय आने पर कोई उनको घुसपैठिया कह दे तो क्या वह घुसपैठिया कहलाएंगे।
इससे पहले श्री चौधरी अपनी पूरी बात कह पाते, अध्यक्ष ओम बिरला से सदन की कार्यवाही भोजनावकाश के लिए स्थगित कर दी।
सचिन
वार्ता

image