Wednesday, Sep 18 2019 | Time 20:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दिल्ली सरकार देगी दसवीं-बारहवीं के 3 14 लाख विद्यार्थियों का परीक्षा शुल्क
  • खाते खुलवाने के बाद भी नहीं आ रही छात्राओं के खातों में प्रोत्साहन राशि
  • छोटे उद्याेग हैं देश का भविष्य: पीयूष
  • गिरफ्तार तस्कर की निशानदेही पर 13़ 72 किलो हेरोइन जब्त
  • अमित और मनीष सेमीफाइनल में, दो पदक पक्के
  • अमित और मनीष सेमीफाइनल में, दो पदक पक्के
  • फ्लिपकार्ट का ब्यूटी केयर उत्पाद के लिए वर्चुअल ट्राइ एंड बाई फीचर
  • उर्दू हिंदुस्तान की बेटी है उसकी खुशबू फैलनी चाहिए
  • एनआईए ने नये कानून के तहत मानव तस्करी का पहला मामला दर्ज किया
  • आजमगढ़ में इनामी 50 हजार का इनामी गिरफ्तार
  • चार उपभोक्ताओं के बैंक खातों से पौने दो लाख की राशि गायब
  • शार्प ने लॉन्च की स्मार्ट होम अप्लायन्सेज़ की नई रेंज
  • कंपनी कानून के प्रावधानों की समीक्षा के लिए समिति गठित
  • सेना प्रमुख बिपिन रावत ने किये केदारनाथ, बदरीनाथ के दर्शन
  • आखिर रामलला कब तक टेंट में बैठे रहेंगे : शाहनवाज़
India


मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: आठ लड़कियों को घर भेजने का सुप्रीम कोर्ट का निर्देश

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: आठ लड़कियों को घर भेजने का सुप्रीम कोर्ट का निर्देश

नयी दिल्ली, 12 सितंबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मुजफ्फरपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न की 44 में से आठ पीड़िताओं को उनके परिवार को सौंपने का गुरुवार को बिहार सरकार को निर्दश दिया।
न्यायमूर्ति एन वी रमन की अध्यक्षता वाली खंडपीठ का यह आदेश टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की परियोजना ‘कोशिश’ की रिपोर्ट पर आया है जिसमें उसने यह कहा था कि आठ लड़कियों को उनके घर भेजा जा सकता है। ये लड़कियां घर जाने को पूरी तरह तैयार हैं।
बिहार सरकार ने भी ‘कोशिश’ के उस आग्रह पर भी हामी भरी जिसमें उसने इन लड़कियों को वित्तीय, शैक्षणिक और चिकित्सकीय जरूरतें पूरी करने तथा मनोचिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध कराने की सलाह दी थी।
गौरतलब है कि टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की ओर से सीलबंद लिफाफे में स्थिति रिपोर्ट दाखिल की गई थी।
इंस्टीट्यूट की ओर से न्यायालय को बताया गया था कि कुछ बच्चियों के घर का पता चल गया है और उनके मां-पिता उन्हें वापस लेने को तैयार हैं। एक मामले में बच्ची ने अपने घर का पता बताया है, लेकिन उस पते पर घरवाले नहीं मिले हैं। बच्ची ने घर की लोकेशन बताई है।
पीठ ने कल कहा था कि वह इस संबंध में गुरुवार को आदेश जारी करेगी।
इससे पहले 18 जुलाई को पीठ ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के फील्ड एक्शन प्रोजेक्ट ' को आश्रय गृह की पीड़ित बच्चियों से बातचीत करने की अनुमति दे दी थी ताकि उनका पुनर्वास किया जा सके।
सुरेश राम
वार्ता

More News
आखिर रामलला कब तक टेंट में बैठे रहेंगे : शाहनवाज़

आखिर रामलला कब तक टेंट में बैठे रहेंगे : शाहनवाज़

18 Sep 2019 | 7:49 PM

नयी दिल्ली ,18 सितंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश द्वारा राम मंदिर मामले की सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी करने के ऐलान का स्वागत करते हुए बुधवार को कहा कि पूरे देश को इंतज़ार है कि अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि पर टेंट वाले मंदिर की जगह भव्य राममंदिर का निर्माण हो।

see more..
एलआईसी का पैसा डूबो रही है सरकार : कांग्रेस

एलआईसी का पैसा डूबो रही है सरकार : कांग्रेस

18 Sep 2019 | 7:40 PM

नयी दिल्ली, 18 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस ने कहा है कि सरकारी कुप्रबंधन के कारण सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम बर्बाद हो रहे हैं और उनकी स्थिति में सुधार लाने के लिए भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) जैसे संस्थानों का पैसा निवेश कर लोगों की मेहनत की कमाई को डुबाया जा रहा है।

see more..
image