Tuesday, Sep 25 2018 | Time 13:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पितृ तर्पण की पहली वेदी है आदिगंगा पुनपुन
  • अलग-अलग सड़क हादसों में दो की मौत,13 छात्र घायल
  • जेल भरो आन्दोलन में हिस्सा लेने आ रहे कांग्रेसजनों की राज्यभर में गिरफ्तारी
  • कार्यकर्ता महाकुंभ में शामिल होने मोदी पहुंचे भोपाल
  • जेल सुधारों के लिए तीन-सदस्यीय समिति गठित
  • सीरिया में एस-300 मिसाइल प्रणाली की तैनाती रूस की ‘भारी भूल’: अमेरिका
  • ‘माननीयों को वकालत करने से नहीं रोका जा सकता’
  • कार से भारी मात्रा में शराब बरामद
  • मिलावटी राज के दिखावटी मुखिया हैं नीतीश : तेजस्वी
  • समय पर उड़ान भरने में स्पाइसजेट अव्वल
  • समय पर उड़ान भरने में स्पाइसजेट अव्वल
  • जीप पलटने से चार श्रद्धालुओं की मौत
  • शाहजहांपुर:मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति ने की पत्नी की हत्या
  • फिजाओं में आज भी गूंजती है हेमंत कुमार के संगीत की खूशबू
  • फिजाओं में आज भी गूंजती है हेमंत कुमार के संगीत की खूशबू
भारत Share

अनैतिक आचरण पर बख्शा नहीं जायेगा मेजर गोगोई को: सेना प्रमुख

अनैतिक आचरण पर बख्शा नहीं जायेगा मेजर गोगोई को: सेना प्रमुख

नयी दिल्ली 04 सितम्बर (वार्ता) सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज एक बार फिर दोहराया कि अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार के मामलों में सेना कड़ी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी और यदि मेजर लितुल गोगोई अनैतिक आचरण के दोषी पाये जाते हैं तो उन्हें बख्शा नहीं जायेगा।

जनरल रावत ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के बाद लितुल गोगोई के बारे में पूछे गये सवालों के जवाब में कहा,“पहले भी मैं कह चुका हूं कि अनैतिक आचरण और भ्रष्टाचार के मामलों से सख्ती से निपटा जायेगा।” उन्होंने कहा कि इस मामले में कोर्ट आॅफ इंक्वायरी ने मेजर गोगोई के खिलाफ उनके दोष के अनुरूप कार्रवाई करने की सिफारिश की है।

सेना प्रमुख ने कहा कि मेजर गोगोई के खिलाफ उनके दोष के आधार पर कार्रवाई की जायेगी। यदि वह अनैतिक आचरण के दोषी पाये जाते हैं तो उसके अनुरूप कार्रवाई की जायेगी और यदि वह अन्य अपराध के दोषी पाये जाते हैं तो उन्हें उस अपराध के अाधार पर दंड दिया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि मेजर गोगोई को गत 23 मई को श्रीनगर के ममता होटल से उस समय संक्षिप्त रूप से हिरासत में लिया गया था जब वह एक स्थानीय युवती के साथ होटल में प्रवेश करना चाहते थे। पुलिस ने उन्हें पूछताछ के बाद छोड दिया था हालाकि सेना ने इस मामले की जांच के लिए कोर्ट आॅफ इंक्वायरी का गठन किया था।

कोर्ट ऑफ इंक्वायरी ने पिछले महीने ही उन्हें आॅपरेशन क्षेत्र में ड्यूटी से नदारत रहने तथा स्थानीय लोगों के साथ मेल जोल बढाने का दोषी पाया था। उनके खिलाफ दंड के अनुरूप कार्रवाई करने की सिफारिश की गयी थी।

मेजर गोगाेई अप्रैल 2017 में उस समय खासे चर्चा में रहे थे जब उन्होंने श्रीनगर लोकसभा उप चुनाव में ड्यूटी के लिए जा रहे चुनावकर्मियों को स्थानीय लोगों के पथराव से बचाने के लिए एक स्थानीय युवक को अपनी जीप के आगे बोनट पर बांध दिया था।

संजीव सत्या

वार्ता

More News
‘माननीयों को वकालत करने से नहीं रोका जा सकता’

‘माननीयों को वकालत करने से नहीं रोका जा सकता’

25 Sep 2018 | 12:31 PM

नयी दिल्ली 25 सितम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को व्यवस्था दी कि सांसदों/विधायकों को वकालत पेशा करने से नहीं रोका जा सकता।

 Sharesee more..

25 Sep 2018 | 11:52 AM

 Sharesee more..

समय पर उड़ान भरने में स्पाइसजेट अव्वल

25 Sep 2018 | 11:52 AM

 Sharesee more..
‘महज आरोप पत्र के आधार पर चुनाव लड़ने से नहीं रोका जा सकता’

‘महज आरोप पत्र के आधार पर चुनाव लड़ने से नहीं रोका जा सकता’

25 Sep 2018 | 11:31 AM

नयी दिल्ली, 25 सितम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को व्यवस्था दी कि आपराधिक मामलों में महज आरोप पत्र दायर होने के आधार पर किसी उम्मीदवार को चुनाव लड़ने से नहीं रोका जा सकता।

 Sharesee more..
image