Wednesday, Feb 20 2019 | Time 18:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मंत्री ने धार्मिक,पुरातात्विक,ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलों की मांगी जानकारी
  • गडकरी ने किया मुरादाबाद और मेरठ में करोड़ों की परियोजनाओं का शिलान्यास
  • टेलर ने फ्लेमिंग को पीछे छोड़ा
  • आरपीएफ को विशेष अभियान में 922 लावारिस बच्चे मिले
  • नामवर पंचतत्व में विलीन, साहित्य में शोक की लहर
  • श्रम कार्ड के लम्बित आवेदनों का 15 दिन में होगा निस्तारण - डहरिया
  • जोशी ने दिये शहीद के आश्रित के लिए डेढ़ लाख
  • देश को गर्त में धकेलने का प्रयास कर रहे हैं विपक्षी दल-शर्मा
  • पाकिस्तान के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर करतारपुर कॉरीडोर को नुकसान पहुंचा रहे : खेहरा
  • 73 साल की सुनीता के लिए उम्र सिर्फ एक नंबर
  • राष्ट्रीय ग्रिड से बिजली उपलब्ध कराना हुआ आसान : राजकुमार
  • चौथी भारत-आसियान प्रदर्शनी एवं सम्मेलन कल से
  • छत्तीसगढ़ सरकार पंचायतों से रेत खदाने लेंगी वापस – भूपेश
  • भारत से जाने वाले हाजियों का काेटा बढ़ा
  • अमेरिका आईएनएफ संधि से हटने को लेकर गंभीर नहीं : पुतिन
लोकरुचि Share

सौ साल की हथिनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास

सौ साल की हथिनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास

पन्ना, 12 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध पन्ना टाइगर रिजर्व की धरोहर बन चुकी दुनिया की सबसे उम्रदराज मानी जाने वाली लगभग एक साै साल की हथिनी 'वत्सला' का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास शुरू हो गये हैं। हथिनी वत्सला के जन्म का पूरा रिकॉर्ड केरल प्रान्त के नीलांबुर फारेस्ट डिवीज़न से मंगाया जा रहा है।

प्रदेश के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) शहवाज अहमद ने कल यहां अपने तीन दिवसीय पन्ना दौरे के समापन के बाद यूनीवार्ता से चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। हथिनी के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

केरल के नीलांबुर फारेस्ट डिवीज़न में जन्मी व पली-बढ़ी यह हथिनी 1972 में वहां से मध्यप्रदेश के होशंगाबाद के बोरी अभयारण्य में लाई गई थी। इसके बाद वहां से यह हथिनी वर्ष 1992 में पन्ना टाइगर रिज़र्व पहुंची। तभी से यह यहां की शोभा बढ़ा रही है।

लगभग सौ वर्ष की उम्र पार कर चुकी हथिनी वत्सला का उपयोग पन्ना टाइगर रिज़र्व में पूरे डेढ़ दशक तक यहां आने वाले पर्यटकों को बाघों का दीदार कराने के लिए किया जाता रहा है। लेकिन अत्याधिक उम्रदराज होने के कारण इसे आराम की जिंदगी गुजारने के लिए कुछ वर्ष पहले सेवानिवृत (रिटायर) कर दिया गया। रिटायरमेंट के बाद से हथिनी वत्सला की पूरी देखरेख की जा रही है। उम्र को देखते हुए वत्सला को जहां सुगमता से पचने वाला आहार दिया जाता है, वहीं नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जाता है।

पन्ना टाइगर रिज़र्व के वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ एस के गुप्ता ने बताया कि टाइगर रिज़र्व के ही एक हाथी ने वर्ष 2003 और 2008 में दो बार प्राणघातक हमला कर हथिनी को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। मदमस्त नर हाथी ने दांतों से प्रहार कर वत्सला का पेट चीर दिया था। बेहतर उपचार और सेवा से इस बुजुर्ग हथिनी को मौत के मुंह में जाने से बचा लिया गया था। मौजूदा समय यह हथिनी देशी व विदेशी पर्यटकों लिए जहां आकर्षण का केंद्र है, वहीं पन्ना टाइगर रिज़र्व के लिए भी किसी अनमोल धरोहर से कम नहीं है।

श्री अहमद ने बताया कि वत्सला का जन्म रिकॉर्ड नीलांबुर से मंगाने के निर्देश उन्होंने दिए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो पन्ना टाइगर रिज़र्व के वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ संजीव गुप्ता को रिकॉर्ड लाने के लिए नीलांबुर भेजा जाएगा। ताकि वत्सला की उम्र कितनी है, इसकी प्रामाणिक रूप से पुष्टि हो सके। वत्सला के शतायु होने का पन्ना में उत्सव मनाने के साथ ही गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने की भी पहल की जाएगी, जिससे वत्सला को दुनिया की सबसे बुज़ुर्ग हथिनी का गौरव हासिल हो सके।

डॉ गुप्ता का कहना है कि दुनिया में अमूमन हाथी और हथिनियों की उम्र अधिकतम पच्चासी या नब्बे वर्ष ही रही है। फिलहाल एक सौ वर्ष पुरानी हथिनी को लेकर कहीं भी रिकार्ड नहीं है।

सं प्रशांत

वार्ता

More News
राजधानी पटना में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त राकबैंड करेंगे परफाॅर्म

राजधानी पटना में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त राकबैंड करेंगे परफाॅर्म

12 Feb 2019 | 10:47 AM

पटना 12 फरवरी (वार्ता) राजधानी पटना में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के रॉकबैंड पाटिलीपुत्रा ओपन एयर तले परफाॅर्म करने जा रहे हैं।

 Sharesee more..
आकर्षक तरीके से दे रही है टीकाकरण कराने संदेश

आकर्षक तरीके से दे रही है टीकाकरण कराने संदेश

12 Feb 2019 | 10:08 AM

बड़वानी, 12 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश के बड़वानी से कुछ दूर बड़वानी खुर्द की ए एन एम चंद्रलता सोलंकी निराले अंदाज में टीकाकरण का संदेश देकर आकर्षण का केंद्र बिंदु बनी हुई है।

 Sharesee more..
औरंगाबाद में देव सूर्य महोत्सव का आयोजन कल से

औरंगाबाद में देव सूर्य महोत्सव का आयोजन कल से

11 Feb 2019 | 4:44 PM

औरंगाबाद 11 फरवरी (वार्ता) बिहार में औरंगाबाद जिले के ऐतिहासिक पौराणिक और धार्मिक स्थल देव को पर्यटन के राष्ट्रीय मानचित्र पर सुस्थापित करने तथा देसी-विदेशी सैलानियों को आकर्षित करने के उद्देश्य से दो दिवसीय देव सूर्य महोत्सव का आयोजन कल से शुरू होगा।

 Sharesee more..
तितलियों ने चंबल घाटी में बिखेरी इंद्रधनुषी छटा

तितलियों ने चंबल घाटी में बिखेरी इंद्रधनुषी छटा

05 Feb 2019 | 4:43 PM

इटावा, 05 फरवरी (वार्ता) शहरीकरण की अंधाधुंध रफ्तार के बीच लगभग गायब हो चुकी रंग बिरंगी तितलियों ने चंबल घाटी को सतरंगी बना रखा है।

 Sharesee more..
image