Saturday, Nov 17 2018 | Time 08:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तुर्की में आतंकवादी हमला मामले में छह को उम्रकैद
  • आज का इतिहास(प्रकाशनार्थ 18 नवंबर)
  • पाकिस्तान में विस्फोट, दो मरे 10 घायल
  • महाराष्ट्र में सड़क हादसे में दो की मौत
  • सुप्रीम कोर्ट ने जुल्फी बुखारी की नियुक्ति पर सरकार से जवाब मांगा
खेल Share

रेड बॉल क्रिकेट में गेंदबाजों की चुनौती अधिक: चहल

रेड बॉल क्रिकेट में गेंदबाजों की चुनौती अधिक: चहल

बेंगलुरू, 14 अगस्त (वार्ता) भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने कहा है कि सीमित प्रारूप की तुलना में टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजों को अधिक दिमाग लगाकर और रणनीति के साथ गेंदबाजी करनी पड़ती है क्योंकि बल्लेबाज़ इसमें आक्रामकता नहीं बल्कि ठहराव के साथ खेलते हैं।

चहल की लगभग दो वर्ष बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी हुई है, वह हाल में दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ समाप्त चार दिवसीय मैच में भारत ए का हिस्सा थे जिसे मेजबान टीम ने 1-0 से जीत लिया। अलुर में दूसरे मैच के बाद चहल ने कहा,“ मेरे लिये दो वर्ष बाद बड़े प्रारूप में खेलना आसान नहीं है। मुझे खुद को इसके अनुरूप ढालने के लिये समय की जरूरत है क्योंकि बल्लेबाजों पर अधिक दबाव नहीं होता है।”

उन्होंने कहा,“ वनडे और ट्वंटी 20 में रन रेट अधिक होता है और बल्लेबाज आक्रामकता से खेलते हुये आउट हो जाते हैं। लेकिन टेस्ट प्रारूप में आपको अपनी सूझबूझ से ही बल्लेबाजों को आउट करना होता है क्योंकि वह बहुत धीमे रेट से खेलते हैं।”

भारत ए के लिये सीरीज़ में चहल का प्रदर्शन संतोषजनक रहा जिन्होंने दो गैर आधिकारिक टेस्टों में 55.75 के औसत से चार विकेट निकाले। उन्होंने कहा,“आपको रेड बॉल के साथ दिमाग लगाने की जरूरत होती है क्याेंकि यहां आप 30 से 35 ओवर तक गेंदबाजी करते हैं जबकि टी-20 में आपको केवल चार ओवर करने होते हैं।”

28 वर्षीय स्पिनर ने आखिरी बार 2016 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला था लेकिन उन्हें भारत के लिये टेस्ट प्रारूप में अधिक माैका नहीं मिला, हालांकि सीमित ओवर प्रारूप में वह चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव के साथ राष्ट्रीय टीम के नियमित खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा कि वह 2016 से ही सीमित ओवर खेल रहे हैं लेकिन टेस्ट में समय नहीं मिला। चहल ने कहा,“ यदि आप रेड बॉल से खेलते हैं तो आपकी गेंदबाजी में सुधार होता है और दिमाग तेज होता है। आपको उन परिस्थितियों में खुद को ढालने का मौका मिलता है जहां स्पिनरों को अधिक मदद नहीं मिलती है।”

 

More News
मनीषा और सरिता के मुक्कों से निकली जीत

मनीषा और सरिता के मुक्कों से निकली जीत

16 Nov 2018 | 9:52 PM

नयी दिल्ली, 16 नवंबर (वार्ता) भारत की 21 वर्षीय मनीषा मौन और अनुभवी मुक्केबाज एल सरिता देवी ने आईजी स्टेडियम स्थित केडी जाधव हाल में चल रही आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी प्रतियोगिता में शुक्रवार को विजयी शुरुआत करते हुए दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया।

 Sharesee more..
चेन्नई के एथलीटों ने जीते सबसे अधिक 23 स्वर्ण

चेन्नई के एथलीटों ने जीते सबसे अधिक 23 स्वर्ण

16 Nov 2018 | 9:52 PM

मुम्बई, 16 नवंबर (वार्ता) चेन्नई के एथलीटों ने रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में अपना वर्चस्व कायम करते हुए कुल 23 स्वर्ण पदक अपने नाम किए।

 Sharesee more..

16 Nov 2018 | 8:46 PM

 Sharesee more..
फार्मूला वन बुद्ध सर्किट पर छिड़ेगी खिताबी जंग

फार्मूला वन बुद्ध सर्किट पर छिड़ेगी खिताबी जंग

16 Nov 2018 | 8:19 PM

ग्रेटर नोएडा, 16 नवंबर (वार्ता) फार्मूला वन बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट (बीआईसी) पर शनिवार और रविवार को 21वीं जेके टायर एफएमएससीआई नेशनल रेसिंग चैम्पियनशिप के ग्रैंड फिनाले में खिताबी जंग छिड़ेगी।

 Sharesee more..
फुटसल अंडर 20 चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम घोषित

फुटसल अंडर 20 चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम घोषित

16 Nov 2018 | 8:19 PM

नयी दिल्ली,16 नवंबर (वार्ता) फुटसल एसोसिएशन आॅफ इंडिया (एफएआई) ने कोलंबिया के वेलेडयुपर में आयोजित होने वाली एसोसिएशन मुंडियाल डी फुटसल (एएमएफ) फुटसल अंडर 20 चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए टीम घोषित कर दी है। यह चैंपियनशिप 18 से 26 नवंबर तक चलेगी।

 Sharesee more..
image