Tuesday, Dec 1 2020 | Time 14:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • व्यापार बोर्ड की बैठक कल, नयी विदेश व्यापार नीति पर होगी चर्चा
  • कृषि कानूनों में संशोधन से किसान समेत 80 प्रतिशत आबादी प्रभावित होंगी : डॉ उरांव
  • ज्यादातर राज्यों में सक्रिय मामलों में कमी
  • अमेरिका की अहम क्रिकेट लीग में निवेश करेगा नाइट राइडर्स
  • सहकारी विभाग का एक कर्मचारी रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • बंगाल की खाड़ी में बने गहरे दबाव के चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका
  • जाट ने किया चलो किसानों दिल्ली चलो का आह्वान
  • नायडू ने दी बीएसएफ को शुभकामनायें
  • ट्रम्प के कोविड-19 विशेष सलाहकार का इस्तीफा
  • वार्नर के पहले टेस्ट से पहले फिट होने पर संदेहः लेंगर
  • वार्नर के पहले टेस्ट से पहले फिट होने पर संदेहः लेंगर
  • कश्मीर में डीडीसी चुनाव का दूसरा चरणः 11 बजे तक 15 64 प्रतिशत मतदान
  • उत्तर प्रदेश में निवेश बढ़ाने कल मुम्बई जायेंगे योगी
  • सेना के नायब सूबेदार ने आत्महत्या की
भारत


विषम परिस्थितियों में भी न तोड़ें हौसला,देश की एकता में नये रंग भरें: मोदी

विषम परिस्थितियों में भी न तोड़ें हौसला,देश की एकता में नये रंग भरें: मोदी

नयी दिल्ली 25 अक्टूबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज देशवासियों से कहा कि विषम परिस्थितियों में भी उल्लास और हौसले के साथ आगे बढते हुए सभी को ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के खूबसूरत रंगों से देश की एकता को मजबूत बनाना है।

श्री मोदी ने आज यहां अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देशवासियों से मुखातिब होते हुए कहा कि समूचा देश 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनायेगा। सरदार पटेल उन विरले लोगों में थे जिनके व्यक्तित्व में एक साथ कई सारे तत्व मौजूद थे जैसे, वैचारिक गहराई, नैतिक साहस, राजनैतिक विलक्षणता, कृषि क्षेत्र का गहरा ज्ञान और राष्ट्रीय एकता के प्रति समर्पण भाव। सरदार साहब की एक और खूबी थी वे विषम परिस्थितियों में भी उल्लास तथा उत्साह से भरे रहते थे। उन्होंने कहा , “ जरा उस लौह-पुरुष की छवि की कल्पना कीजिये जो राजे-रजवाड़ों से बात कर रहे थे, पूज्य बापू के जन-आंदोलन का प्रबंधन कर रहे थे, साथ ही, अंग्रेजों से लड़ाई भी लड़ रहे थे, और इन सब के बीच भी, उनका ‘सेंस ऑफ ह्यूमर’ पूरे रंग में होता था। इसमें, हमारे लिए भी एक सीख है, परिस्थितियाँ कितनी भी विषम क्योँ न हो, अपने ‘सेंस ऑफ ह्यूमर’ को जिंदा रखिये, यह हमें सहज तो रखेगा ही, हम अपनी समस्या का समाधान भी निकाल पायेंगे । सरदार साहब ने यही तो किया था। ”

प्रधानमंत्री ने कहा , “ आज हमें अपनी वाणी, अपने व्यवहार, अपने कर्म से हर पल उन सब चीजों को आगे बढ़ाना है जो हमें ‘एक’ करे, जो देश के एक भाग में रहने वाले नागरिक के मन में, दूसरे कोने में रहने वाले नागरिक के लिए सहजता और अपनत्व का भाव पैदा कर सके। हमारे पूर्वजों ने सदियों से ये प्रयास निरंतर किए हैं। ”

संजीव

जारी वार्ता

More News
नायडू ने दी बीएसएफ को शुभकामनायें

नायडू ने दी बीएसएफ को शुभकामनायें

01 Dec 2020 | 2:18 PM

नयी दिल्ली 01 दिसंबर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सीमा सुरक्षा बल - बीएसएफ के जवानों को बल की स्थापना दिवस की शुभकामनायें दी है।

see more..
नागालैंड के स्थापना दिवस पर प्रदेशवासियों को कोविंद की बधाई

नागालैंड के स्थापना दिवस पर प्रदेशवासियों को कोविंद की बधाई

01 Dec 2020 | 2:06 PM

नयी दिल्ली, 01 दिसम्बर (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को नागालैंड के स्थापना दिवस पर प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

see more..
सिंघु और टिकरी सीमा यातायात के लिए अब भी बंद

सिंघु और टिकरी सीमा यातायात के लिए अब भी बंद

01 Dec 2020 | 1:08 PM

नयी दिल्ली 01 दिसंबर (वार्ता) कृषि संबंधित तीन नये कानूनों के विरोध में किसानों के प्रदर्शन के मद्देजर दिल्ली को हरियाणा से जोड़ने वाली सिंघु तथा टिकरी सीमा फिलहाल बंद रहेंगी।

see more..
image