Tuesday, Apr 23 2019 | Time 23:37 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • वाटसन के करंट से चेन्नई प्लेऑफ में
  • उमेश जाधव पर हमला करने वाली भीड़ पर लाठीचार्ज
  • एक ही परिवार के चार लोगों सहित छह नदी में डूबे
  • अनंतनाग में 62 फीसदी कश्मीरी पंडितों ने डाले वोट
  • गुजरात में 63 67 प्रतिशत से अधिक मतदान , मोदी, आडवाणी, शाह, जेटली ने भी की वोटिंग
  • अतीक अहमद के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश
  • पांडेय और वार्नर के अर्धशतक, हैदराबाद के 175
  • पांडेय और वार्नर के अर्धशतक, हैदराबाद के 175
  • भाजपा-एनडीए के पक्ष में प्रचंड लहर, फिर बनेगी मोदी सरकार: शाह
  • उप्र में छठे चरण के लिए नामांकन के अतिम दिन 141 पर्चे भरे, कुल नामांकन 332
  • मोदी ने आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया: आयोग
  • यमन में सेना, हाउतियों के बीच झड़प में कई मारे गये
  • बिहार में 60 फीसदी हुआ मतदान, शरद-पप्पू समेत 82 का भाग्य ईवीएम में बंद
  • हरियाणा में अंतिम दिन 163 नामांकन दाखिल, कुल नामांकन संख्या 305 हुई
  • युगांडा में भारी बारिश से 18 लोगों की मौत, 100 घायल
लोकरुचि


कुशीनगर की बेटियां बनी हिम्मत और जज्बे की मिसाल

कुशीनगर की बेटियां बनी हिम्मत और जज्बे की मिसाल

कुशीनगर 26 जनवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश में कुशीनगर के कसया क्षेत्र में सैलून चलाकर परिवार का भरण पोषण करने वाली दो सगी बहनें हिम्मत और जज्बे की मिसाल बन चुकी है।

दरअसल, सैलून चलाकर परिवार का भरण पोषण करने वाले ध्रुव को फालिज होते ही मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा मगर उसकी दो पुत्रियों ने हिम्मत और जज्बे की अनूठी मिसाल पेश करते हुये पिता के छोटे से व्यवसाय को अपना कर परिवार को भुखमरी की कगार से बचा लिया। उनके इस काम की चहुंओर प्रशंसा हो रही है।

जिले के कसया नगर पालिका के बनवारी टोला निवासी ध्रुव नारायन शर्मा गुमटी में सैलून चलाते थे जिससे नौ सदस्यों के परिवार गुजर बसर करता था। करीब तीन साल पहले ध्रुव को फालिज मार गया और वह बिस्तर पर पड़ गये। घर में झांकती भूख से व्याकुल ज्योति ने बड़ी हिम्मत दिखाते हुये पिता का सैलून खुद चलाने का फैसला कर लिया। बाद में बहन नेहा भी साथ देने लगी।

लड़कियों को ग्राहकों की दाढ़ी-बाल बनाते देखते तो कुछ दंग रह जाते तो कुछ ताने देते। क्या-क्या न सुना। न केवल वे लाचार पिता का सहारा बन गईं बल्कि विपरीत परिस्थितियों में हौसले और संघर्ष का प्रतीक भी। जिसने जिंदगी की लाचारियों पर जीत दर्ज की। सगी बहनों ज्योति शर्मा (18) और नेहा शर्मा (16) का पूरे क्षेत्र में अभिनंदन हो रहा है। इनके जज्बे को सलाम करना अपने आप में गवाह होना चाहिए। सबने कहा, इन बेटियां कुशीनगर की शान हैं। एक वादा ऐसा कि पिता की आंखें छलक पड़ीं । बीमार पिता ध्रुव नारायण शर्मा ने बेटी ज्योति और नेहा पर नाज जताया।

ध्रुव नारायन शर्मा की सात बेटियों में रंजना, बबिता, कविता और ममता की शादी हो चुकी है। ज्योति जब छोटी थी, तभी दुकान पर पिता के काम में हाथ बंटाती थी। तीन साल पहले पिता के शरीर के बाएं हिस्से में फालिज पड़ा। वह काम करने लायक नहीं रहे, तब ज्योति ने इंटर करने के बाद पढ़ाई छोड़ घर का खर्च चलाने के लिए पिता का सैलून संभाल लिया। उसकी मदद को 11 वीं में पढने वाली बहन नेहा भी आ गई। लोगों की आलोचना से बेपरवाह दोनों बहनें अपने काम में जुटी रहीं।

समाजसेवी डॉक्टर जेपी शर्मा की मदद वे कसया में ब्यूटीशियन का कोर्स कर रही हैं। छोटी गुंजन (15) दसवीं में है।ज्योति का कहना है कि हम समाज को यह बताना चाहते हैं कि बेटी और बेटों में कोई फर्क नहीं होता। कोई ऐसा काम नहीं है, जो बेटियां नहीं कर सकी।

More News
विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा दल श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना

विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा दल श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना

22 Apr 2019 | 12:09 PM

बस्ती 22 अप्रैल (वार्ता)उत्तर प्रदेश में बस्ती के मखौड़ा धाम से 20 अप्रैल को शुरू हुये 84 कोसी परिक्रमा दल अपने तीसरे पड़ाव के लिए सोमवार तड़के हनुमान बाग चकोही से अयोध्या के श्रृंगी ऋषि आश्रम के लिए रवाना हो गया।

see more..
विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा पहुंची दूसरे पड़ाव पर

विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा पहुंची दूसरे पड़ाव पर

21 Apr 2019 | 12:47 PM

बस्ती 21 अप्रैल, (वार्ता) उत्तर प्रदेश में बस्ती के मखौड़ा धाम से शुरू हुए अयोध्या के विश्व प्रसिद्ध चौरासी कोसी परिक्रमा मे सामिल साधू, सन्त और धर्म प्रेमी प्रथम पड़ाव राम रेखा मंदिर छावनी से रविवार के भोर में धर्म ध्वजा फहराते भजन कीर्तन गाते हुए परिक्रमा के दूसरे पड़ाव हनुमान बाग चकोही के लिए रवाना हुये।

see more..
नैसर्गिक सुंदरता से भरपूर बखिरा झील को नहीं मिल सका पर्यटन स्थल का रूतबा

नैसर्गिक सुंदरता से भरपूर बखिरा झील को नहीं मिल सका पर्यटन स्थल का रूतबा

19 Apr 2019 | 2:40 PM

संतकबीरनगर 19 अप्रैल (वार्ता) पर्यटन उद्योग की तमाम संभावनाओं को समेटे पूर्वी उत्तर प्रदेश में संतकबीरनगर जिले में स्थित बखिरा झील में प्रकृति ने चार चांद लगाये है लेकिन इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के प्रयास किसी सरकार ने नहीं किये।

see more..
गीता प्रेस की पुस्तके अब आन लाइन उपलब्ध

गीता प्रेस की पुस्तके अब आन लाइन उपलब्ध

17 Apr 2019 | 12:33 PM

गोरखपुर 17 अप्रैल (वार्ता) विश्व में धार्मिक पुस्तकों के विख्यात प्रकाशक गीता प्रेस गोरखपुर की प्रमुख पुस्तकें अब आन लाइन उपलब्ध रहेगीं।

see more..
image