Sunday, Dec 8 2019 | Time 10:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • योगी ने रैन बसेरा का किया निरीक्षण ,बांटे कंबल
  • योगी ने रेन बसेरा का किया निरीक्षण ,बांटे कंबल
  • धंधेबाज के मकान से 122 कार्टन विदेशी शराब बरामद
  • रानी झांसी रोड के निकट अनाज मंडी में भीषण आग, 30 से अधिक लोगों की मौत
  • राजदूत नियुक्त करने के अमेरिका और सूडान के निर्णय का स्वागत:सऊदी
  • रानी झांसी रोड़ के निकट अनाज मंडी में भीषण आग, 30 से अधिक लोगों के दम घुटने से मरने की आशंका
  • चीन में ट्रक पलटने से सात लोगों की मौत, दो अन्य घायल
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 09 दिसंबर)
  • इजरायल ने हमास के ठिकानों पर किये हवाई हमले
  • नेतन्याहू-पुतिन ने की सुरक्षा तथा अन्य अहम मुद्दों पर चर्चा
  • ‘अमेरिका कर रहा है हाइपरसोनिक हथियारों के विकास में निवेश’
  • अमेरिकी न्यायिक समिति के महाभियोग को लेकर जारी की रिपोर्ट
  • सीरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने की इटली के न्यूज चैनल की निंदा
  • बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी में मरने वालों की संख्या हुई 23
  • कर्नाटक में भूस्खलन, तीन श्रमिकों की मौत, एक घायल
Parliament


पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें स्थिर रखना संभव नहीं: सीतारमन

पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें स्थिर रखना संभव नहीं: सीतारमन

नयी दिल्ली,02 दिसंबर(वार्ता) केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि देश में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें फिलहाल एक दर पर रखना फिलहाल संभव नहीं है क्योंकि इनकी कीमतें वैश्विक स्तर से जुड़ी हैं।
श्रीमती सीतारमण ने साेमवार काे लाेकसभा में श्री रमेश विधूड़ी के इस सवाल पर कि जब रूस और अमेरिका में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें स्थिर रखी जा सकती है तो देश में यह क्यों संभव नहीं है, का जवाब देते हुए कहा कि विश्व में कहीं भी पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें स्थिर नहीं है और यह वैश्विक स्तर पर मांग और आपूर्ति से संबद्ध है।
छोटे किसानों को डीजल पर छूट अथवा सब्सिडी दिए जाने के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में जो भी सुझाव आएंगे उन पर गौर किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाने की कोई योजना नहीं है।
द्रमुक सांसद दयानिधि मारन ने पेट्रोलियम पदार्थाें का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में देश के विभिन्न राज्यों में एकरूपता की कमी है और इन पर एक समान कर लगाया जाना चाहिए।
बीजद सांसद पिनाकी मिश्रा ने पीएमसी बैंक में हुए वित्तीय घोटाले और इसमें जमाकर्ताओं के धन के मसले पर कहा कि हजारों खाताधारकों के खून पसीने की गाढ़ी कमाई बैंक में फंसी हुई है और सरकार को इस दिशा में कोई कदम उठाना चाहिए। श्रीमती सीतारमन ने कहा कि सरकार बैंक के घटनाक्रम से पूरी तरह वाकिफ है और छोटे जमाकर्ताओं जिनकी संख्या लगभग 78 प्रतिशत है उन्हें रिजर्व बैंक के दिशानिर्देश पूरी राशि निकासी की अनुमति दी गई है। इसके अलावा अगर किसी खाताधारक को कोई कोई गंभीर बीमारी है या परिवार में कोई बीमार है , अथवा परिवार में शादी है या शिक्षा के लिए वह एक लाख रूपए तक की राशि निकासी कर सकता है।
जितेन्द्र सचिन
वार्ता

More News

टेलीविजन पर बच्चों को अशोभनीय तरीके से दिखाने पर प्रतिबंध:जावड़ेकर

06 Dec 2019 | 4:25 PM

नयी दिल्ली,06 दिसंबर (वार्ता) सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है टेलीविजन पर दिखाए जाने विज्ञापनोंं में बच्चों को अशोभनीय तरीके से दिखाए जाने पर प्रतिबंध हैं।

see more..
image