Saturday, Nov 17 2018 | Time 22:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फोटाे कैप्शन तीसरा सेट
  • मुंबई से 1 34 करोड़ के अभूषण लेकर फरार अपराधी दरभंगा में गिरफ्तार
  • भारत का डीएनए है हिंदू, श्री राम ‘राष्ट्रीय भगवान’:स्वामी
  • किसी के दबाव में सीटों का बंटवारा नहीं करेगा राजग : सुशील
  • विपक्ष को राजनीतिक गतिविधियां जारी रखने से रोक रही है भाजपा: माकपा
  • मालदीव ने विकास कार्यों में भारत से मांगी मदद
  • ग्राफीन का विकल्प ढूंढ रहे वैज्ञानिक
  • सोनिया और पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में, सिमरन भी जीतीं
  • सोनिया और पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में, सिमरन भी जीतीं
  • कश्मीर में अपहृत पांच लोगों में से एक की हत्या, दो मुक्त
  • पुड्डुचेरी में गाजा को लेकर मंत्रिमंडल की बैठक
  • कर्नाटक के कलुबर्गी जिले के 121 गांवों में पेयजल का संकट
  • बिहार मे अलग-अलग हादसों में नौ लोगों की मौत , दस घायल
  • ‘नीच’ शब्द पर हायतौबा उपेंद्र कुशवाहा की स्तरहीन राजनीति का प्रमाण
लोकरुचि Share

सौ साल की हथिनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास

सौ साल की हथिनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास

पन्ना, 12 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध पन्ना टाइगर रिजर्व की धरोहर बन चुकी दुनिया की सबसे उम्रदराज मानी जाने वाली लगभग एक साै साल की हथिनी 'वत्सला' का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास शुरू हो गये हैं। हथिनी वत्सला के जन्म का पूरा रिकॉर्ड केरल प्रान्त के नीलांबुर फारेस्ट डिवीज़न से मंगाया जा रहा है।

प्रदेश के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) शहवाज अहमद ने कल यहां अपने तीन दिवसीय पन्ना दौरे के समापन के बाद यूनीवार्ता से चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। हथिनी के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

केरल के नीलांबुर फारेस्ट डिवीज़न में जन्मी व पली-बढ़ी यह हथिनी 1972 में वहां से मध्यप्रदेश के होशंगाबाद के बोरी अभयारण्य में लाई गई थी। इसके बाद वहां से यह हथिनी वर्ष 1992 में पन्ना टाइगर रिज़र्व पहुंची। तभी से यह यहां की शोभा बढ़ा रही है।

लगभग सौ वर्ष की उम्र पार कर चुकी हथिनी वत्सला का उपयोग पन्ना टाइगर रिज़र्व में पूरे डेढ़ दशक तक यहां आने वाले पर्यटकों को बाघों का दीदार कराने के लिए किया जाता रहा है। लेकिन अत्याधिक उम्रदराज होने के कारण इसे आराम की जिंदगी गुजारने के लिए कुछ वर्ष पहले सेवानिवृत (रिटायर) कर दिया गया। रिटायरमेंट के बाद से हथिनी वत्सला की पूरी देखरेख की जा रही है। उम्र को देखते हुए वत्सला को जहां सुगमता से पचने वाला आहार दिया जाता है, वहीं नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जाता है।

पन्ना टाइगर रिज़र्व के वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ एस के गुप्ता ने बताया कि टाइगर रिज़र्व के ही एक हाथी ने वर्ष 2003 और 2008 में दो बार प्राणघातक हमला कर हथिनी को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। मदमस्त नर हाथी ने दांतों से प्रहार कर वत्सला का पेट चीर दिया था। बेहतर उपचार और सेवा से इस बुजुर्ग हथिनी को मौत के मुंह में जाने से बचा लिया गया था। मौजूदा समय यह हथिनी देशी व विदेशी पर्यटकों लिए जहां आकर्षण का केंद्र है, वहीं पन्ना टाइगर रिज़र्व के लिए भी किसी अनमोल धरोहर से कम नहीं है।

श्री अहमद ने बताया कि वत्सला का जन्म रिकॉर्ड नीलांबुर से मंगाने के निर्देश उन्होंने दिए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो पन्ना टाइगर रिज़र्व के वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ संजीव गुप्ता को रिकॉर्ड लाने के लिए नीलांबुर भेजा जाएगा। ताकि वत्सला की उम्र कितनी है, इसकी प्रामाणिक रूप से पुष्टि हो सके। वत्सला के शतायु होने का पन्ना में उत्सव मनाने के साथ ही गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने की भी पहल की जाएगी, जिससे वत्सला को दुनिया की सबसे बुज़ुर्ग हथिनी का गौरव हासिल हो सके।

डॉ गुप्ता का कहना है कि दुनिया में अमूमन हाथी और हथिनियों की उम्र अधिकतम पच्चासी या नब्बे वर्ष ही रही है। फिलहाल एक सौ वर्ष पुरानी हथिनी को लेकर कहीं भी रिकार्ड नहीं है।

सं प्रशांत

वार्ता

More News
भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा शुरू

भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा शुरू

14 Nov 2018 | 5:02 PM

पटना 14 नवंबर (वार्ता) भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा आज से शुरू हो गया।

 Sharesee more..
प्रवासी पंक्षियों की चहचहाट से गुंजायमान है चंबल

प्रवासी पंक्षियों की चहचहाट से गुंजायमान है चंबल

14 Nov 2018 | 2:44 PM

इटावा 14 नवम्बर (वार्ता) अरसे तक दुर्दांत दस्यु गिरोहों की पनाहगार रही चंबल घाटी शरद ऋतु के आगमन के साथ 300 से ज्यादा दुलर्भ प्रजाति के प्रवासी पंक्षियों की करतल संगीत से गुंजायमान है।

 Sharesee more..
बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ पर डूबते सूर्य को अर्घ्य

बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ पर डूबते सूर्य को अर्घ्य

13 Nov 2018 | 6:40 PM

पटना 13 नवम्बर (वार्ता) बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ के अवसर पर आज व्रतधारियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को नदी और तालाब में खड़ा होकर प्रथम अर्घ्य अर्पित किया ।

 Sharesee more..
छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक

छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक

13 Nov 2018 | 4:30 PM

पटना 13 नवंबर (वार्ता) लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक देखने को मिल रही है और राजधानी पटना भक्तिमय हो गयी है।

 Sharesee more..
चंबल की खूबसूरती का दीदार करने हो जाइये तैयार

चंबल की खूबसूरती का दीदार करने हो जाइये तैयार

12 Nov 2018 | 3:46 PM

इटावा 12 नबम्बर (वार्ता) कभी कुख्यात डाकुओ की पनाह रही चंबल घाटी अब ईको टूरिज्म का हब बनने जा रही है । उत्तर प्रदेश वन विभाग ने पर्यावरणीय संस्था सोसायटी फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर से करार किया है जिसके तहत यहॉ आने वाले पर्यटक दुलर्भ घडिय़ाल, मगरमच्छ, डाल्फिन आैर विदेशी पक्षियों के साथ खूबसूरत बीहड़ का दीदार कर सकेंगे।

 Sharesee more..
image