Sunday, Mar 24 2019 | Time 19:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • किसानों पर अत्याचार देश पर अत्याचार है: राहुल
  • सत्यन को कांस्य, अर्चना को अंडर-21 का रजत
  • प्रमुख मुद्दे छिपा रहे जेटली : कांग्रेस
  • तमिलनाडु, कच्छ में दिन का तापमान सामान्य से अधिक
  • रमन सिंह के बेटे का टिकट काटा भाजपा ने
  • कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक कल नयी दिल्ली में
  • मोदी इस बार भी सरकार बनायेंगे:सीतारमण
  • आईपीएल में प्रदर्शन चयन का आधार नहीं: अश्विन
  • झारखंड में कांग्रेस सात और झामुमो चार सीटों पर लड़ेगी चुनाव
  • महाराष्ट्र में बस दुर्घटना में चार की मौत, 45 घायल
  • इटावा में भैंस निकालने के चक्कर में किशोर समेत दो यमुना में डूबे
  • कांग्रेस ने तारिक अनवर को कटिहार और कार्ती चिदंबरम को शिवगंगा से दिया टिकट
  • बांका के चुनावी अखाड़े में निर्दलीय उतरेंगी पुतुल कुमारी
  • कांग्रेस सदस्यता लेने का सपना ने किया खंडन, पार्टी ने दिखाये सबूत
  • अलगाववादियों को खुश करने के लिए कांग्रेस,एनसी, पीडीपी का गठजोड़ : जितेन्द्र
विशेष » कुम्भ


कुम्भ मेले में श्रद्धालुओं का स्वागत करने को बेताब बोलती दीवारें

कुम्भ मेले में श्रद्धालुओं का स्वागत करने को बेताब बोलती दीवारें

प्रयागराज,11 जनवरी (वार्ता) विश्व के सबसे बड़े धार्मिक पर्व कुम्भ में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं का तीर्थराज प्रयाग की बोलती दीवारें स्वागत करने को आतुर हो रही हैं।


      उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस अभियान को “पेंट माई सिटी” का नाम दिया है। इसके तहत पूरे शहर की दीवारों-बिल्डिंग्स एवं पुलों पर पेंटिंग कर उन्हें ख़ूबसूरती से सजाया गया है।

       श्री योगी ने गुरुवार को कुम्भ मीडिया सेन्टर में संवाददाताओं से कहा है कि ‘पेण्ट माई सिटी’ से शहर एवं कुम्भ मेला क्षेत्र में लगभग 15 लाख वर्ग फिट आकर्षक चित्रकारी कर शहर को सजाया गया है।   

      शहर और कुम्भ शुरू होने से पहले तीर्थराज प्रयाग में चारों ओर श्रद्धा के रंग बिखरे नजर आ रहे हैं। पर्यटकों और श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए इस योजना के तहत पूरे शहर की बड़ी इमारतों एवं दीवारों पर सुन्दर चित्रकारी कर उनकी ख़ूबसूरती में चार चांद लगाया गया है।

  शहर को धर्मिक भावनाओं से जोड़ने एवं कुम्भ को और रोचक बनाया गया है। दीवारों पर वेदों और पुराणों से जोड़कर चित्रकारी कर सजाया गया है जिससे कुम्भ दिव्य और भव्य नजर आये।

     प्रयागराज के जिलाधिकारी सुहास एलवाई और कुम्भ जिलाधिकारी विजय किरण आनंद का कहना है कि पेंट माई सिटी का मकसद कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं का अनूठे अंदाज़ में स्वागत करना और उन्हें यादगार अनुभवों के साथ विदा करने के अलावा कुंभ की भव्यता एवं देश की संस्कृति से रूबरू कराना है। कुंभ मेले के दौरान प्रयागराज आने पर आपको यहां की दीवारें बोलती हुई नजर आएंगी।

      15 जनवरी से मकर संक्रांति के पहले स्नान के साथ कुंभ मेले का आगाज हो रहा है। इसमें करीब 12-15 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। पूरे शहर में हुई चित्रकारी में कुंभ की भव्यता दर्शाया गया है तो कहीं भारतीय संस्कृति की झलकियां। कहीं पर देश के महापुरुषों के चित्र उकेरे गये हैं तो कहीं शहर के प्रमुख स्थलों के चित्र दीवारों पर बनाकर श्रद्धालुओं को यादगार अनुभव साथ ले जाने को विवश करेंगी।

