Thursday, May 23 2024 | Time 23:59 Hrs(IST)
image
राज्य » बिहार / झारखण्ड


एनटीपीसी ने वित्तीय वर्ष 23-24 में कोयला उत्पादन और डिस्पैच में शानदार प्रदर्शन किया

रांची, 02 अप्रैल (वार्ता)
एनटीपीसी लिमिटेड, भारत की अग्रणी एकीकृत विद्युत उपयोगिता कम्पनी ने वित्तीय वर्ष 23-24 में 31 मार्च तक 34.39 एमएमटी के रिकॉर्ड कोयला उत्पादन के साथ अपनी पांच परिचालन कैप्टिव कोयला खानों से शानदार प्रदर्शन दर्ज किया है।
भारत सरकार द्वारा निर्धारित 34 एमएमटी के वास्तविक लक्ष्य को पार करते हुए 48.21% की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की है।
कंपनी ने वित्तीय वर्ष 23-24 में 31 मार्च, 2024 तक 34.15 मिलियन मैट्रिक टन का प्रभावशाली कोयला प्रेषण हासिल किया, जिसमें 55.50% की वृद्धि हुई। इसके अलावा, इसने 1640 करोड़ रुपये का कैपेक्स उपयोग हासिल किया जो 1565 करोड़ के लक्ष्य का 104.8% है।
इसके अलावा, एनटीपीसी कोयला खनन ने क्रमशः 1.8 एलएमटी (30.03.2024 को) और 1.29 एलएमटी (28.03.2024 को) का अब तक का सबसे अधिक एक दिन का कोयला उत्पादन और प्रेषण हासिल किया। कोयला उत्पादन केरेनदारी कोयला खनन परियोजना, एनटीपीसी की 5 वीं कैप्टिव माइन से शुरू हो गया है। एनटीपीसी की सभी कोयला खदानों ने अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर लिया है और उनसे अधिक कर लिया है तथा भविष्य में नए मानक स्थापित करने के लिए कमर कस ली है।
दुलंगा कोयला खनन परियोजना ने कोयला मंत्रालय से 5 स्टार रेटिंग हासिल की है, और यह पिछले तीन वर्षों से देश की शीर्ष 3 खानों में से एक है।
एनटीपीसी माइनिंग लिमिटेड (एनएमएल), एनटीपीसी लिमिटेड के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी को कोयला मंत्रालय से सभी 6 कोयला खानों का वेस्टिंग ऑर्डर प्राप्त हुआ है और इसने कोयला मंत्रालय द्वारा आयोजित कोयला ब्लॉक नीलामी में उत्तरी दादू (पूर्व) कोयला ब्लॉक के लिए बोली जीती है।
अब तक, एनटीपीसी ने अपनी पांच प्रचालनात्मक कैप्टिव कोयला खानों अर्थात झारखंड में पकरी बरवाडीह और चट्ट-बरियातू और केरेनदारी कोयला खदानों, ओडिशा में दुलंगा कोयला खान और छत्तीसगढ़ में तलाईपल्ली कोयला खान से लगभग 103+ मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटी) कोयले का उत्पादन किया है।
एनएमएल एनटीपीसी थर्मल उत्पादन का 13% ईंधन भर रहा है, जिससे ऊर्जा आत्मनिर्भरता में योगदान दे रहा है और प्रति वर्ष 100 मिलियन टन की क्षमता तक पहुंचने की कल्पना करता है।एनएमएल राष्ट्र को विश्वसनीय और टिकाऊ बिजली देने के लिए प्रतिबद्ध है। कोयला उत्पादन और प्रेषण में यह उल्लेखनीय वृद्धि एनटीपीसी की प्रचालनात्मक उत्कृष्टता के प्रति समर्पण और भारत की ऊर्जा मांगों को पूरा करने में इसके योगदान का प्रमाण है। कंपनी अपने प्रदर्शन को और बढ़ाने और देश के ऊर्जा लक्ष्यों का समर्थन करने के लिए नवीन तकनीकों और सुरक्षा प्रथाओं को लागू करना जारी रखेगी।
विनय
वार्ता
More News
 हमने हमेशा किये विकास के कार्य, जनता आगे भी दे मौका: नीतीश

हमने हमेशा किये विकास के कार्य, जनता आगे भी दे मौका: नीतीश

23 May 2024 | 10:24 PM

बक्सर, 23 मई (वार्ता) बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के विकास योजनाओंं की चर्चा करते हुए आज कहा कि उनकी सरकार ने विकास को हमेशा सर्वोच्च प्राथमिकता दी है इसलिए विकास की गति को बढ़ाने के लिए लोगों को एक बार फिर से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को वोट देना चाहिए।

see more..
शाह ने दिवंगत सुशील मोदी को दी श्रद्धांजलि

शाह ने दिवंगत सुशील मोदी को दी श्रद्धांजलि

23 May 2024 | 10:21 PM

पटना 23 मई (वार्ता) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रमुख नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को आज शाम श्रद्धांजलि दी।

see more..
बिहार : छठे चरण की आठ लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार समाप्त

बिहार : छठे चरण की आठ लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार समाप्त

23 May 2024 | 10:18 PM

पटना, 23 मई (वार्ता) बिहार में छठे चरण में 25 मई को आठ लोकसभा सीटों वाल्मिकिनगर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सीवान और महाराजगंज में होने वाले मतदान के लिए आज शाम चुनाव प्रचार समाप्त हो गया।

see more..
छठा चरणः बारिश की आशंका के मद्देनजर मतदानकर्मियों को जल्द बूथों तक पहुंचाने का निर्देशः डॉ. नेहा अरोड़ा

छठा चरणः बारिश की आशंका के मद्देनजर मतदानकर्मियों को जल्द बूथों तक पहुंचाने का निर्देशः डॉ. नेहा अरोड़ा

23 May 2024 | 10:15 PM

रांची, 23 मई (वार्ता) झारखंड की अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. नेहा अरोड़ा ने कहा है कि छठे चरण में 25 मई को गिरिडीह, धनबाद, रांची और जमशेदपुर में मतदान की तैयारी पूरी हो चुकी है और आज शाम इन क्षेत्रों में चुनाव प्रचार समाप्त हो गया है।

see more..
गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर हुई कांग्रेस, भाजपा का जीतना भी मुश्किल: मायावती

गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर हुई कांग्रेस, भाजपा का जीतना भी मुश्किल: मायावती

23 May 2024 | 10:13 PM

बक्सर, 23 मई (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो सुश्री मायावती ने गुरुवार को कांग्रेस एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर जमकर प्रहार किया और कहा कि कांग्रेस पार्टी केंद्र तथा कई राज्यों की सत्ता से इसलिए बाहर हुई क्योंकि उसने गलत नीतियां बनाई तथा उसकी कथनी और करनी में काफी अंतर था, ठीक उसी तरह भाजपा की कथनी और करनी में भी अंतर है इसलिए इस बार इस पार्टी के सत्ता में वापस आना उसके लिए काफी मुश्किल होगा।

see more..
image