Sunday, Feb 17 2019 | Time 17:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विधानसभा का चार दिवसीय सत्र सोमवार से, अध्यक्ष ने लिया तैयारियों का जायजा
  • पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे भारत : बादल
  • मादक पदार्थ विरोधी दस्ते ने पकड़ी लाखों की अफीम
  • तुर्की ने चार विदेशी संदिग्धों को हिरासत में लिया
  • मुरादाबाद- कश्मीरी छात्रों के बारे में छानबीन जारी
  • सरकारी चिकित्सा महाविद्यालयों में शिक्षकों के 153 पद भरने के लिए मंत्रिमंडल की स्वीकृति
  • शाह सोमवार को जयपुर आयेंगे
  • संजय तोमर और श्री सीमा बने ‘मैक्स लाइफ इंश्योरेंस - द रन’ के चैंपियन
  • पुल की रेलिंग तोड़ गहरे नाले में गिरी बस, तीन की मौत पचास घायल
  • पुलवामा हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा: नकवी
  • सुरक्षा हमारे लिए कोई मसला नहीं : मीरवाइज
  • पंजाब कांग्रेस भवन में पुलवामा के शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
  • विश्वेन्द्र ने शहीद के परिजनों को बंधाया ढांढस
  • नारायणस्वामी का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा
  • देवरिया में शहीद विजय के घर कल जायेंगे योगी
खेल Share

जयराम को रजत से करना पड़ा संतोष

जयराम को रजत से करना पड़ा संतोष

हो ची मिन्ह सिटी, 12 अगस्त (वार्ता) भारतीय शटलर अजय जयराम को इंडोनेशिया के शेसार हिरेन हुस्तावितो से रविवार को लगातार गेमों में 14-21 10-21 से पराजित होकर वियतनाम ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

गैर वरीयता प्राप्त जयराम सातवीं सीड जापान के यू इगाराशी को उलटफेर का शिकार बनाते हुये फाइनल में पहुंचे थे लेकिन वह अपनी लय को खिताबी मुकाबले में बरकरार नहीं रख पाए।

विश्व में 93वीं रैंकिंग के जयराम 79वीं रैंकिंग के इंडोनेशिया के हुस्तावितो के सामने खास चुनौती नहीं पेश कर सके और मात्र 28 मिनट में पराजित हो गए।

हुस्तावितो ने इससे पहले सेमीफाइनल में एक अन्य भारतीय खिलाड़ी मिथुन मंजूनाथ को हराया था। जयराम अौर हुस्तावितो के बीच इससे पहले करियर में पांच वर्ष पूर्व 2013 के थाईलैंड ओपन में मैच हुआ था और तब जयराम ने तीन गेमों के संघर्ष में 21-11,19-21, 21-9 से हुस्तावितो को मात दी थी। लेकिन इस बार वह आसानी से समर्पण कर गए।

 

image