कुम्भ मेले में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के मन में प्रयागराज की अमिट छाप छोड़ने के लिए ‘पेंट माई सिटी’ के तहत यमुना पार नैनी केन्द्रीय कारागार की दीवार पर कुंभ की सम्पूर्ण गाथा उकेरी गयी है। शहर में जिस तरफ भी नजर उठाकर देखें लगता है दीवारें कहना चाहती हैं, “प्रयागराज आपका स्वागत करता है।

      ” गंगा, श्यामल यमुना और अदृश्य सरस्वती की त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगायें और यहां सतत बहने वाली आध्यात्मिक ऊर्जा से ओतप्रेात हों।

       फतेहपुर के चन्दापुर गांव के आशुतोष मिश्र तेलियरगंज क्षेत्र में किराए के कमरा लेेकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। संगम घूमने श्री मिश्र ने बताया कि शहर में बने ओवर ब्रिज के नीचे पिलर पर ऋषियों, तपस्वियों एवं संतों के इस प्रकार बेजोड़ चित्र उकेरे गये हैं मानो वह तुरंत कुछ कहना चाहती हों।

      शहर में किसी दीवार पर श्रीराम भक्त हनुमान को संजीवनी वृक्ष लाते दर्शाया गया है तो कहीं साधुओं की टोली को वृक्ष के नीचे चर्चा करते दिखाया गया है। पूरे शहर में चित्रकारी देख पलकें झपकने का नाम ही नहीं लेतीं। उन्होंने बताया कि चित्रकारी तो बहुत देखी है लेकिन इतनी सजीव उसमें से कुछ इस तरह हैं कि मानो बस बोल ही देंगी।

        श्री मिश्र ने बताया कि प्रयागराज की दीवारें बहुत ही आकर्षक लग रही हैं, इससे पहले कभी ऐसा नहीं देखा गया। पूरे शहर की दीवारों पर आकर्षक चित्रकारी वाकई काबिल-ए-तारीफ है। श्री मिश्र ने बताया कि चूंगी स्थित ओवर ब्रिज के स्तभों पर ऋषि भरद्वाज, ऋषि गौतम, ऋषि कौस्तुभ और ऋषि श्रृंगी मानो वेद पाठ करने की तैयारी कर रहे हों।

दिनेश भंडारी

वार्ता

More News
कुम्भ ने दुनिया को कराया भारतीय संस्कृति की विविधता का अहसास :राणा

कुम्भ ने दुनिया को कराया भारतीय संस्कृति की विविधता का अहसास :राणा

04 Mar 2019 | 9:55 PM

कुम्भ,04 मार्च (वार्ता) उत्तर प्रदेश के गन्ना विकास एवं चीनी मिल मंत्री सुरेश राणा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशन तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व का बखान करते हुए कहा कि पूरे विश्व ने कुम्भ की प्राचीन मान्यता, आध्यात्मिकता, लौकिकता, आपसी सद्भाव को स्वीकार किया।

see more..
कुम्भ की आभा बेमिसाल : फडणवीस

कुम्भ की आभा बेमिसाल : फडणवीस

04 Mar 2019 | 9:55 PM

कुम्भनगर,04 मार्च (वार्ता) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुम्भ की जितनी प्रशंसा की जाए,वह कम है।

see more..
महाशिवरात्रि स्नान पर एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में आस्था की डुबकी

महाशिवरात्रि स्नान पर एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में आस्था की डुबकी

04 Mar 2019 | 8:55 PM

कुम्भनगर, 04 मार्च (वार्ता) सम्पूर्ण विश्व में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले कुम्भ के आखिरी दिन महाशिवरात्रि के पर्व पर एक करोड़ 10 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त: सलिला स्वरूप में प्रवाहित हो रही सरस्वती में आस्था की डुबकी लगाई।

see more..
आध्यात्म,वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

आध्यात्म,वैराग्य और ज्ञान की ऊर्जा सतत प्रवाहित होती है संगम की रेत में

04 Mar 2019 | 6:04 PM

कुम्भनगर, 04 मार्च (वार्ता) पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त: सलीला स्वरूप में प्रवाहित सरस्वती के त्रिवेणी की विस्तीर्ण रेती वैराग्य, ज्ञान और आध्यात्मिक शक्ति से ओतप्रोत है।

see more..
महाशिवरात्रि से पहले संगम पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

महाशिवरात्रि से पहले संगम पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

03 Mar 2019 | 2:35 PM

कुंभनगर, 03 मार्च (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुंभ के छठे और आखिरी स्नान पर्व महाशिवरात्रि से एक दिन पहले रविवार को एक बार फिर दूर-दराज से भक्तों का रेला संगम पर आस्था के समंदर में बूंदा-बांदी को धता बताकर हिलोरें ले रहा है।

see more..
image